रविन्द्र जडेजा के बारे में कुछ रोमांचक तथ्य

vinay mani tripathi / 26 February 2015

रविन्द्र जडेजा भारतीय टीम के ऐसे खिलाडी है, जिन्होंने कई मौको पर भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई है, विश्वकप 2015 में वो भारत के लिये ट्रम्प कार्ड साबित हो सकते है, अभी कुछ दिन पहले रविन्द्र जडेजा को लेकर कई जोक्स इन्टरनेट पर वायरल हुये थे, रविन्द्र जडेजा का भारतीय टीम में अपना एक महत्वपूर्ण स्थान है.

यहाँ हम सर रविन्द्र जडेजा के बारे में कुछ रोमांचक तथ्य प्रदर्शित कर रहे है:

 

रविन्द्र जडेजा के पिता अनिरुद्ध सिंह एक सिक्योरिटी गार्ड थे, जबकि उनकी माता नर्स थी.

 

रविन्द्र जडेजा के पिता उन्हें आर्मी स्कूल में पढ़ा कर उन्हें आर्मी मैन बनाना चाहते थे, लेकिन उनकी माँ उनके हुनर को देखते हुये उन्हें क्रिकेटर बनाना चाहती थी.

 

दुर्भाग्यपूर्ण, रविन्द्र जडेजा की माँ का बचपन में ही निधन हो गया, और इसी भावुकता के साथ वो क्रिकेट पर और अधिक ध्यान देने लगे.

 

रविन्द्र जडेजा उन कुछ भारतीय खिलाडियों में से है, जिन्होंने 2 बार U-19 विश्वकप खेला होगा, पहली बार वो 2006 में U-19 विश्वकप का हिस्सा रहे जिसमे भारत उपविजेता रहा था, जबकि दूसरी बार 2008 में इस कप का विजेता बना.

 

वैसे तो रवींद्र जडेजा जामनगर से ताल्लुक रखते है, लेकिनराजकोट से भी उनका विशेष लगाव है।

 

रविन्द्र जडेजा के 3 निक नेम है:

1.राकस्टार

2. जड्डू

3.सर

 

 

रविन्द्र जडेजा तेज और बड़ी गाडियों के शौक़ीन है, उनके पास खुद की एक मारुती हयाबुसा और आडी है.

 

रवींद्र जडेजा के पास गंगा और केसर नाम के दो घोडे भी है, जो जामनगर के पास उनके फार्महाउस में रहते हैं।

 

रवींद्र जडेजा का  राजकोट में एक रेस्तरां भी है, जो जड्डू फिल्ड फ़ूड के नाम से प्रसिद्ध है।

 

रविन्द्र जडेजा का लकी नम्बर है, 12 इसलिये वो IPL में अपनी टीम चेन्नई सुपर किंग्स से खेलते हुये 12 नम्बर की जर्सी पहनते है, लेकिन भारतीय टीम में वो 8 नम्बर की जर्सी पहनते है, क्यूंकि 12 नम्बर की जर्सी पहले से ही युवराज सिंह के पास है.

 

रविन्द्र जडेजा उन कुछ खिलाडियों में से है, जिन्होंने अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में तिहरा शतक लगाया है.

 

 

Related Topics