सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी: मुंबई और पंजाब के मैच में लगी रिकॉर्ड की झड़ी 1

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2019-20 के अंतिम सुपर लीग मुकाबले में मुंबई के सामने पंजाब की टीम थी। सेमीफाइनल में जगह बनाने के लिए मुंबई के बड़ी जीत हासिल करनी थी और वह सिर्फ 22 रनों से जीते। इसी वजह से पंजाब के साथ वह भी टूर्नामेंट से बाहर हो गए। हालांकि, इस मुकाबले में बल्लेबाजों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और रिकॉर्ड की झड़ी लई गई।

आईए आपको उनके बारे में बताते हैं

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी: मुंबई और पंजाब के मैच में लगी रिकॉर्ड की झड़ी 2

1. मुबंई के 3 बल्लेबजों ने मैच में अर्धशतक बनाया। सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में यह 5वां मौका है, जब एक टीम के तीन बल्लेबाजों ने अर्धशतक बनाया है। इससे पहले आंध्रा ने 2 जबकि मध्य प्रदेश और सौराष्ट्र की टीम ने एक-एक बार ऐसा किया है।

2. मुकाबले में कुल 25 छक्के लगे। मुंबई के बल्लेबाजों ने 13 जबकि पंजाब के बल्लेबाजों ने 12 छक्के लगाए। सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के एक मैच में यह सबसे ज्यादा छक्कों का रिकॉर्ड है। इससे पहले दिल्ली और जम्मू कश्मीर के बीच 2018-19 और उसी सीजन कर्नाटक और सेना के बीच हुए मैच में 24-24 छक्के लगे थे।

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी: मुंबई और पंजाब के मैच में लगी रिकॉर्ड की झड़ी 3

3. मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 3 विकेट पर 243 रन बनाए। यह टूर्नामेंट में मुंबई का दूसरा सबसे बड़ा स्कोर हैं। टीम का सबसे बड़ा स्कोर 258 रन है और यह टूर्नामेंट के इतिहास के भी सबसे बड़ा स्कोर भी है। उन्होंने पिछले सीजन में सिक्किम के खिलाफ यह कारनामा किया था।

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी: मुंबई और पंजाब के मैच में लगी रिकॉर्ड की झड़ी 4

4. दोनों टीमों ने मिलकर मुकाबले में 464 रन बनाए। यह दोनों टीमों को मिलाकर टूर्नामेंट के इतिहास में सबसे ज्यादा रन है। इससे पहले 2017-18 सीजन में दिल्ली और सेना के बीच हुए मैच में 428 रन बने थे। अरुण जेटली स्टेडियम में खेले गए मैच में दिल्ली ने 225 और सेना ने 203 रन बनाए थे।

5. पंजाब ने लक्ष्य का पीछा करते हुए 6 विकेट पर 221 का स्कोर बनाया, यह सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में लक्ष्य का पीछा करते हुए किसी भी टीम का सबसे बड़ा स्कोर है। इससे पहले यह रिकॉर्ड दिल्ली के नाम दर्ज था। उन्होंने 2015-16 सीजन में रेलवे के खिलाफ 6 विकेट पर 214 रन बनाए थे।