ऋषभ पन्त के मुद्दे पर विराट कोहली से असहमत सौरव गांगुली, दिया ये बयान

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

ऋषभ पन्त के मुद्दे पर विराट कोहली से असहमत सौरव गांगुली, दिया ये बयान 

ऋषभ पन्त के मुद्दे पर विराट कोहली से असहमत सौरव गांगुली, दिया ये बयान

भारतीय टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पन्त खराब फॉर्म से गुजर रहे हैं। वेस्टइंडीज दौरे के बाद हुए 5 घरेलू टेस्ट में उन्हें बेंच पर बैठना पड़ा है। इसके अलावा वनडे और टी-20 में लगातार खेलने का मौका मिला है लेकिन उनका बल्ला पूरी तरह शांत रहा है। इसके साथ ही विकेट के पीछे रिव्यू लेने में भी वह बार-बार फिसड्डी साबित हो रहे हैं।

धोनी-धोनी चिल्लाते हैं फैंस

ऋषभ पन्त के मुद्दे पर विराट कोहली से असहमत सौरव गांगुली, दिया ये बयान 1

ऋषभ पन्त को महेंद्र सिंह धोनी की जगह भारतीय टीम में शामिल किया गया है। जब भी उनसे विकेट के पीछे गलतियां होती हैं, मैदान में मौजूद हजारे दर्शक धोनी- धोनी चिल्लाने लगते हैं। विराट कोहली ने इसे रोकने की अपील की थी।

हैदराबाद में भारत और वेस्टइंडीज के बीच पहला टी-20 मैच खेला जाने वाला है। इस मैच से पहले पत्रकारों से बात करते हुए विराट कोहली ने दर्शकों से अपील की थी कि पन्त से गलतियां होने पर महेंद्र सिंह धोनी का नाम लेना सही नहीं है।

सौरव गांगुली ने दी प्रतिक्रिया

ऋषभ पन्त के मुद्दे पर विराट कोहली से असहमत सौरव गांगुली, दिया ये बयान 2

बीसीसीआई के अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने इसपर प्रतिक्रिया दी है। उनका कहना है कि यह पन्त के लिए अच्छा है और उन्हें दबाव झेलना सीखना पड़ेगा। इंडिया टुडे के एक कार्यक्रम में बात करते हुए उन्होंने कहा

“मुझे लगता है कि यह उनके लिए अच्छा है क्योंकि वह इसके आदि हो जायेंगे। निजी तौर पर मैं सोचता हूँ कि दबाव ऐसी चीज है, जिसकी उन्हें आदत डालनी चाहिए। जब वह पिछले सीजन दिल्ली के लिए खेल रहे थे तो प्रमुख खिलाड़ी थे और दर्शकों से भरे मैदान में खेलते थे। इसलिए, जिम्मेदारी लेना मुद्दा नहीं है।”

एमएस धोनी पीढ़ी में एक होता है

ऋषभ पन्त के मुद्दे पर विराट कोहली से असहमत सौरव गांगुली, दिया ये बयान 3

सौरव गांगुली ने कहा कि महेंद्र सिंह धोनी जैसा क्रिकेटर पीढ़ियों में पैदा होता है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि एमएस धोनी अपने करियर की शुरुआत में ये एमएस धोनी नहीं थे। उन्होंने इस बारे में कहा

“अगर मैं विराट कोहली होता तो, उन्हें इस परिस्थिति से गुजरने देता और सब कुछ सुनकर उनसे सफल होने को छोड़ देता। सभी को यद् रखना चाहिए कि आपको हर दिन धोनी नहीं मिलेंगे। ऐसे क्रिकेटर पीढ़ियों में एक बार होते हैं।”

Related posts