स्पॉट फिक्सिंग मुद्दे पर पर जमकर बरसी पाकिस्तान महिला टीम की कप्तान सना मीर | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

स्पॉट फिक्सिंग मुद्दे पर पर जमकर बरसी पाकिस्तान महिला टीम की कप्तान सना मीर 

स्पॉट फिक्सिंग मुद्दे पर पर जमकर बरसी पाकिस्तान महिला टीम की कप्तान सना मीर

पाकिस्तान महिला एकदिवसीय टीम की कप्तान सना मीर ने स्पॉट फ़िक्सर्स के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करते हुए कहा, कि फिक्सिंग की समस्या बहुत गंभीर मुद्दा है और जल्द ही उन्हें इसे निपटाया जाना चाहिए.

मीर ने कहा, “जो कोई भी हरी शर्ट (पाकिस्तान टीम की जर्सी) का अपमान करता है, उसे बिना किसी दया के  प्रतिबंधित और दंडित किया जाना चाहिए.” 

मीर ने खेद व्यक्त करते हुए कहा, कि “मैच-फिक्सिंग और स्पॉट फिक्सिंग से न केवल पाकिस्तान क्रिकेट की छवि को क्रूरता से क्षति पहुंचाई है, बल्कि इससे देश की छवि भी ख़राब हुई हैं.”  बीसीसीआई के फैसले के विरुद्ध श्रीसंत ने खटकटाया हाई कोर्ट का दरवाजा

एकदिवसीय कप्तान मीर ने कहा, “यह एक बहुत गंभीर मुद्दा है और परिणामस्वरूप जल्द इसे निपटा जाना चाहिए. फिक्सिंग के दोषी खिलाड़ियों को पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए.”

हाल में पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) के दूसरे संस्करण में भ्रष्टाचार का मामला सामने आया था, जिसके  बाद लीग में स्पॉट-फिक्सिंग के आरोप में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने अब तक पांच खिलाड़ियों को निलंबित कर दिया है.

पीसीबी द्वारा निलंबित पांच खिलाड़ियों में शरजील, खालिद, मोहम्मद इरफान, नासिर जमशेद और शाहजेब हसन शामिल हैं.

इससे पहले 2010 में, पाकिस्तान क्रिकेट को बड़ा झटका लगा था, जब पाकिस्तान टेस्ट कप्तान सलमान बट्ट, मोहम्मद आसिफ और मोहम्मद आमिर को इंग्लैंड दौरे के दौरान स्पॉट फिक्सिंग के लिए दोषी ठहराया गया था.   विश्व की 10 सबसे सुंदर महिला क्रिकेटर्स

इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट में तीनो खिलाड़ी सट्टेबाजो के कहने पर पैसे लेकर नो बॉल गेंदबाजी करने पर सहमत हुए थे. खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) द्वारा अस्थायी तौर पर निलंबित कर दिया गया था और तीनो खिलाड़ियों को इसके लिए जेल भी जाना पड़ा था.

खिलाड़ियों का प्रतिबंध वर्ष 2015 में खत्म हुआ, जिसके बाद तेज गेंदबाज़ मोहम्मद आमिर ने वर्ष 2016 में अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी किया.

मीर ने 2010 स्पॉट-फिक्सिंग कांड के बाद टीम की छवि बनाने में टेस्ट कप्तान मिस्बाह उल हक की भूमिका की प्रशंसा की थी. मीर का कहना है, कि “स्पॉट फिक्सिंग के कलंक को हटाने में मिस्बाह ने एक अहम भूमिका निभाई निभाई है.”

मिस्बाह ने भी स्पॉट-फिक्सिंग स्कैंडल में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है. इस मामले पर मिस्बाह का कहना था, कि ऐसे खिलाड़ियों को फिर से मैदान पर देश के लिए खेलने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए.  आईसीसी बल्लेबाजी रैंकिंग में कोहली खिसके, पुजारा ने प्राप्त की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग

इससे पहले, पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद ने क्रिकेट में भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए कड़े कदम उठाने को कहा और यह भी सुझाव दिया कि दोषी पाए जाने वाले को ‘मौत की सजा’ दी जानी चाहिए.

Related posts