IPL 2021: हार के बाद सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान और कोच ने रोया डेविड वार्नर का रोना, कही ये बात 1

सनराइजर्स हैदराबाद के नए कप्तान केन विलियमसन का मानना है उनके पूर्ववर्ती डेविड वार्नर के अंतिम-11 में खेलने के बारे में बातचीत जारी है, क्योंकि ऑस्ट्रेलिया का यह खिलाड़ी विश्वस्तरीय है। सनराइजर्स हैदराबाद ने केन विलियमसन को टीम का कप्तान बनाया है, जबकि डेविड वार्नर जैसे खिलाड़ी को सिर्फ कप्तानी से ही नहीं, बल्कि प्लेइंग इलेवन से भी बाहर कर दिया है।

हमें अपनी रणनीति पर काम करना जरूरी: विलियमसन

IPL 2021: हार के बाद सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान और कोच ने रोया डेविड वार्नर का रोना, कही ये बात 2

विलियमसन ने कहा,

“टीम में कई नेतृत्वकर्ता हैं। यह जरूरी है कि हम अच्छा करें। हमारे लिए टीम के तौर पर सामंजस्य बैठाना जरूरी है। टीम को रणनीतियों और उसे मैदान पर उतारने को लेकर साफ रहना होगा।”

उन्होंने कहा,

“जीत के लिए जरूरत से ज्यादा आतुर होने की जगह हमें इस बात पर ध्यान देना होगा कि हमें कैसे आगे बढ़ना है। वार्नर विश्वस्तरीय खिलाड़ी हैं और हम कई विकल्पों पर चर्चा कर रहे हैं। मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि इस बारे में काफी चर्चा होगी।”

विलियमसन ने माना कि राजस्थान से मिले लक्ष्य का पीछा करना हमेशा मुश्किल होता। उन्होंने कहा,

“यह हमारे लिए मुश्किल दिन रहा और राजस्थान ने हमें काफी प्रतिस्पर्धी लक्ष्य दे दिया था। जोस बटलर का दिन था, वह शानदार थे। हमें बल्लेबाजी में कुछ सुधार करने की जरूरत है, जब आप 220 रन के लक्ष्य का पीछा करते हैं और लगातार विकेट गिरते हैं तो यह और मुश्किल हो जाता है। जोस और संजू (सैमसन) उनकी टीम के महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं, ऐसे में हम चाहते थे कि राशिद उन्हें ज्यादा गेंदबाजी करें।”

वार्नर को बाहर रखना काफी मुश्किल फैसला : बेलिस

IPL 2021: हार के बाद सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान और कोच ने रोया डेविड वार्नर का रोना, कही ये बात 3

सनराइजर्स हैदराबाद के मुख्य कोच ट्रेवर बेलिस ने रविवार को कहा कि डेविड वार्नर को अंतिम-11 से बाहर करना मुश्किल फैसला था, लेकिन आइपीएल के मौजूदा सत्र में टीम के खराब प्रदर्शन के कारण प्रबंधन को एक अलग संयोजन आजमाने के लिए मजबूर होना पड़ा।

बेलिस ने कहा,

“यह काफी मुश्किल (वार्नर को अंतिम एकादश से बाहर रखना) था। वह ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने टीम के लिए कई सफलता हासिल की हैं, लेकिन हम दूसरे संयोजन को आजमाना चाहते थे। टीम से बाहर किए जाने वाले किसी अन्य खिलाड़ी की तरह वार्नर भी निराश थे। अगर आप ने देखा होगा तो वार्नर 12वें खिलाड़ी के तौर पर टीम के लिए जो कर सकते थे, वह कर रहे थे। वह अच्छी स्थिति में हैं और केन (विलियमसन) और दूसरे खिलाडि़यों से बात कर उन्हें सलाह दे रहे थे।”