रविशास्त्री और सौरव गांगुली विवाद में बीच में आये मुथैया मुरलीधरन, शास्त्री कों लगाया फटकार | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

रविशास्त्री और सौरव गांगुली विवाद में बीच में आये मुथैया मुरलीधरन, शास्त्री कों लगाया फटकार 

रविशास्त्री और सौरव गांगुली विवाद में बीच में आये मुथैया मुरलीधरन, शास्त्री कों लगाया फटकार

एक समय श्रीलंका टीम के स्पिन गेंदबाजी की जान माने जाने वाले मुथैया मुरलीधरन ने भारत के पूर्व कप्तान रवि शास्त्री के ऊपर कटाक्ष करते हुए उनके टीम चुनने के निर्णय पर सवालिया निशान लगा दिया है और कहा है, कि भारत की बेस्ट इलेवन में शास्त्री को गांगुली का नाम जरुर रखना चाहिए था.

रवि शास्त्री भारत के पुराने समय के दिग्गज खिलाड़ी रहे हैं और सभी खिलाड़ियों की तरह उन्होंने ने भी अपनी बेस्ट इलेवन की सूची जारी की थी. उसमे भारत के पूर्व कप्तान और बंगाल टाइगर के नाम से मशहूर सौरव गांगुली का नाम नहीं रखा था. जिसके बाद श्रीलंका के दिग्गज पूर्व गेंदबाज ने यह बात कही.

यह भी पढ़े : भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने इंग्लैंड के कप्तान एलेस्टर कुक की रणनीति पर दिया बड़ा बयान

मुरलीधरन बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन के विज़न 2020 के प्रोग्राम का हिस्सा बनने के लिए आये थे और उन्होंने गांगुली के बारे में कहा,

“भारतीय क्रिकेट के लिये सौरव गांगुली ने शानदार प्रदर्शन किया है और जो उन्होंने भारतीय क्रिकेट को दिया है वह काबिले तारीफ है. मेरे मुताबिक वह महान कप्तान में से एक हैं और हमेशा रहेंगे. रवि शास्त्री ने उनको टीम अपनी टीम में नहीं चुना वह शायद भूल गए होंगे, लेकिन मैं उन्हें नहीं भूल सकता मेरे लिए वह हमेशा ही नंबर एक रहेंगे.”

दादा के बारे में स्पिन गेंदबाज ने आगे कहा,

“सौरव को भारतीय टीम की कमान तब मिली थी जब वह फिक्सिंग जैसे स्कैंडल से जूझ रही थी और उसके बाद भारतीय टीम को उन्होंने नए शिखर तक पहुँचाया है जो आसान कार्य नहीं था. गांगुली की कप्तानी में भारत ने विदेश में जाकर मैच जीते और 2003 विश्व कप के फाइनल में भी वह टीम को ले गए और काफी मेहनत की.”

यह भी पढ़े : धोनी का कप्तानी छोड़ने का फैसला एक दम सही : सौरव गांगुली

सौरव गांगुली ने भारतीय टीम को अपने अकेले के दम पर जो दिया है उसे कभी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है.

Related posts