केएल राहुल को लेकर सौरव गांगुली ने की ये बड़ी भविष्यवाणी 1

इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में भारतीय क्रिकेट टीम के प्रमुख खिलाड़ियों विराट कोहली, रोहित शर्मा जैसे दिग्गजों पर नजरें थी। इन खिलाड़ियों ने हर सीजन कमाल का प्रदर्शन किया है, लेकि इन सब पर भारतीय टीम के स्टार बल्लेबाज केएल राहुल ने बाजी मारी और एक और सीजन को अपना बनाया। केएल राहुल ने इस सीजन भी शानदार प्रदर्शन किया।

केएल राहुल के कायल हुए दादा

केएल राहुल आईपीएल में जब से किंग्स इलेवन पंजाब की टीम से खेल रहे हैं, उन्होंने बेजोड़ प्रदर्शन किया है। राहुल ने 2018, 2019 के सीजन के बाद इस सीजन भी शानदार प्रदर्शन किया और सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं।

केएल राहुल को लेकर सौरव गांगुली ने की ये बड़ी भविष्यवाणी 2

कर्नाटक के इस प्रतिभाशाली बल्लेबाज से बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली काफी ज्यादा प्रभावित हुए हैं। केएल राहुल ने इस सीजन में परिपक्वता दिखाने में कोई कमी नहीं रही और इसी कारण गांगुली उन्हें तीनों ही फॉर्मेट के लिए परफेक्ट बल्लेबाज मानने लगे हैं।

केएल राहुल हैं हर फॉर्मेट में योगदान देने वाले खिलाड़ी

सौरव गांगुली ने कहा कि “मैं एक क्रिकेटर के तौर पर कह रहा हूं कि मेरे पास टेस्ट मैचों के लिए लोकेश राहुल के लिए काफी समय है। टीम में हालांकि कौन रहेगा और कौन नहीं ,ये फैसला करना चयनकर्ताओं का काम है।”

केएल राहुल को लेकर सौरव गांगुली ने की ये बड़ी भविष्यवाणी 3

“किसी अनुभवी खिलाड़ी की तरह मेरा मानना है कि वो (केएल राहुल) ऐसे खिलाड़ी है जो हर फॉर्मेट में योगदान दे सकते हैं। मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। उम्मीद है कि वो भारत को जीत दिलाने में अपना योगदान देगें, जो महत्वपूर्ण है।”

विराट कोहली को भारत से बाहर हासिल करनी होगी जीत

भारतीय क्रिकेट टीम विराट कोहली की कप्तानी में शानदार प्रदर्शन करने में कामयाब रही है। भारत ने तीनों ही फॉर्मेट में विराट कोहली के नेतृत्व में कमाल किया है। लेकिन इस दौरान दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में कामयाबी ज्यादा नहीं मिली है। वैसे ऑस्ट्रेलिया में भारत ने 2018 में टेस्ट सीरीज जरूर जीती थी।

ऑस्ट्रेलिया

लेकिन सौरव गांगुली का साफ कहना है कि भारत को विराट कोहली की कप्तानी में इन चार देशों में जीतना होगा। गांगुली ने कहा कि  “उन्हें (विराट कोहली) ये समझना होगा कि भारत से बाहर अच्छा प्रदर्शन करना होगा। टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज (2018-19) अपने नाम की थी लेकिन उन्हें दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड (दोनों 2018) और न्यूजीलैंड (2020) में और बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए था।”