10 साल बाद पाकिस्तान में लौटेगा टेस्ट क्रिकेट, यह टीम जल्द कर सकती है दौरा 1

खिलाड़ि‍यों की आपत्ति को दरकिनार करते हुए श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने अपनी राष्ट्रीय क्रिकेट टीम को लाहौर भेजने की इजाजत दे दी है. यहां पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच तीसरा और अंतिम टी-20 मैच खेला जाएगा. बोर्ड ने कोलंबो में अपनी कार्यकारी समिति से इस मुद्दे पर चर्चा के बाद यह फैसला सुनाया. पर अब श्रीलंका क्रिकेट जल्द ही पाकिस्तान में एक सुरक्षा विशेषज्ञ को भेजेगा, ताकि वहां की स्थिति का आकलन करने से पहले वह राष्ट्रीय टीम को देश में भेज सके.

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने लिया यह फैसला

श्रीलंका

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के आधिकारिक सूत्रों ने गुरुवार को प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया को स्पष्ट किया कि श्रीलंका को अभी यह फैसला करना है कि इस साल सितंबर-अक्टूबर में दो आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप मैचों के लिए लाहौर और कराची में अपनी टीम भेजनी है या नहीं.

सूत्रों ने कहा कि,

“पीसीबी उनके संपर्क में है और उनसे अपने सुरक्षा विशेषज्ञ भेजने को कहा है ताकि हम उनके सामने एक प्रेजेंटेशन बना सकें और वह अपने लिए स्वतंत्र रूप से जज कर सकें कि पाकिस्तान में सुरक्षा की स्थिति क्या है.”

उन्होंने कहा कि पीसीबी ने श्रीलंका बोर्ड को सूचित किया था कि वे कराची और लाहौर में खेले गए दो आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप मैच चाहते हैं.

10 साल बाद पाकिस्तान में लौटेगा टेस्ट क्रिकेट, यह टीम जल्द कर सकती है दौरा 2

पहले यह हुआ था श्रीलंकाई टीम के साथ

श्रीलंका

मार्च 2009 में लाहौर में गद्दाफी स्टेडियम के पास श्रीलंकाई टीम की बस पर हमला किया गया था, जिसके कारण पाकिस्तान को अंतर्राष्ट्रीय परीक्षण स्थल के रूप में अलग कर दिया गया था.

2009 के बाद से पाकिस्तान को संयुक्त अरब अमीरात में या अन्य तटस्थ स्थानों पर अपने सभी घरेलु टेस्ट खेलने के लिए बोला गया था क्योंकि दूसरी टीमों ने सुरक्षा कारण से वहां जाने से मना कर दिया है.

श्रीलंका बोर्ड ने अपनी टीम को पिछले अक्टूबर 2017 में लाहौर में एक टी 20 अंतरराष्ट्रीय मैच के लिए भेजा था जो संयुक्त अरब अमीरात में खेली गई घरेलू श्रृंखला का हिस्सा था.

श्रीलंका से पहले यह टीमें भी कर चुकी है पाकिस्तान में खेलने से मना

10 साल बाद पाकिस्तान में लौटेगा टेस्ट क्रिकेट, यह टीम जल्द कर सकती है दौरा 3

पिछले वर्ष वेस्टइंडीज ने भी पिछले साल मार्च-अप्रैल में कराची में तीन टी 20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले थे. इसके बाद भी   टीमों ने लंबे दौरे या पाकिस्तान में एकदिवसीय और टेस्ट मैच खेलने से परहेज किया है.

पीसीबी ने इस साल की शुरुआत में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के साथ विरोध दर्ज कराया था कि उसने स्थिति की समीक्षा करने के लिए अपने सुरक्षा विशेषज्ञ को भेजे बिना ही संयुक्त अरब अमीरात में पाकिस्तान के खिलाफ अपनी एकदिवसीय श्रृंखला खेलने पर निर्णय लिया.

पाकिस्तान के विरोध के परिणामस्वरूप, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी अक्टूबर में कुछ समय के लिए लाहौर जाने वाले हैं.