भारत-पाक सीरीज में अख्तर ने दिया बड़ा बयान

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

बीसीसीआई या पीसीबी को नहीं बल्कि भारत-पाक सीरीज ना होने का अख्तर ने इन्हें ठहराया जिम्मेदार 

बीसीसीआई या पीसीबी को नहीं बल्कि भारत-पाक सीरीज ना होने का अख्तर ने इन्हें ठहराया जिम्मेदार

भारतीय टीम और पाकिस्तान टीम के बीच पिछले काफी सालों से दर्शकों को सीरीज नहीं देखने को मिल रही है. जिससे दोनों देशों के क्रिकेट प्रशंसक काफी निराश भी है.

भारत और पाकिस्तान के बीच 26/11 मुंबई आतंगवादी हमले के बाद से कोई टेस्ट सीरीज नहीं खेली गई है. 2012 में वनडे और टी20 की सीरीज खेली गई थी, लेकिन यह सीरीज भी एक काफी छोटी सीरीज थी.

अख्तर ने रजनीतिक लोगो को बताया जिम्मेदार

बीसीसीआई या पीसीबी को नहीं बल्कि भारत-पाक सीरीज ना होने का अख्तर ने इन्हें ठहराया जिम्मेदार 1

इसी बीच भारत-पाकिस्तान की सीरीज को लेकर पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने एक बड़ा बयान दिया है जिसमे उनका मानना है, कि भारत और पाकिस्तान की सीरीज ना होने में पूरी तरीके से रजनीतिक लोग जिम्मेदार है.

सीरीज ना होने से खिलाड़ी नहीं बन पा रहे रातोंरात स्टार 

बीसीसीआई या पीसीबी को नहीं बल्कि भारत-पाक सीरीज ना होने का अख्तर ने इन्हें ठहराया जिम्मेदार 2

अख्तर ने कहा, “यह बेहद दुखद है, कि सीमा के दोनों तरफ के क्रिकेटरों को भारत-पाकिस्तान प्रतिद्वंदिता का अनुभव करने के मौके नहीं मिल रहे है.

एशेज के साथ यह खेल की सबसे बड़ी श्रंखला है, लेकिन इस श्रंखला के ना होने से क्रिकेटरों को अपने देश के लिए रातों-रात हीरो बनने का मौका नहीं मिल पा रहा है.”

पाकिस्तानी क्रिकेटरों को भारत में काफी प्यार मिलता है, मुझे भी काफी प्यार मिला. मैं चाहता हूं, कि पाकिस्तान के मौजूदा क्रिकेटर उस प्यार का अनुभव करे जो हमें भारत में अपनी प्रतिभा दिखाने पर मिला था.”

अख्तर खुद को भाग्यशाली मानते है, कि उन्हें कई बार भारत-पाकिस्तान प्रतिद्वंदिता का हिस्सा रहे. आपकों बता दे, कि वह 1999 में कोलकता में एशियाई टेस्ट चैंपियनशिप के दौरान द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर को लगातार गेंदों पर आउट करके रातों-रात स्टार बन गये थे.

श्रंखला के लिए दोनों देशों को बातचीत करनी होगी

बीसीसीआई या पीसीबी को नहीं बल्कि भारत-पाक सीरीज ना होने का अख्तर ने इन्हें ठहराया जिम्मेदार 3

रावलपिंडी एक्सप्रेस ने आगे अपने बयान में कहा, “भारत-पाक क्रिकेट होना चाहिए, लेकिन अगर ऐसा नहीं हो रहा है तो लोगो को आगे बढ़ जाना चाहिए और बयान देने से बचना चाहिए.

जब तक राजनयिक स्तर पर बातचीत दोबारा शुरू नहीं होती तब तक मुझे लगता है ऐसी ही स्थिति बनी रहेगी. दिपक्षीय श्रंखला के लिए दोनों देशों को बातचीत करनी होगी. मौजूदा स्थिति मैं किसी को पता नहीं कूटनीति काम करेगी या नहीं.”

पीसीबी और बीसीसीआई की कोई गलती नहीं 

बीसीसीआई या पीसीबी को नहीं बल्कि भारत-पाक सीरीज ना होने का अख्तर ने इन्हें ठहराया जिम्मेदार 4

अख्तर ने आगे बीसीसीआई और पीसीबी की गलती नहीं बताते हुए कहा, “इसमें बीसीसीआई और पीसीबी की गलती नहीं है. दोनों बोर्ड चाहते है, कि श्रंखला हो, दोनों ही बोर्ड श्रंखला के पक्ष है, लेकिन श्रंखला सिर्फ राजनीतिक लोगो के कारण नहीं हो रही है.”

Related posts

Leave a Reply