//

सौरव गांगुली ने सचिन या विराट नहीं बल्कि इस खिलाड़ी को माना ऑल टाइम वनडे ग्रेट

सौरव गांगुली

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली की गिनती  दुनिया के सबसे बेहतरीन कप्तानों में की जाती है। उन्होंने भले ही ज्यादा मैच नहीं जीते हो लेकिन उन्होंने अपनी कप्तानी में भारतीय टीम में कई युवा खिलाड़ियों को मौका दिया। ये खिलाड़ी आगे जाकर दुनिया के सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में गिने गये हैं।

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

ऑल टाइम वनडे टीम में कौन?

सौरव गांगुली ने सचिन या विराट नहीं बल्कि इस खिलाड़ी को माना ऑल टाइम वनडे ग्रेट 1

सौरव गांगुली ने हाल में ही एक इंटरव्यू में उनसे पूछा गया कि अपनी ऑल टाइम वनडे इलेवन में किसी एक खिलाड़ी को चुनना पड़े तो वह किसे चुनेंगे।

इसके जवाब में उन्होंने कहा, कि

“कपिल देव होंगे क्योंकि वह ऑल राउंडर है। वह चयन मेरे लिए मुश्किल है, लेकिन ऑल राउंडर होने की वजह से मैं कपिल देव को चुनूँगा। कपिल गेंदबाजी कर सकते हैं, बल्लेबाजी कर सकते हैं और फील्डिंग भी कर सकते हैं और इसी वजह से वह सबसे आगे हैं।”

दूसरे और तीसरे पर ये खिलाड़ी

सौरव गांगुली ने सचिन या विराट नहीं बल्कि इस खिलाड़ी को माना ऑल टाइम वनडे ग्रेट 2

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने अपनी दूसरी पसंद दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को माना है। सचिन और गांगुली के काफी समय साथ क्रिकेट खेला है और दोनों की जोड़ी वनडे क्रिकेट की सबसे सफल जोड़ी भी है।

उन्होंने सचिन तेंदुलकर के बाद वर्तमान भारतीय कप्तान विराट कोहली को अपनी तीसरी पसंद माना है। विराट कोहली इस समय दुनिया के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज माने जाते हैं और उनका वनडे में बल्लेबाजी औसत करीब 60 का है।

सबसे बड़े खिलाड़ियों में गिनती

सौरव गांगुली ने सचिन या विराट नहीं बल्कि इस खिलाड़ी को माना ऑल टाइम वनडे ग्रेट 3

पूर्व कप्तान कपिल देव की गिनती भारतीय टीम के सबसे सफल खिलाड़ियों में की जाती है। उनकी कप्तानी में भारत ने वेस्टइंडीज को हराकर विश्व कप भी अपने नाम किया था। वनडे में उनके नाम 3783 रन होने के साथ ही 253 विकेट भी हैं।

उन्होंने 1994 में क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी थी। उसके बाद से भारतीय टीम को आज तक उनके जैसे ऑल राउंडर की तलाश है लेकिन कोई भी खिलाड़ी उनकी तरह निरंतर प्रदर्शन नहीं कर पाता। संन्यास लेने समय कपिल देव टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज भी थे।