इंग्लैंड टीम को कहीं ये मुश्किल फिर से ना कर दे विश्व कप से बाहर

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

दुनिया की नम्बर 1 टीम की सबसे बड़ी कमजोरी हुई उजागर, विश्वकप की मानी जा रही थी प्रबल दावेदार 

दुनिया की नम्बर 1 टीम की सबसे बड़ी कमजोरी हुई उजागर, विश्वकप की मानी जा रही थी प्रबल दावेदार

अगले साल इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड की मेजबानी में विश्व कप का आयोजन होना है। इस आईसीसी विश्व कप की कुछ टीमें सबसे ज्यादा दावेदार मानी जा रही है इसमें से मेजबान इंग्लैंड की टीम प्रबल दावेदार मानी जा रही है। इंग्लैंड की टीम का हालिया प्रदर्शन बहुत ही जबरदस्त रहा है। इंग्लैंड की टीम ने खासकर पिछले विश्व कप की शर्मनाक हार के बाद जिस तरह से अपने प्रदर्शन में सुधार किया है उससे दम पर वो इस विश्व कप को जीतने की प्रबल दावेदार है।

दुनिया की नम्बर 1 टीम की सबसे बड़ी कमजोरी हुई उजागर, विश्वकप की मानी जा रही थी प्रबल दावेदार 1

विश्व कप की प्रबल दावेदार इंग्लैंड की टीम का स्पिन गेंदबाजी के खिलाफ संघर्ष

इंग्लैंड का पिछले कुछ समय से शानदार प्रदर्शन रहा है लेकिन जिस तरह से इन दिनों भारतीय स्पिनरों के खिलाफ इंग्लैंड की टीम का स्पिन गेंदबाजी के खिलाफ कमजोरी दिख रही है उससे उनकी दावेदारी पर सवाल खड़े हो गए हैं।

इंग्लैंड के बल्लेबाजों को भारत के खिलाफ इस दौरे पर अब तक खेली गई 3 मैचों की टी-20 सीरीज के साथ ही 3 मैचों की वनडे सीरीज में के पहले मैच में स्पिन गेंदबाजी के खिलाफ जबरदस्त संघर्ष करना पड़ा है।

दुनिया की नम्बर 1 टीम की सबसे बड़ी कमजोरी हुई उजागर, विश्वकप की मानी जा रही थी प्रबल दावेदार 2

स्पिन गेंदबाजी की कमजोरी तोड़ सकती है इंग्लैंड के कप जीतने के सपनों को

जिस इंग्लैंड की टीम के एक अलग अंदाज में क्रिकेट खेलने के दम पर उनकी ही जमीं पर 2019 में होने वाले आईसीसी विश्व कप का प्रबल दावेदार तो माना जा रहा है लेकिन उनको उन्हीं की जमीं पर स्पिन गेंदबाजी के सामने मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है उससे तो उन्हें एक बार फिर से स्पिन गेंदबाजी की कमजोरी विश्व कप जीतने से रोक सकती है।

दुनिया की नम्बर 1 टीम की सबसे बड़ी कमजोरी हुई उजागर, विश्वकप की मानी जा रही थी प्रबल दावेदार 3

स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ कमजोरी से इंग्लैंड को नहीं माना जा सकता प्रबल दावेदार

इसमें कोई दो राय नहीं है कि इस समय विश्व क्रिकेट में अगर कोई टीम भारतीय टीम की तरह बल्लेबाजी करने में सक्षम हैं तो वो इंग्लैंड के बल्लेबाज ही हैं लेकिन इंग्लैंड के बल्लेबाजों को उनकी ही पिच जिस पर विश्व कप खेला जाना है.

वहां पर कुलदीप यादव और युजवेन्द्र चहल की गेंदे तो जी का जंजाल बन चुकी है।  ऐसे में स्पिन गेंदबाजी की कमजोरी को देखते हुए इंग्लैंड को किसी भी लिहाज से अब प्रबल दावेदार नहीं माना जा सकता है।

 

After returning from England's good preparation Kuldeep, under pressure

इंग्लैंड की स्पिन गेंदबाजी की कमजोरी सामने आने के बाद दूसरी टीमें भी हैं तैयार

क्योंकि भारतीय टीम की स्पिन गेंदबाजी के सामने तो इंग्लैंड के बल्लेबाजों की कलई खुल गई है। अब तो इंग्लैंड की इस पोल को विश्व की दूसरी टीमों ने भी जान लिया है। ऐसे में भारत के अलावा दूसरी विरोधी टीमें भी अपनी एक मजबूत स्पिन ब्रिगेड को इंग्लैंड के खिलाफ उतारेंगे जिससे उनकी राह मुश्किल हो जाएगी।

इन सबके बीच अब तो अगर इंग्लैंड को विश्व कप जीतने का सपना पूरा करना है तो स्पिन गेंदबाजी के खिलाफ अच्छे से तैयारी करनी होगी और अपनी कमजोरी को दूर करना होगा।

दुनिया की नम्बर 1 टीम की सबसे बड़ी कमजोरी हुई उजागर, विश्वकप की मानी जा रही थी प्रबल दावेदार 4

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आए तो प्लीज इसे लाइक और शेयर करें।

Related posts

Leave a Reply