स्पोर्ट्स राउंड अप: एक नजर में पढ़े 23 फरवरी 2018 की खेल से जुड़ी हर एक बड़ी खबर

Akhil Gupta / 23 February 2018

इस लेख के माध्यम से हम आपके पास तक लेकर आये हैं, दिनभर का स्पोर्ट्स अपडेट. यहाँ आप सिर्फ एक ही नजर में खेल जगत से जुड़ी हर एक बड़ी खबर आसानी से पढ़ सकेंगे.

आइये डालते हैं, एक नजर शुक्रवार (23 फरवरी) के स्पोर्ट्स राउंड अप पर:-

~ पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने बताया उस खिलाड़ी का नाम जिसे बनाया जाना चाहिए KKR का कप्तान

हालिया समय में स्टार स्पोर्ट्स द्वारा जारी किए गए प्रोमों में सौरव गांगुली से जब केकेआर की कप्तानी को लेकर सवाल किया गया,तब उन्होंने इसको लेकर जवाब देते हुए कहा कि,” मैं कोलकाता का रहने वाला हूं और ऐसे में मुझे कोलकाता क्रिकेट की हर चीज का ट्रेक रिकाॅर्ड रखना पड़ता है। ऐसे में मुझे अब कोलकाता नाइट राइडर्स की कप्तानी किस को मिलेगी के सवाल पर चर्चा करनी होगी।”

वहीं क्रिकेट डाॅट काम डाॅट एयू से किए गए खासबातचीत में क्रिस लिन ने अपने क्रिकेट करियर को लेकर बातचीत करते हुए कहा कि,” मैं मौजूदा समय में पाकिस्तान सुपर लीग के लिए खेलना चाहता था,पर चोटिल होने की वजह से मैं इस लीग में हिस्सा नहीं ले पा रहा हूं,पर मुझे पूरी उम्मीद है कि मै इंडियन प्रीमियल लीग में हिस्सा ले सकता हूं।”

~ शीतकालीन ओलम्पिक : अमेरिकी महिलाओं ने 20 साल बाद जीता आइस हॉकी स्वर्ण

अमेरिका की महिला आइस हॉकी टीम ने यहां जारी शीतकालीन ओलम्पिक खेलों में आइस हॉकी प्रतियोगिता का स्वर्ण पदक अपने नाम किया। अमेरिका ने पिछले 20 साल में पहली बार महिलाओं की आइस हॉकी प्रतियोगिता में सोना जीता है।

अमेरिका ने गुरुवार को खेले गए मैच में पेनाल्टी शूटआउट में 3-2 से कनाडा को मात देकर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। कनाडा की टीम ने चार बार शीतकालीन ओलम्पिक खेलों में स्वर्ण पदक जीता है, जिसमें 2002, 2010 और 2014 के फाइनल में टीम ने अमेरिका को हराकर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया।

~ मुख्य चयनकर्ता ने किया साफ यह 2 दिग्गज खिलाड़ी नहीं होंगे आईसीसी विश्वकप 2019 का हिस्सा

कुलदीप यादव और यजुवेंद्र चहल ने शानदार प्रदर्शन करते हुए लगातार पांच सीरीज में अपनी जगह बना ली हैं। इस वजह से आने वाले दिनों में आश्विन और चहल के लिए मुश्किलें और खड़ी हो सकती हैं। मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद से जब 2019 के विश्वकप के बारे में पूछा गया कि वो क्या 2019 के विश्वकप में कलाई के स्पिनर के साथ जाना चाहेंगें या फिर अनुभवी जोड़ी के साथ। इस बार वो साफ तौर पर कुछ भी कहने से बचते रहे।

उन्होंने कहा कि, “कलाई के स्पिनरों को भारतीय टीम के लिए स्पिन गेंदबाज के विकल्प के रूप में  पेश किया गया। उन्होंने अब तक बहुत अच्छा प्रदर्शन किया , लेकिन अंत में विश्व कप के लिए स्पिनर कौन होगा। इस पर टीम मैनेजमेंट फैसला करेगा  “

~ खेल के प्रति बदल रही है सोच : टिर्की

भारत के पूर्व हाकी खिलाड़ी एवं सांसद दिलीप टिर्की ने कहा कि कुछ वर्ष पहले तक कहा जाता था कि खेलो कूदोगे तो होगे खराब, लेकिन अब यह धारणा बदल रही है। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खेलो इंडिया विजन में भी इसकी भरपूर झलक दिखती है। बदलते परिवेश में अभिभावक अब अपने बच्चों को क्रिकेट से लेकर टेनिस और हाकी में भी खेलने के लिए आगे भेज रहे हैं।

हालांकि, मैदान पर खिलाड़ी देश को पदक दिलाता है। लेकिन मेरा मानना है कि एक खिलाड़ी तब तक अपनी भूमिका को पूरा नहीं कर सकता, जब तक कि उसे अच्छा फिजियोथेरेपिस्ट न मिले।

