पाकिस्तान ने की सुपर सीरीज के प्रस्ताव की आलोचना तो सौरव गांगुली ने दिया ये जवाब 1

भारतीय क्रिकेट कन्ट्रोल बोर्ड के नए अध्यक्ष सौरव गांगुली ने अभी तो ये पद थामे दो महीनों का ही समय हुआ है लेकिन इस बीच वो एक के बाद एक बड़े बदलाव करते जा रहें हैं तो साथ ही अलग-अलग नई योजनाओं को अमलीजामा पहनाने की कोशिश करते जा रहे हैं। भारतीय क्रिकेट के अंदरुनी मामलों में कई सुधार तो गांगुली ने किए हैं।

सौरव गांगुली ने रखा है भारत, इंग्लैंड ऑस्ट्रेलिया देशों के बीच सुपर सीरीज का प्रस्ताव

जिसके बाद अब वो विश्व स्तर पर दर्शकों का रुझान क्रिकेट की तरफ और भी ज्यादा दिलचस्प करने के लिए हाल ही में एक खास योजना को विश्व क्रिकेट के सामने प्रस्तुत किया है। सौरव गांगुली ने हाल ही में क्रिकेट जगत के मौजूदा तीन बड़े पावर हाउस भारत के अलावा इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया की टीम के साथ मिलकर एक सुपर सीरीज का आयोजन करना चाहते हैं।

पाकिस्तान ने की सुपर सीरीज के प्रस्ताव की आलोचना तो सौरव गांगुली ने दिया ये जवाब 2

भारत, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया की टीम तो इसमें शामिल करने में सौरव गांगुली ने विचार दिया है और साथ ही एक और टीम को शामिल कर चार देशों के बीच सुपर सीरीज कराने की योजना सामने रखी है। जो वाकई में क्रिकेट में दर्शकों को बहुत ही आकर्षित कर सकती है।

सौरव गांगुली ने सुपर सीरीज के गिनाए फायदें

इस योजना को ईसीबी और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से तो हरी झंडी मिल सकती है लेकिन आईसीसी का इसके लिए सहमति जरूरी बनती है। अभी आईसीसी के द्वारा कोई सहमति नहीं मिली है इसी कारण से सौरव गांगुली ने इसके बारे में फिलहाल ज्यादा बोलने से इनकार कर दिया लेकिन साथ ही उन्होंने सुपर सीरीज के फायदों के बारे में बताया।

पाकिस्तान ने की सुपर सीरीज के प्रस्ताव की आलोचना तो सौरव गांगुली ने दिया ये जवाब 3

पाकिस्तान ने की सुपर सीरीज के प्रस्ताव की आलोचना तो सौरव गांगुली ने दिया ये जवाब 4

बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इसको लेकर कहा कि “ये एक प्रस्ताव है। चलो देखते हैं कि ये कहां तक जाता है। इसके पीछे का कारण केवल एक अच्छी प्रतिस्पर्धी टूर्नामेट को खेलना है। इसलिए ये वो जगह है जहां पर हम खड़े हैं। हमें चार देशों के टूर्नामेंट के लिए प्रसारकों और आईसीसी की मंजूरी लेनी होगी।”

इस टूर्नामेंट को भारत, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया की तरफ से एक अच्छा पहलू माना जा सकता है ताकि आईसीसी की प्रस्तावित योजना को अगले 8 साल के चक्र में विश्व स्तर पर एक अतिरिक्त प्रमुख आयोजन सुनिश्चित किया जा सके।

इस टूर्नामेंट से दर्शकों में होगी दिलचस्पी पैदा

इसके साथ ही आगे सौरव गांगुली ने कहा कि “इसके बाद फ्यूचर टूर्स प्रोग्राम(एफटीपी) वो जोन हैं जहां हम इसे एफटीपी के अंदर ही फिट करते हैं। लेकिन ये केवल एक अलग और बड़ा टूर्नामेंट बनाने का तरीका है।”

पाकिस्तान ने की सुपर सीरीज के प्रस्ताव की आलोचना तो सौरव गांगुली ने दिया ये जवाब 5

“हम गुणवत्ता क्रिकेट की तलाश कर रहे हैं। आज हम जो देख रहे हैं वो केवल द्विपक्षीय हो रहा है। लोग एक उच्च श्रेणी के टूर्नामेंट को देखना चाहते हैं और हम इसे करने का प्रयास कर रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच बॉक्सिंग डे टेस्ट में भीड़ देखें। तो ये भी एक कारण हैं। पिंक बॉल टेस्ट में भी क्राउड की दिलचस्पी पैदा करने का ही एक प्रयास था।”