डे-नाइट टेस्ट मैचों को लेकर बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कही ये बात

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

डे-नाइट टेस्ट खेलने को तैयार है विराट कोहली, जल्द होगा आयोजन: सौरव गांगुली 

डे-नाइट टेस्ट खेलने को तैयार है विराट कोहली, जल्द होगा आयोजन: सौरव गांगुली

टेस्ट क्रिकेट में नयापन और रोमांच लाने के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने साल 2015 में एक बड़ा प्रयोग किया जिसके तहत आईसीसी ने टेस्ट क्रिकेट को भी डे-नाइट फॉर्मेट में कराना शुरू किया। आईसीसी का ये प्रयोग काफी हद तक सफल होता जा रहा है जिसमें दर्शकों के साथ ही हर कोई टीम पसंद कर रही है।

सौरव गांगुली के प्रेसिडेंट बनने के बाद डे-नाइट टेस्ट के खुले रास्ते

लेकिन अब तक टेस्ट क्रिकेट में विश्व की नंबर एक टीम भारत ने शुरूआत नहीं की है। बीसीसीआई शुरू से ही डे-नाइट टेस्ट मैचों से बचता रहा है। इसी कारण से टेस्ट में डे-नाइट फॉर्मेट के 4 साल बाद भी भारत को अपने पहले डे-नाइट टेस्ट का इंतजार है।

डे-नाइट टेस्ट खेलने को तैयार है विराट कोहली, जल्द होगा आयोजन: सौरव गांगुली 1

आने वाले हालिया समय में तो भारत के डे-नाइट टेस्ट खेलने की कोई संभावना तो नजर नहीं आ रही है लेकिन सौरव गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष बनने के बाद अब इसकी संभावना प्रबल हो गई है।

डे-नाइट टेस्ट को लेकर दादा की सकारात्मक प्रतिक्रिया

सौरव गांगुली खुद ने इसका संकेत दिया है कि वो डे-नाइट टेस्ट को पसंद करते हैं और इसके पक्ष में हैं। दादा ने इस बारे में पूछने पर कहा कि

हम सभी इस बारे में सोच रहे हैं। हम इसके बारे में कुछ करेंगे। मैं डे-नाइट टेस्ट मैचों की बड़ा आस्तिक रहा हूं। मुझे नहीं पता कि ऐसा कब होगा। जब तक मैं आसपास हूं, मैं इसके बारे में जोर देता रहूंगा। मुझे कहना होगा विराट इसके लिए सहमत हैं। एक बार जब कप्तान इससे सहमत हो जाए तो ये आसान हो जाता है।”

डे-नाइट टेस्ट खेलने को तैयार है विराट कोहली, जल्द होगा आयोजन: सौरव गांगुली 2

सौरव गांगुली ने आगे कहा कि “हां, आपको टेस्ट क्रिकेट के इतिहास को बनाए रखने की जरूरत है, लेकिन आपको खेल को आगे ले जाने की भी जरूरत है। मैं डे-नाइट टेस्ट मैचों में दृढ़ विश्वास रखता हूं। ये दर्शकों को स्टेडियम में आकर्षित कर सकता है। टी20 क्रिेकेट टेस्ट क्रिकेट को गंभीरता से चुनौती दे ररहा है। कदम उठाए जाने की जरूरत है।”

मेरी भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाने की है पहली प्राथमिकता

बीसीसीआई के नए अध्यक्ष गांगुली ने आगे कहा कि “मुझे लगता है कि ये बहुत ही आसान है। टीम ने पिछले तीन साल में वास्तव में बहुतत अच्छा खेला है। आप कह सकते हैं, हमने 2013 के बाद से आईसीसी टूर्नामेंट नहीं जीता है लेकिन वहां पर्याप्त प्रतिभा है। क्रिकेट और क्रिकेटरों की मदद करना मेरा काम है। भारत में क्रिकेट का बहुत अच्छा ढांचा है, हमारे पास पैसा है और यही कारण है कि आप स्टेडियमों की अच्छी स्थिति देखते हैं।”

डे-नाइट टेस्ट खेलने को तैयार है विराट कोहली, जल्द होगा आयोजन: सौरव गांगुली 3

भारतीय क्रिकेट की अपनी एक स्थापित संरचना है। मेरा काम क्रिकेटरों की मदद करना होगा। मेरी महत्वाकांक्षा एक अच्छे प्रथम श्रेमी के ढांचे को सुनिश्चित करना है। मैं देश के हर नवोदित क्रिकेटर के लिए सुविधाओं को अच्छा करने की कोशिश करूंगा। मैं एक प्रतिनिधित्व करता हूं क्रिकेट बिरादरी और विश्वसनीयता मेरे कंधों पर टिकी हैं।”

Related posts