स्पोर्ट्स राउंड अप 26 फरवरी
Connect with us

WWE

स्पोर्ट्स राउंड अप: एक नजर में पढ़े 26 फरवरी 2018 की खेल जगत से जुड़ी हर एक बड़ी खबर

हम आपके खेल के प्रति प्रेम को बहुत अच्छे से समझते है और इसलिए हम रोज की तरह आपकी भाग-दौड़ भरी जिन्दगी में अपने सिर्फ एक लेख में खेल जगत से जुड़ी सारी खबरें लाये है.

आइये डालते है एक नजर खेल जगत से जुड़ी 26 फरवरी की हर खबर पर :

पंजाब ने आईपीएल 2018 के लिए बनाया अश्विन को अपना कप्तान 

अब इसी बीच ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को आगामी आईपीएल सीजन के लिए किंग्स इलेवन पंजाब की टीम की कप्तानी सौंपी दी है.

किंग्स इलेवन पंजाब की टीम ने आखिरकार ऐतहासिक फैसला लेते हुए रविचंद्रन अश्विन को आईपीएल 2018 के लिए अपना कप्तान नियुक्त किया है. जिसकी घोषणा उन्होंने अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्विट करके दी.

धोनी व कोहली दोनों विदेश में जीतना चाहते थे टेस्ट मैच : पुजारा 

चेतेश्वर पुजारा ने अपने बयान में आगे कहा,कि “ईमानदारी से कहू तो धोनी और कोहली दोनों ही ऐसे कप्तान है, जो सिर्फ भारत में ही टेस्ट मैच नहीं बल्कि विदेश में भी टेस्ट मैच जीतना चाहते है.

मैं कहूँगा, कि दोनों ही कप्तानों की कप्तानी एक समान है. धोनी ने भारतीय टीम को 2007 में टी-20 चैंपियन, 2011 में विश्व कप विजेता और 2013 में आईसीसी की चैंपियन ट्रॉफी जीतवाई और 2009 से 2011 तक टेस्ट क्रिकेट में नंबर-1 बनाये रखा. 

वही कोहली की कप्तानी में भी भारत वनडे और टेस्ट दोनों की नंबर एक टीम है, इसलिए मैं कहूँगा कि दोनों की कप्तानी एक समान है दोनों में ही टीम को जीत दिलाने की भूख है. विराट कोहली और एम एस धोनी दोनों की ही सोच भारत को विदेश में टेस्ट मैच में जीत दिलवाना थी.

हेल्स और राशिद टेस्ट क्रिकेट में सफल हो सकते हैं : जो रूट

इंग्लैंड की टेस्ट टीम के कप्तान जो रूट का मानना है कि वनडे और टी-20 प्रारूप को प्राथमिकता देने वाले खिलाड़ी एलेक्स हेल्स और आदिल राशिद टेस्ट क्रिकेट में भी सफल हो सकते हैं। रूट ने कहा कि अगर अधिकारी क्रिकेट के कार्यक्रम को इस तरह से तय करे कि खेल के तीनों प्रारूप एक साथ आसानी से चल सके तो हेल्स और राशिद जैसे खिलाड़ी भी टेस्ट क्रिकेट खेल सकते है।

क्रिकइंफो ने रूट के हवाले से बताया, “मैं समझता हूं कि वनडे और टी-20 क्रिकेट को प्राथमिकता देने वाले हेल्स और राशिद टेस्ट क्रिकेट में भी सफल हो सकते हैं। क्रिकेट में पिछले पांच वर्षो में काफी बदलाव आया है और रन बनाने के लिए आपको जिस हुनर की आवश्यकता होती है, वह वनडे और टी-20 क्रिकेट से ही आती है।”

सेथ रेन्स ने अपनी बाहुदरी से बचाई कई लोगो की जान

न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज सेथ रेन्स ने एक बहुत ही ज्यादा नेक और बाहुदरी का काम किया है और अपनी बाहुदरी व समझ से कई लोगो की जान बचाई है.

सेथ रेन्स ने अपनी बाहुदरी और समझ के जरिये आग बुझाकर लोगो की जान बचाई है. दरअसल, न्यूजीलैंड के व्हाइट स्वान पब में आग लग गई थी. ऐसे में जब वहां भगदड़ मची तो सेथ रेन्स ने पहले फायर एक्स्टिंगेशर वालों को फ़ोन किया और उसके बाद उन्होंने फायर एक्स्टिंगेशर वालों के साथ मिलकर आग बुझाने का काम किया. उनके इस काम की जमकर प्रशंशा हो रही है.

ELIMINATION CHAMBER 2018 RESULTS: ये रहे मैचो के रिजल्ट्स

मैच 1 – मैट हार्डी vs ब्रे वायट

विजेता – मैट हार्डी

मैच 2 – असुका vs निया जैक्स 

विजेता – असुका 

मैच 3 – द बार vs टाईटस और अपोलो 

विजेता – द बार 

मैच 4 – वीमेन डिवीज़न एलिमिनेशन चैम्बर मैच 

विजेता – अलिक्सा ब्लिस 

मैच 5 – एलिमिनेशन चैम्बर मैच

विजेता – रोमन रेन्स 

बॉबी लैश्ली ने WWE के साथ कॉन्ट्रैक्ट किया साइन

बॉबी लैश्ली ने WWE को अलविदा कह UFC में हाथ अजमाए. WWE की तरह ही उन्होंने यहाँ पर भी अपने नाम का लोहा मनवाया और कई रिकॉर्ड बना डाले लेकिन एक बार फिर उन्होंने WWE के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन कर लिया है. रेस्लिंग न्यूज़ आब्जर्वर की खबर की माने तो बॉबी लैश्ली WWE के साथ कॉन्ट्रैक्ट करने के लिए राजी हो चुके हैं और वे जल्द ही फिर से इस रिंग में लड़ते हुए दिखाई देंगे.

