SRH vs KXIP: 'मजा ला देता है युवी को शॉट लगाते देखना' | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

SRH vs KXIP: ‘मजा ला देता है युवी को शॉट लगाते देखना’ 

SRH vs KXIP: ‘मजा ला देता है युवी को शॉट लगाते देखना’

क्रिकेट डेस्‍क। सनराइजर्स हैदराबाद ने रविवार को आईपीएल-9 में किंग्स इलेवन को 7 विकेटों से हराते हुए प्लेऑफ में प्रवेश किया। किंग्स इलेवन ने हाशिम अमला की उम्दा बल्लेबाजी (96) से 4 विकेट पर 179 रन बनाए। जवाब में सनराइजर्स ने कप्तान डेविड वॉर्नर (52) के अर्द्धशतक से 2 गेंद शेष रहते 3 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल किया। सनराइजर्स ने 12 मैचों से 16 अंकों के साथ अंक तालिका में शीर्ष पर पहुंचते हुए प्लेऑफ में पहुंचने वाली पहली टीम बनने का श्रेय हासिल किया। किंग्स इलेवन 12 मैचों से 8 अंकों के साथ प्लेऑफ की होड़ से बाहर हो गया। आइए नजर डालते है कि मैच के बाद किसने क्‍या कहा-

SRH vs KXIP: 'मजा ला देता है युवी को शॉट लगाते देखना' 1

मैच के बाद वॉर्नर बोले, ‘गेंदबाजों के प्रदर्शन के बाद मैं थोड़ा चिंतित हो गया था। हमने सोचा था कि पंजाब को 160-165 रन का स्‍कोर आदर्श होगा। इस बात का श्रेय हाशिम अमला को देना चाहिए, उन्‍होंने बेहतरीन पारी खेली। विकेट खराब नहीं था, थोड़ा धीमा जरूर था, इसलिए गेंदबाजों को परिस्थिति से तालमेल बैठाने में तकलीफ आ रही थी।’

वॉर्नर ने युवा दीपक हूडा और अनुभवी बल्‍लेबाज युवराज सिंह की जमकर तारीफ की। उन्‍होंने कहा, युवराज और दीपक हूडा ने शानदार पारी खेली। उन्‍होंने तीसरे क्रम पर उतरकर अपना शानदार प्रदर्शन किया। वहीं भारत के लिए कई मैच जीत चुके युवराज ने बेहतरीन अंदाज में मैच समाप्‍त किया। युवराज के बल्‍ले से निकले शॉट देखने में काफी मजा आया

मैच में 96 रन की पारी खेलने वाले किंग्‍स इलेवन पंजाब के ओपनर हाशिम अमला को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया। अवॉर्ड लेने के बाद अमला बोले, ‘रन बनाकर प्रशन्‍न हूं, लेकिन टीम की हार से दुखी हूं। युवराज ने शानदार पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई। आईपीएल में पहले अच्‍छा प्रदर्शन नहीं किया था, इसलिए आज रन बनाकर काफी अच्‍छा महसूस कर रहा हूं। मैन ऑफ द मैच बनकर खुश हूं। मगर उम्‍मीद है कि अगले मैचों में हम जीत दर्ज कर पाएं।’

अमला ने साथ ही कहा कि टी-20 क्रिकेट में आपको अपनी बल्‍लेबाजी की स्‍टाइल बदलना भी पड़ जाती है। उन्‍होंने कहा, ‘इसमें कोई संदेह नहीं कि आपको टी-20 में अलग तरह से खेलना होता है। आपको जोखिम उठाने के लिए तैयार रहना पड़ता है। कभी यह आपके लिए कारगर साबित हो जाती है तो कभी आप फेल हो जाते हैं।’

Related posts