बांग्लादेश के शोरीफ उल हसन ने खोला सेलिब्रेशन स्टाइल का राज

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

“अपना मुंह बंद रखो और घर जाओ” शोरीफ उल इस्लाम ने बताया अपने अजीबो-गरीब विकेट सेलिब्रेशन का राज 

“अपना मुंह बंद रखो और घर जाओ” शोरीफ उल इस्लाम ने बताया अपने अजीबो-गरीब विकेट सेलिब्रेशन का राज

कुछ गेंदबाज विकेट लेने के बाद आम तरीके से खुशी मनाते हैं तो कुछ गेंदबाजों के विकेट सेलिब्रेट करने का तरीका अलग होता है. जैसे केसरिक विलियम्स का नोटबुक सेलिब्रेशन. ऐसा ही एक अजीबो-गरीब सेलिब्रेशन अंडर-19 विश्व कप में बांग्लादेश क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज शोरीफ उल इस्लाम द्वारा देखने को मिला. अपने इस सेलिब्रेशन से वह भारतीय टीम पर दबाव बनाने में कामयाब रहे. अब गेंदबाज ने अपने सेलिब्रेशन के पीछे का राज खोला है.

शोरीफ उल इस्लाम का अजीबो-गरीब सेलिब्रेशन

शोरीफ उल इस्लाम

अंडर-19 विश्व कप का फाइनल मुकाबला 9 फरवरी को भारत-बांग्लादेश के बीच खेला गया. इस मैच में शुरुआत से ही बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने भारत पर दबाव बनाए रखा. इस मैच में बांग्लादेश के तेज गेंदबाज शोरीफ उल इस्लाम का विकेट सेलिब्रेटिंग स्टाइल काफी सुर्खियों में रहा.

असल में ये गेंदबाज जब भी विकेट या कैच लेता तो अपनी अपनी जेब को पकड़कर चेन बंद करने और फिर मुंह पर अंगुली रखने का इशारा करता. इस सेलिब्रेशन को देखकर भारतीय खेमा गर्मा रहा था तो वहीं बांग्लादेशी खिलाड़ी आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ रहे थे. इस मैच में शोरीफ ने यशस्वी जायसवाल और तिलक वर्मा का विकेट्स लिया था.

‘वह दिन-समय हमारा था’

कई गेंदबाजों का विकेट सेलिब्रेट करने का अपना अलग अंदाज होता है. ऐसा ही कुछ अंडर-19 विश्व कप में देखने को मिला जहां शोरीफ उल इस्लाम ने मुंह पर अंगुली रखकर चेन बंद करने का इशारा किया. अब तेज गेंदबाज ने अपने उस सेलिब्रेशन के बारे में बात करते हुए कहा,

टीम मैनेजमेंट ने हमें भारत के खिलाफ आक्रामकता के साथ खेलने के लिए कहा था और हम इसे भारत के खिलाफ मैदान में अपनाना चाहते थे. मैं हमेशा अपनी ओर से ओरिजनली अटैकिंग फॉर्म में खेलना चाहता हूं.

मेरा विकेट टेकिंग सेलिब्रेशन अलग था. असल में वो दिन और समय हमारा था. तो मैं यह कह रहा था कि चुप रहे, इसलिए मैं बार-बार अपनी जेब को बंद करके मुंह पर अंगुली रख रहा था.

बांग्लादेश ने जीता पहला आईसीसी खिताब

बांग्लादेश

अंडर-19 विश्व कप का फाइनल मुकाबला भारतीय क्रिकेट टीम और बांग्लादेश क्रिकेट टीम के बीच खेला गया. इस मैच में टीम इंडिया ने शानदार प्रदर्शन किया, मगर बांग्लादेश की टीम के युवा खिलाड़ियों ने भारतीय खिलाड़ियों पर पहली ही गेंद से दबाव बनाया. असल में बांग्लादेश ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का फैसला किया.

परिणामस्वरूप पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत की टीम ने सलामी बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल की 88 रनों की अहम पारी की मदद से 177 रन तक पहुंच सकी. 178 रनों के बेहद आसान लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश की टीम बल्लेबाजी कर ही रही थी कि बारिश के चलते मैच में डीएलएस मैथड इस्तेमाल हुआ और बांग्लादेश की टीम ने 3 विकेट्स से मैच अपने नाम कर लिया.

बांग्लादेश की टीम ने भारत को अंडर-19 के फाइनल मुकाबले में जीत दर्ज कर न केवल पहला अंडर-19 विश्व कप जीता है, बल्कि ये इस टीम का पहला आईसीसी खिताब है.

Related posts