मयंक अग्रवाल

भारतीय क्रिकेट के उभरते सितारे शुभमन गिल आए दिन अपनी शानदार बल्लेबाजी के लिए खबरों में रहते हैं. गिल ने फरवरी 2018 में अंडर-19 वर्ल्ड कप में भारत के लिए सबसे अधिक रन बनाकर सुर्खियां बटोरी थी. तब से गिल ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और वह लगातार घरेलू क्रिकेट में रन बना रहे हैं. मगर शुभमन गिल का टीम इंडिया में डेब्यू उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा.

शुभमन गिल ने बताया हुई निराशा

शुभमन  गिल

घरेलू स्तर पर लगातार बेहतरीन प्रदर्शन कर शुभमन गिल ने भारत की सीनियर क्रिकेट टीम में जगह बनाई. जनवरी में न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे में डेब्यू किया. हालांकि इसमें वह 2 मैचों में 16 रन ही बनाए. इस पर बात करते हुए गिल ने द क्विंट से कहा, कि

“मुझे लगता है कि मेरा करियर बिल्कुल सही रफ्तार से आगे बढ़ रहा है। सभी टूर्नामेंटों में मैं अपने खेल को आगे बढ़ाने और कड़ी मेहनत करने और उन रनों को हासिल करने की कोशिश कर रहा हूं।”

“मैंने यह पहले भी कहा है. मैं हर जगह जाते ही बेहतरीन प्रदर्शन करने की उम्मीद नहीं कर सकता. जब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मुझे रन नहीं मिले तो मैं वास्तव में निराश था. मैं स्पष्ट रूप से उम्मीद कर रहा था कि मुझे रन मिलेंगे और यह मेरे करियर के लिए बहुत अच्छी शुरुआत होगी. लेकिन अब मैं अगले मौके की तलाश में हूं.”

रोहित शर्मा के टेस्ट में बतौर ओपनर सफल होने पर शुभमन गिल ने कही ये बात 1

टेस्ट टीम में शामिल होकर सीखा काफी कुछ

टेस्ट क्रिकेट में केएल राहुल को साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट से ड्रॉप किया गया. उनकी जगह रोहित शर्मा को सलामी बल्लेबाजी की जिम्मेदारी सौंपी गई. तभी युवा प्रतिभाशाली खिलाड़ी शुभमन गिल को बतौर ओपनर-मिडिल ऑर्डर रिजर्व बल्लेबाज चुना गया. हालांकि गिल को खेलने का मौका नहीं मिला. इसपर बात करते हुए गिल ने कहा,

“यह मेरे लिए बहुत अच्छा एक्सपीरियंस था. दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम से मैंने बहुत कुछ सीखा. भारतीय टीम अभी जिस तरह से खेल रही है… पहले वेस्टइंडी और फिर साउथ अफ्रीका के खिलाफ अभी तक हम एक भी मैच नहीं हारे हैं। इसलिए, यह मेरे लिए एक बहुत कुछ सीखने को मिला.”

शानदार है रोहित की बल्लेबाजी टैक्निक

रोहित शर्मा
रोहित शर्मा

इस सीरीज में टेस्ट सलामी बल्लेबाज के रूप में रोहित की बल्लेबाजी के बारे में शुभमन गिल ने कहा,

“उनकी (रोहित की) बल्लेबाजी तकनीक वास्तव में नहीं बदलती है। यह सब उनके मानसिक स्टेबिलिटी का रिजल्ट है और वह सलामी बल्लेबाज के रूप में भारतीय टीम के लिए रन बनाने के लिए कैसे तैयार थे। ”