एशिया कप

एशिया कप की मेजबानी एक गुत्थी बनी हुई है. लंबे वक्त से चर्चा के बाद अब बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली की तरफ से बयान जारी किया गया था कि एशिया कप दुबई में खेला जाएगा. लेकिन अब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष अहसान मणि ने गांगुली के इस बयान का खंडन करते हुए कहा है कि अभी एशिया कप के वेन्यू को अभी तय नहीं किया गया है.

सौरव गांगुली ने जारी किया था बयान

एशिया कप

ऑस्ट्रेलिया की मेजबानी में खेले जाने वाले टी20 विश्व कप से पहले एशिया कप खेला जाएगा. इस इवेंट के कार्यक्रम स्थल को लेकर पिछले लंबे वक्त से चर्चा चल रही है. मगर अब एशियन क्रिकेट काउंसिल की 3 मार्च को होने वाली मीटिंग के लिए के दुबई रवाना होने से पहले सौरव गांगुली ने ईडन गार्डंस पर संवाददाताओं से बात करते हुए कहा,

एशिया कप दुबई में होगा और भारत और पाकिस्तान दोनों इसमें हिस्सा लेंगे.

 

साथ ही बीसीसीआई ने यह भी साफ कर दिया कि उसे इस बात से कोई आपत्ति नहीं है कि टूर्नामेंट की मेजबानी पाकिस्तान करेगा.

एहसान मणि ने किया सौरव गांगुली के बयान का खंडन

एशिया कप

सौरव गांगुली ने कहा एशिया कप में भारत-पाकिस्तान का होगा दुबई में मुकाबला, अब पीसीबी ने इसे बताया झूठ 1

अक्टूबर में खेले जाने वाले आईसीसी टी20 विश्व कप से पहले एशिया कप खेला जाएगा. लंबे वक्त से इसके स्थल पर चर्चा की जा रही है लेकिन अब तक इस चर्चा को आखिरी रूप नहीं दिया गया है. मगर सौरव गांगुली ने बयान जारी कर दिया था कि एशिया कप दुबई में खेला जाएगा. मगर अब एहसान मनी ने गांगुली के दावे को खारिज करते हुए कहा,

इस टूर्नामेंट का आयोजन एसोसिएट देशों के सहायतार्थ होता है. हम उस बात को ध्यान में रखकर फैसला लेंगे. हमारे पास कई विकल्प है एशियाई देशों की बेहतरी के मद्देनजर कोई भी फैसला लिया जाएगा.

भारत-पाकिस्तान के बीच नहीं खेली जाती द्विपक्षीय सीरीज

एशिया कप

भारतीय क्रिकेट टीम और पाकिस्तान के बीच होने वाले मैचों को लेकर क्रिकेट फैंस का उत्साह अलग ही स्तर का होता है. दोनों टीमें दिपक्षीय सीरीज में आमने-सामने नहीं आती लेकिन मैगा इवेंट्स में फैंस इस प्रतिद्वंदिता का लुफ्त उठाते हैं. दोनों टीमों के बीच आखिरी बार टीम इंडिया ने 2008 में आखिरी बार पाकिस्तान का दौरा किया था. इसके बाद पाकिस्तान की टीम 2012 में भारत दौरे पर आई थी.

वह आखिरी बार था जब भारत-पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय सीरीज खेली गई. इसके बाद से आज तक दोनों देशों के बीच खराब रिश्तों के चलते द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली जाती है.