केरल हाई कोर्ट ने भी सुनाया श्रीशंत के क्रिकेट करियर पर सुनाया अंतिम फैसला | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

केरल हाई कोर्ट ने भी सुनाया श्रीशंत के क्रिकेट करियर पर सुनाया अंतिम फैसला 

केरल हाई कोर्ट ने भी सुनाया श्रीशंत के क्रिकेट करियर पर सुनाया अंतिम फैसला

भारतीय क्रिकेट कण्ट्रोल बोर्ड द्वारा टीम इण्डिया के गेंदबाज एस श्रीसंत पर स्पाॅट फिक्सिंग के कारण लगाए गए आजीवन प्रतिबंध के बाद उस वक्त नया मोड़ आया, जब केरल हाइकोर्ट की खंडपीठ ने बीसीसीआई द्वारा लगाए गए आजीवन प्रतिबंध को मंगलवार को बहाल कर दिया। मुख्य न्यायाधीश नवनीति प्रसाद सिंह और न्यायमूर्ति राजा विजयराघवन की पीठ ने एकल न्यायाधीश की पीठ के खिलाफ बीसीसीआई के याचिका पर अपना फैसला सुनाया।

केरल हाई कोर्ट ने भी सुनाया श्रीशंत के क्रिकेट करियर पर सुनाया अंतिम फैसला 1

एकल पीठ ने हटा दिया था बैन

केरल हाई कोर्ट ने भी सुनाया श्रीशंत के क्रिकेट करियर पर सुनाया अंतिम फैसला 2

आपको बता दे, भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज एस श्रीसंत ने उस वक्त केरल के हाइकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, जब बीसीसीआई ने उनपर मैच फिक्सिंग के आरोप के कारण सभी प्रारुपों के क्रिकेट से उनको बैन करते हुए लाइफ टाइम बैन कर दिया।

Image result for BCCI

जिसके बाद हाइकोर्ट के सिंगलजज द्वारा सुनाये गए फैसले में एस श्रीसंत के लिए राहत की खबर सुनायी थी, जब कोर्ट ने बीसीसीआई के आदेश को रद्द करते हुए उनपर लगे आजीवन प्रतिंबध को खत्म करने का आदेश दे दिया।

केरल हाईकोर्ट ने मानी बीसीसीआई की अपील

Image result for BCCI KERALA HIGH COURT

 

आपकों बता दें, 34 साल के तेज गेंदबाज एस श्रींसत पर स्पाॅट फिक्सिंग के आरोप के बाद लगे आजीवन प्रतिबंध को  एकल पीठ ने हटा दिया था। इसके बाद खंडपीठ ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा था कि, क्रिकेट के खिलाफ प्राकृतिक न्याय का उल्लंघन नहीं हुआ है,जिसके बाद श्रीसंत के पक्ष में आए एकल पीठ के आदेश को रद्द कर दिया।

यह फैसला बीसीसीआई के लिए फायदेमंद हो सकता है, जिसने इस क्रिकेटर पर प्रतिबंध लगाने के लिए केरल हाईकोर्ट में अपील की थी।

स्पाॅट फिक्सिंग का आरोपी था यह क्रिकेटर-

केरल हाई कोर्ट ने भी सुनाया श्रीशंत के क्रिकेट करियर पर सुनाया अंतिम फैसला 3

गौरतलब है कि, साल 2013 में हुये इंडियन प्रीमियर लीग के दौरान टीम इण्डिया के तेज गेदबाज एस श्रीसंत मैच फिंक्सिंग के आरोप में फंस गए। जिसके बाद बीसीसीआई ने अनुशात्मक कमेटी बनाकर इस पूरे प्रकरण के जांच के आदेश दे दिए।

लम्बे चले जांच के बाद अन्त में भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने श्रीसंत पर क्रिकेट खेल को बदनाम करने और स्पाॅट फिक्सिंग मे लिप्त का दोषी मानते हुए क्रिकेट के सभी अर्न्तराष्ट्रीय और राष्ट्रीय खेल से आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था, साथ ही क्रिकेट खेल से जुड़े किसी भी अन्य पद पर नियुक्ति नहीं करने का आदेश दिया था।

 

Related posts

Leave a Reply