सौरव गांगुली ने बताया, 2020 में भारतीय टीम का सबसे बड़ा चैलेंज क्या होगा

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

सौरव गांगुली ने बताया, 2020 में भारतीय टीम का सबसे बड़ा चैलेंज क्या होगा 

सौरव गांगुली ने बताया, 2020 में भारतीय टीम का सबसे बड़ा चैलेंज क्या होगा

जब से बैन के बाद स्टीवन स्मिथ और डेविड वॉर्नर की वापसी हुई है. तब से ऑस्ट्रेलिया की टीम और ज्यादा मजबूत नजर आ रही हैं. ऑस्ट्रेलिया को उसकी धरती पर हराना किसी भी टीम के लिए काफी मुश्किल दिख रहा है. पाकिस्तान की टीम को ऑस्ट्रेलिया में दोनों टेस्ट मैच में पारी की अंतर से हार का सामना करना पड़ा था. अब न्यूजीलैंड भी ऑस्ट्रेलिया की धरती पर मुश्किल में नजर आ रही है.

ऑस्ट्रेलिया को 2020 टेस्ट सीरीज में हराना भारत के लिए चुनौती

सौरव गांगुली ने बताया, 2020 में भारतीय टीम का सबसे बड़ा चैलेंज क्या होगा 1

बता दें, कि साल 2018-19 के दौरे में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पहली बार उसी की धरती पर 2-1 के अंतर से हराया भी था. अब साल 2020 के अंत में भी भारत ऑस्ट्रेलिया का दौरा करने वाला है.

इस दौरे को लेकर बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इंडिया टुडे के एक कार्यक्रम में बोलते हुए कहा, “मुझे लगता है कि भारत के लिए 2020 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ सबसे बड़ी चुनौती होने वाली है और मुझे यकीन है कि विराट कोहली अपने और अपनी टीम के लिए मानक तय किये हैं, उसके मुताबिक वह मानते होंगे, कि साल 2018 में ऑस्ट्रेलिया उतना मजबूत नहीं था. जितना की अब स्मिथ और वार्नर के वापस आने के बाद हो गया है. 

भारत, ऑस्ट्रेलिया को हरा सकती

सौरव गांगुली ने बताया, 2020 में भारतीय टीम का सबसे बड़ा चैलेंज क्या होगा 2

सौरव गांगुली ने आगे अपने बयान में कहा, “भारत निश्चित रूप से एक ऐसी टीम है जो ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर पर हरा सकती है. उन्हें बस खुद पर भरोसा रखना होगा. मैं इसका इंतजार कर रहा हूं. आपको पता है कि जब मैं कप्तान बना था तो यह मेरा लक्ष्य था कि सर्वश्रेष्ठ टीमों का सामना करूं और मुझे 2003 का आस्ट्रेलियाई दौरा याद है. हम शानदार टीम थे और इस टीम के पास भी ऐसी करने की क्षमता है.”

अगली बार इंग्लैंड अफ्रीका में भी जीतेंगे

सौरव गांगुली ने बताया, 2020 में भारतीय टीम का सबसे बड़ा चैलेंज क्या होगा 3

भारतीय टीम साल 2018 में साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड में हार गई थी. इस बात को लेकर सौरव गंगुली ने कहा, “भले ही हम 2018 में इंग्लैंड और साउथ अफीका ना जीत पाए हो, लेकिन मुझे उम्मीद है कि अब हम जब अगली बार वहां जाएंगे, तो जीतने में जरुर कामयाब रहेंगे.”

Related posts