भारत और पाकिस्तान में द्विपक्षीय क्रिकेट चाहते हैं शोएब अख्तर

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारत-पाक के बीच द्विपक्षीय सीरीज न होने पर भड़के शोएब अख्तर, कहा बंद करो सब कुछ 

भारत-पाक के बीच द्विपक्षीय सीरीज न होने पर भड़के शोएब अख्तर, कहा बंद करो सब कुछ

भारत और पाकिस्तान के बीच पिछले कई साल से द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली जा रही है। दोनों ही टीमों के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज की आड़ में दोनों ही देशों के राजनीतिक रिश्ते आ रहे हैं। इसी कारण से लगातार कोशिश के बाद भी भारत और पाकिस्तान में आपसी सीरीज की बात नहीं बन पा रही है।

भारत-पाकिस्तान में द्विपक्षीय सीरीज हुए हो गया लंबा वक्त

साल 2012 के बाद से अब तक भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली गई है और फैंस को अब इंतजार है कि दोनों ही टीमें आपसी सीरीज में आमने-सामने हों लेकिन फिलहाल तो इसको लेकर बात पूरी तरह से बंद है।

कुलदीप यादव

भारत और पाकिस्तान के बीच राजनीतिक तल्खी को देखते हुए तो संभावना नहीं लग रही है कि फिलहाल दोनों की क्रिकेट टीम के बीच कोई सीरीज खेली जाए लेकिन भारत के पूर्व क्रिकेटर और पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर दोनों टीमों में क्रिकेट बहाली चाहते हैं।

शोएब अख्तर ने क्रिकेट की सीरीज नहीं होने पर उठाए सवाल

वैसे बीसीसीआई और पीसीबी तो आपसी सीरीज के लिए तैयार हैं लेकिन बीसीसीआई ने साफ कर दिया है कि जब तक सरकार से कोई अनुमति नहीं मिलती है पाकिस्तान से द्विपक्षीय सीरीज खेलना मुश्किल है। लेकिन वहीं पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज गेंदबाज शोएब अख्तर फिर से क्रिकेट बहाली के पक्ष में हैं।

शोएब मलिक

शोएब अख्तर ने हाल ही में भारत की कबड्डी की अनऑफिशियली टीम के पाकिस्तान आने के बाद उसे टारगेट करते हुए साफ शब्दों में कहा कि सबकुछ तो हो रहा है फिर क्रिकेट क्यों नहीं।

शोएब अख्तर ने कहा, क्रिकेट नहीं तो फिर व्यापार-कबड्डी क्यों

अख्तर ने दो -टूक कहा कि “हम एक-दूसरे के साथ व्यापार कर सकते हैं, कबड्डी खेल सकते हैं, डेविस कप खेल सकते हैं लेकिन हम क्रिकेट क्यों नहीं खेल सकते हैं? अगर भारत, पाकिस्तान नहीं आना चाहता है और पाकिस्तान, भारत नहीं जाना चाहता है तो द्विपक्षीय सीरीज एशिया के तटस्थ स्थान पर खेली जा सकती है।”

अब्बास

“अगर भारत और पाकिस्तान क्रिकेट नहीं खेल सकते हैं तो उन्हें व्यापार नहीं करना चाहिए, कबड्डी नहीं खेलनी चाहिए या उनके बीच कुछ भी नहीं करना चाहिए। भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट के बारे में जब भी खेल होता है तो ये महत्वपूर्ण होता है। दो टीमों के लिए द्विपक्षीय सीरीज खेलना महत्वपूर्ण होता है। राजस्व बढ़ेगा, फैन फॉलोइंग बढ़ जाती है और नए खिलाड़ी दबाव में आकर उभर सकते हैं।”

Related posts