..... तो इसलिए सन्यास नहीं ले रहे है ये 4 दिग्गज क्रिकेटर | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

….. तो इसलिए सन्यास नहीं ले रहे है ये 4 दिग्गज क्रिकेटर 

भारतीय क्रिकेट में कोई भी खिलाडी, अपने उंचाई पर होने पर रिटायर नहीं होता है. और हम जितने नाम ले उतने कम ही है. अब चार दिग्गज खिलाडी भी इसी असमंजस के हालात से गुजर रहे है.

वीरेंद्र सहवाग, युवराज सिंह, जहीर खान और हरभजन सिंह वे खिलाडी है. इन चारों ने अपने करियर की शुरूआत लगभग एक ही समय में की. और इन चारों ने भारतीय क्रिकेट को एक नयी ऊंचाई पर लाकर खडा किया. इन चारों के योगदान के भारतीय क्रिकेट में योगदान काफी बडा रहा है.

अब युवा खिलाडी अच्छा प्रदर्शन कर रहे है, तो वहीं ये चारों खिलाडियों को अभी भी टीम में वापसी की उम्मीद है.

नाम: विरेंद्र सहवाग

उम्र: 36 साल

आखिरी टेस्ट: मार्च 2013

आखिरी वनडे: जनवरी 2013

सहवाग जैसे ओपनर का आगें बढना अब  काफी मुश्किल है. सहवाग ने टेस्ट क्रिकेट की तस्वीर ही बदल डाली. लेकिन अब उनकी टीम में वापसी काफी मुश्किल लग रहीं है. शिखर धवन, मुरली विजय, और लोकेश राहुल जैसे खिलाडियों के अच्छा करने के बाद, सहवाग के लिए वापसी के सारे दरवाजे बंद हो गये है.

नाम: जहीर खान

उम्र: 36 साल

आखिरी टेस्ट: फरवरी 2014

आखिरी वनडे: अगस्त 2012

जहीर, कपिल देव के बाद भारत के सबसे बडे तेज गेंदबाज रहे है. उनका फॉर्म कभी भी उनके टीम से बाहर रहने की वजह नहीं रहा. लेकिन उनकी फिटनेस हमेशा खराब रहीं है. इशांत, उमेश, भुवनेश्वर, और कई अच्छे युवा गेंदबाजों के आनें के बाद, जहीर के लिए वापसी करना मुश्किल होगा. फिर भी अगर जहीर फिट हुए, तो उनको आखिरी एक मौका मिल सकता है.

 

नाम: हरभजन सिंह

उम्र: 35

आखिरी टेस्ट: अगस्त 2015

आखिरी वनडे: जुलाई 2015

तीन साल बाद, बांग्लादेश दौरे पर हरभजन की भारतीय टीम में वापसी हुई. और फिर जिंबाब्वे दौरे पर उनको वनडे टीम में चुना गया. फिर श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने पहला टेस्ट खेला, लेकिन हरभजन पुरी तरह फ्लॉप रहे. उसके बाद उनको निकाला गया, और अब फिर उनकी वापसी होना मुश्किल होगा.

नाम: युवराज सिंह

उम्र: 33

आखिरी टेस्ट: दिसंबर 2012

आखिरी वनडे: दिसंबर 2013

युवराज का नाम भारतीय क्रिकेट में सबसे बडे मैच विनरों में आता है. युवराज पिछले दों सालों से भारत के लिए क्रिकेट नहीं खेले है, और अब भारतीय टीम में काफी अच्छे युवा खिलाडी भी आए है. युवराज को मौका मिल सकता है, लेकिन उन्हें प्रथम श्रेणी में अच्छा प्रदर्शन करना होगा. और कोहली से भी उनके अच्छे संबंध है, जिसका उन्हें लाभ मिल सकता है.

Related posts

Leave a Reply