बाईचुंग भूटिया ने तृणमूल कांग्रेस से इस्तीफा दिया

भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान बाईचुंग भूटिया ने सोमवार को तृणमूल कांग्रेस से इस्तीफा देने की घोषणा की और कहा कि वह अब किसी भी राजनीतिक पार्टी का हिस्सा नहीं हैं। देश के प्रसिद्ध फुटबॉल खिलाड़ी ने ट्वीट कर तृणमूल कांग्रेस के सभी आधिकारिक एवं राजनीति पदों से त्यागपत्र देने की घोषणा की। भूटिया 2014 लोकसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए थे।

स्पेनिश लीग : वालेंसिया ने सोसिएदाद को हराया

वालेंसिया ने स्पेनिश लीग के 25वें दौर के मैच में रियल सोसिएदाद को मात दी। समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के अनुसार, एस्तादियो दे मेस्टाला स्टेडियम में रविवार रात खेले गए मैच में वालेंसिया ने सोसिएदाद को 2-1 से मात दी।

इस मैच के पहले हाफ में काफी समय तक संघर्ष करने के बाद 34वें मिनट में सेंटी मीना ने गोल कर वालेंसिया को 1-0 से बढ़त दी। इस बढ़त को बरकरार रखते हुए क्लब ने पहले हाफ का समापन किया।

इसके बाद, दूसरे हाफ में सोसिदाद को अपनी कोशिशों का फल मिला और 54वें मिनट में मिकेल कार्जाबाल ने गोल कर स्कोर 1-1 से बराबर कर लिया। वालेंसिया के लिए एक बार फिर मीना ने 68वें मिनट में गोल किया। इस गोल की बदौलत क्लब ने अंत में 2-1 से जीत हासिल की।

आज की तारीख में रैंकिंग नहीं, प्रदर्शन मायने रखता है : कप्तान रानी रामपाल

वर्तमान में भारतीय महिला हॉकी टीम विश्व रैंकिंग में शीर्ष-10 टीमों की सूची में शामिल है। रैंकिंग में बने रहना कितना मायने रखता है। इस बारे में रानी ने कहा, “सच कहा जाए, तो मॉर्डन हॉकी में रैंकिंग मायने नहीं रखती, प्रदर्शन मायने रखता है। जो जैसा खेलेगा, उसे वैसा परिणाम मिलेगा। अगर टीम अच्छा प्रदर्शन करती है, तो निश्चित तौर पर उसकी रैंकिंग भी सुधरती है।”

एटीपी रैंकिंग : रोजर फेडरर शीर्ष पर बरकरार

स्विट्जरलैंड के स्टार खिलाड़ी रोजर फेडरर टेनिस पेशेवर संघ (एटीपी) द्वारा जारी ताजातरीन वल्र्ड रैंकिंग में पहले स्थान पर बरकरार है। फेडरर के 10,105 अंक हैं। समाचार एजेंसी एफे क अनुसार, 20 बार के ग्रैंड स्लैम विजेता फेडरर ने पिछले सप्ताह रॉटरडैम ओपन का खिताब जीतने के बाद नडाल को पछाड़ते हुए शीर्ष स्थान हासिल किया। उन्होंने अक्टूबर 29, 2012 के बाद पहली शीर्ष स्थान पर कब्जा किया।

क्रोएशिया के मारिन सिलिक तीसरे, बुल्गारिया के ग्रिगोर दिमित्रोव चौथे और जर्मनी के एलेक्जेंडर ज्वेरेव पांचवे पायदान पर काबिज हैं।

मेहनत जारी रख विश्व रैंकिंग में आगे जाना चाहता हूं : कश्यप

भारत के बैडमिंटन खिलाड़ी को अंतर्राष्ट्रीय खिताब जीतने में तीन साल का समय लगा और उनका मानना है कि उनके लिए आस्ट्रिया ओपन की जीत अपने लिए एक नई राह तलाशने की ओर बड़ी सफलता है। कश्यप को हमेशा से भारत के अग्रणी पुरुष बैडमिंटन खिलाड़ियों में गिना जाता रहा है। हालांकि, पिछले कुछ वर्षो से चोटों के कारण विश्व रैंकिंग में वह फिसलते रहे हैं।

कश्यप ने अपना पिछला साल अधिकतर टूर्नामेंटों में अंतिम-32 या अंतिम-16 दौर में रहते हुए बिता दिया। हालांकि, डॉ. अखिलेश दास गुप्ता इंडिया ओपन में इस साल उन्होंने क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय किया था, लेकिन वह आगे नहीं बढ़ पाए।

मुक्केबाजी : मैरी और सीमा ने जीता रजत पदक

भारत की स्टार महिला मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम और समी पूनिया को 69वें स्ट्रैंड्जा मेमोरियल मुक्केबाजी टूर्नामेंट के फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। इन दोनो को रजत पदक से संतोष करना पड़ा। लंदन ओलम्पिक में कांस्य पदक जीतने वाली और पांच बार की विश्व चैंपियन मैरी कॉम को 48 किलोग्राम वर्ग में बुल्गारिया की सेवदा एसेनोवा के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा जबकि सीमा को 89 किलोग्राम से अधिक भार वर्ग में रूस की एना इवानोवा ने मात दी।

यूरोप के सबसे पुराने मुक्केबाजी प्रतियोगिताओं में से एक इस टूर्नामेंट के फाइनल में दोनों भारतीय मुक्केबाज अंक के आधार पर हारीं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Must See