खेल के मैदान में जरा सी चूक से खिलाड़ी की मांसपेशियों से लेकर पूरे शरीर में लकवा मार सकता है, जिसे केवल फिजियोथेरेपिस्ट खिलाड़ी के साथ बेहतर तालमेल के जरिए चंद क्षणों में दूर कर सकता है।

~ युजवेंद्र चहल के खराब प्रदर्शन पर भड़क उठे प्रिंस ऑफ कोलकाता, विराट कोहली को दे डाली यह सलाह

चहल के इस खराब प्रदर्शन के बाद टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की. इंडिया टुडे से खास बातचीत के दौरान दादा ने कहा, कि

”सेंचुरियन की कंडीशंस (परिस्तिथियां) युजवेंद्र चहल के खिलाफ रही. मुझे ऐसा लगता हैं, कि अगर विराट कोहली चहल को एक लम्बे समय तक के लिए टीम में देखते हैं, तो उन्हें चहल के ऊपर काफी काम करने की जरूरत हैं. पिछले कुछ मैचों में चहल की खासी पिटाई देखने को मिली हैं.

चहल को अपनी गेंदबाजी में विभिन्नता लानी होगी. इस लेवल पर चहल को यह सिखने को मिलेंगा, कि दबाव को कैसे झेला जाता हैं. चहल को जल्द वापसी करनी होगी और मुझे यकीन हैं, कि वह ऐसा करने में कामयाब होगे.”

रेसलमेनिया 34 के बाद रोमन रेन्स इस रेसलर के साथ करेंगे दो दो हाथ, जाने नाम

यह बात तो हर रेस्लिंग फैन अब जान गया है कि रेसलमेनिया 34 में ब्रोक लेसनर का सामना रोमन रेन्स से होगा और वो भी उनकी WWE यूनिवर्सल टाइटल के लिए. इस मैच के कयास तो तभी से ही लगने लगे थे जब रेसलमेनिया 33 में ब्रोक लेसनर ने गोल्डबर्ग को हराकर WWE यूनिवर्सल टाइटल बेल्ट जीती थी. अगर बात करे रेसलमेनिया 34 के मैच की तो इसमें रोमन रेन्स के जीतने की सम्भावना लगातार बनी हुई है वही ब्रोक लेसनर रेसलमेनिया 34 के बाद फिर से UFC में जा सकते हैं.

केजसाइड सीट्स की खबर की माने तो रेसलमेनिया 34 के बाद रोमन रेन्स अपनी ही पुराने साथी सेथ रोलिंस के साथ स्टोरीलाइन बना सकते हैं. इस खबर में कहा गया है कि इस स्टोरीलाइन की शुरुआत पिछले हफ्ते रॉ में कर दी गयी जब सेथ रोलिंस ने रोमन रेन्स को हराया था और आने वाले समय में इन दोनों रेस्लरो के बीच स्टोरीलाइन देखने को मिलेगी लेकिन ख़ास बात यह है कि दोनों ही रेसलर इस समय बेबीफेस के तौर पर दिखाई दे रहे हैं और इसीलिए देखना दिलचस्प होगा कि इनके मुकाबले किस तरह के कराए जाते हैं.

~ स्टुअर्ट बिन्नी के पिता रोजर बिन्नी ने हार्दिक पंड्या को लेकर किया विवादित कमेन्ट

पूर्व भारत के आलराउंडर रोजर बिन्नी का मानना ​​है कि पांड्या अपने अच्छा खेलने के लिए खुद को बनाए रखने का प्रबंधन कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वह भाग्यशाली हैं जो उन्हें ऑलराउंडर के रूप में देख रहे हैं। इन्होंने कहा है कि ये बल्ले के साथ योगदान नहीं दे पा रहे है वह गेंद के साथ छिल कर रहे हैं, और यही वजह है कि वह टीम में अपनी जगह बनाए रखने में सफल रहे हैं।

बिन्नी के अनुसार, लोगों को कपिल देव से उनकी तुलना करना बंद कर देना चाहिए। बिन्नी ने यह भी कहा कि कपिल ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में रन बनाए थे जबकि पांड्या ने पांच-दिवसीय प्रारूप में खेलने से पहले प्रथम श्रेणी क्रिकेट में कुछ नहीं किया है। उन्होंने कहा कि बल्लेबाज के रूप में, वह कपिल देव जैसे नहीं हैं। “एक बल्लेबाज के रूप में, वह कपिल देव की तुलना नहीं कर सकते है। भारत के टेस्ट टीम के कप्तान होने से पहले कपिल देव ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में शतक भी लगाये थे। स्टुअर्ट बिन्नी के पिता ने कहा, “पांड्या ने शीर्ष स्तर पर खेलने से पहले प्रथम श्रेणी क्रिकेट में रन नहीं बनाए हैं।”

