शुभमन गिल के अंपायर विवाद मामले पर डीडीसीए सचिन विनोद तिहारा ने दिया बड़ा बयान 1

शुक्रवार को मोहाली के आईएस बिंद्रा स्टेडियम में दिल्ली और पंजाब के बीच रणजी ट्रॉफी का मैच खेला गया. मैच में पंजाब के ओपनर शुभमन गिल ने आउट होने पर मैदान छोड़ने से साफ मना कर दिया. शुभमन ने डेब्यू मैच खेल रहे अंपायर मोहम्मद रफी से बहस की और कथित तौर पर गाली भी दी. दबाव में आकर अंपायर ने अपनी फैसला बदल लिया. अब खबर आ रही है कि डीडीसीए की तरफ से कहा गया है कि गिल के खिलाफ कोई शिकायत दर्ज नहीं की जाएगी.

शुभमन गिल के खिलाफ नहीं दर्ज की जाएगी शिकायत

शुभमन गिल

रणजी ट्रॉफी मैच के दौरान गलत आउट देने पर अंपायर के साथ शुभमन गिल द्वारा की गई बदतमीजी की घटना सामने आई थी. अब डीडीसीए के सचिन विनोद तिहारा ने इस मामले पर आईएएनएस से बात करते हुए कहा,

“नहीं, टीम मैच रेफरी से किसी तरह की शिकायत नहीं करेगी क्योंकि हमारा मानना है कि मामला वहीं खत्म हो गया था. खिलाड़ी सिर्फ इस बात पर सफाई चाहते थे कि फैसला क्यों बदला गया.

शुभमन गिल के अंपायर विवाद मामले पर डीडीसीए सचिन विनोद तिहारा ने दिया बड़ा बयान 2

मामले को खींचने की कोई तुक नहीं हैं और ईमानदारी से कहूं तो मैदान छोड़कर भी कोई नहीं गया था. यह सिर्फ जो हुआ उस पर स्थिति स्पष्ट करने की बात थी.”

आपको बता दें, गिल के इस रवैये के बाद वापस लिए गए फैसले पर दिल्ली के कप्तान नीतीश राणा का विरोध किया. यह फैसला दिल्ली की टीम को रास नहीं आया और रिपोर्ट के मुताबिक उसने मैदान से बाहर जाने का फैसला किया. इस दौरान मैच रुका रहा. मैच रेफरी पी. रंगानाथन को बीच में कूदना पड़ा और कुछ देर बाद मैच फिर शुरू हुआ.

23 रन बनाकर पवेलियन लौटे शुभमन गिल

शुभमन गिल

टीम इंडिया के उभरते सितारे शुभमन गिल ने रणजी ट्रॉफी में दिल्ली के खिलाफ खेले जा रहे मैच के दौरान अंपायर द्वारा आउट दिए जाने पर कथित तौर पर अंपायर को गाली दी. जिसके बाद अंपायर ने अपना फैसला वापस ले लिया. लेकिन इस मुद्दे को लेकर अब गिल की काफी आलोचना हो रही है.

अंपायर द्वारा आउट का फैसला वापस लेने के बाद भी गिल कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए और मात्र 23 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. सिमरजीत सिंह की गेंद पर उनका कैच विकेटकीपर अनुज रावत ने लिया.