IND vs NZ: मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड जीतने के बाद श्रेयस अय्यर ने दिया ट्रोलर्स को मुंह तोड़ जवाब, बताया किस बल्लेबाज़ के साथ खेलने में आया मज़ा 1

भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया कानपुर टेस्ट मैच ड्रा में खत्म हुआ. भारतीय टीम ने आखिरी गेंद तक मुकाबले को जीतने की पूरी कोशिश की, लेकिन एक बार फिर कीवी टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए मैच को ड्रॉ करा लिया. इस मैच में डेब्यू कर रहे भारतीय बल्लेबाज़ श्रेयस अय्यर को पहली पारी में शतकीय पारी और दूसरी पारी में अर्धशतक लगाने के लिए मैन ऑफ द मैच के अवॉर्ड से सम्मानित किया गया. अवार्ड मिलने के बाद अय्यर ने बताया है कि उन्हें मैच के दौरान किस बल्लेबाज़ के साथ खेलने में सबसे ज्यादा मज़ा आया.

जीत से ज्यादा ख़ुशी मिलती

IND vs NZ: मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड जीतने के बाद श्रेयस अय्यर ने दिया ट्रोलर्स को मुंह तोड़ जवाब, बताया किस बल्लेबाज़ के साथ खेलने में आया मज़ा 2

न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना डेब्यू मुकाबला खेल रहे भारतीय टीम के टॉप आर्डर बल्लेबाज़ श्रेयस अय्यर ने पहली पारी में 105 रनों की शतकीय पारी खेली और फिर दूसरी पारी में 65 रनों का अहम योगदान दिया. मैच में अपने शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड से भी नवाज़ा गया. मैच के बाद उन्होंने कहा कि,

“यह एक बहुत ही खास अहसास है, लेकिन अगर हम गेम जीत जाते तो ये केक पर आइसिंग की तरह होती. आप देख सकते हैं कि पिच अभी भी बरकरार है. हमने वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की. मानसिकता सेशंस खेलने की और अधिक से अधिक गेंदों को खेलने की थी. लोग कहते हैं कि मैं एक तेजतर्रार खिलाड़ी हूं, मेरे तरीके पर अंकुश मत लगाओ, लेकिन मैं बस अधिक से अधिक गेंदें खेलना चाहता था.”

इनके साथ बल्लेबाज़ी में आया मज़ा

IND vs NZ: मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड जीतने के बाद श्रेयस अय्यर ने दिया ट्रोलर्स को मुंह तोड़ जवाब, बताया किस बल्लेबाज़ के साथ खेलने में आया मज़ा 3

श्रेयस अय्यर ने दोनों ही पारियों में भारतीय टीम को मुश्किल से निकाला और टीम के लिए महत्वपूर्ण रनों का योगदान दिया. दूसरी पारी में अय्यर ने रविचंद्रन अश्विन और रिद्दिमान साहा के साथ मिलकर अहम साझेदारियां निभाई. उन्होंने कहा कि,

“अश्विन और साहा के साथ बल्लेबाजी करने में मजा आया. टीम के पूरे प्रदर्शन से खुश हैं. दबाव हमेशा बना रहता है. उन्होंने शानदार शुरुआत की. एक बार जब हमने वापसी की और जल्दी विकेट ले लिए, तो हमने स्थिति का सबसे अच्छा इस्तेमाल किया.”