~ सेमेदो के खिलाफ कार्रवाई करेगा विलारियल

स्पेनिश फुटबाल क्लब विलारियल के डिफेंडर रूबेन सेमेदो को एक व्यक्ति को मारने और कैद करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया था, जिस पर क्लब ने कहा कि वह अपनी जांच शुरू करेगा। समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, पुर्तगाल के 23 वर्षीय सेमेदो को मंगलवार को उनके घर से पुलिस की गाड़ी में डालकर ले जाया गया।

विलारियल की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी बयान के अनुसार, क्लब ने इस मुद्दे पर गहरी चिंता व्यक्त की है और इस पर जोर दिया है कि क्लब सेमेदो के अपराध की गहराई के आधार पर उपयुक्त अनुशासनात्मक कार्रवाई करेगा।

सेमेदो इस सत्र की शुरूआत में विलारियल से जुड़े थे लेकिन चोट के कारण वह टीम के लिए कम ही मैच खेल पाए। सेमेदो को इससे पहले नवंबर 2017 में एक नाइट क्लब में हुई घटना के कारण हिरासत में लिया गया था।

~ क्रिस लीन की इंजरी को लेकर सामने आई एक बड़ी खबर 

त्रिकोणीय सीरीज के फाइनल मुकाबले में घायल होने वाले धुरांधर बल्लेकबाज क्रिस लिन के मैनेजर ने बताया कि डॉक्टरों ने कहा है कि क्रिस लिन को कंधे की सर्जरी करवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। हालांकि इस दौरान उन्हें आराम करना पड़ेगा। क्रिस लिन ने ब्रिस्वेन में चोट को लेकर डॉक्टरी परामर्श लिया।

लिन के मैनेजर स्टीफन एटकिंसन ने कहा, “क्रिस लिन को डॉक्टरों से सकारात्मक परिणाम प्राप्त हुए हैं, उन्होंने कहा कि उन्हें सर्जरी की आवश्यकता नहीं है। वह इंडियन प्रीमियर लीग में खेलने का हर संभव प्रयास करेंगे। , यदि चयन किया जाता है, तो जून में इंग्लैंड में ऑस्ट्रेलिया के लिए पांच वनडे भी खेलेंगे । “

~ एवर्टन के साथ इदरिसा के करार में विस्तार

इंग्लिश प्रीमियर लीग क्लब एवर्टन ने अपने मिडफील्डर इदरिसा गाना गुएये के करार में विस्तार की घोषणा की है। इस घोषणा के तहत अब इदरिसा 2022 तक एवर्टन के साथ बने रहेंगे।

समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के अनुसार, 28 वर्षीय खिलाड़ी अगस्त, 2016 में एस्टन विला से निकलर एवर्टन क्लब में शामिल हुए थे। उन्होंने अब तक क्लब के लिए खेले गए 64 मैचों में तीन गोल किए हैं।

एक बयान में इदरिसा ने कहा, ह्यह्यमैं एवर्टन के साथ नए करार पर हस्ताक्षर कर काफी खुश हूं। इदरिसा ने कहा कि एवर्टन के साथ उनके करार में विस्तार इसलिए हुआ है, क्योंकि यह क्लब उनके लिए सबसे सही जगह है।

~ दक्षिण अफ्रीका से लौटने के बाद पहली बार बोले रिद्धिमान साहा, कहा…

हाल ही में स्पोर्ट ्स्टार से किए गए खास बातचीत में रिद्दिमान साहा ने पूछे गए सवाल पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, ‘खेल के दौरान खिलाड़ियोें का चोटिल होना स्वाभाविक है। आप इसके बारे में ज्यादा कुछ नहीं कर सकते हैं. हालांकि मैं इसमें अनलकी रहा और मुझे भी चोटिल होने की वजह से टीम से बाहर बैठना पड़ा। हालांकि मुझे इन सबसे उबरते हुए अपने क्रिकेट पर फोकस करना चाहिए और अपना शत प्रतिशत देने की कोशिश करनी चाहिए।’

साहा ने कहा कि, ‘मैं कभी भी ऐसा नहीं करता कि मुझे एक हफ्ते या फिर 10 दिनों के भीतर ही अपने चोट से उभरना है। इसका कारण आप कुछ चीजों पर खुद को कण्ट्रोल नहीं कर सकते हैं. ऐसे में ऐसा कोई मापदंड बनाना मेरे समझ से परे रहता है। इसके अलावा अगर आईपीएल में खेलने की बात किया जाए तो अभी आईपीएल के शुरू होने में एक लम्बा समय बाकी है।ऐसे में मुझे पूरी उम्मीद है कि मैं इसमें खेलता हुआ नजर आऊँगा।’