इस साल के जून-जुलाई महीने में इंग्लैंड दौरे पर श्रीलंका क्रिकेट टीम के तीन खिलाड़ियों पर बैन लगाया गया था। बायो बबल का उल्लंघन करने वाले तीन खिलाड़ियों को कड़ी सजा दी गई थी, जिसमें कुसल मेंडिस, निरोशन डिकवेला, और दनुष्का गुणाथिलका का नाम शामिल था। तीनों क्रिकेटरों पर इंटरनेशनल क्रिकेट से एक साल का प्रतिबंध और घरेलू क्रिकेट पर छह महीने का प्रतिबंध लगाया गया था। लेकिन अब ये तीनों खिलाड़ी 3 महीने के बाद घरेलू क्रिकेट में खेल सकते हैं।

भरनी होगी जुर्माने की भारी रकम

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के सेक्रेटरी मोहन डा सिल्वा ने कन्फर्म किया है कि इन सभी से अब घरेलू क्रिकेट का बैन हटा दिया गया है। बोर्ड ने बायो-बबल उल्लंघन के लिए उन पर एक करोड़ श्रीलंकाई रुपये का जुर्माना लगाया था।

डेली मेल के साथ बातचीत करते हुए डी सिल्वा ने कहा कि,

“तीनों क्रिकेटरों को घरेलू क्रिकेट में अपनी-अपनी टीमों के लिए खेलने की अनुमति दी जाएगी, बशर्ते कि उन्होंने अपना जुर्माना अदा किया हो। हम मंत्रालय को सूचित करेंगे कि हम उन्हें जुर्माना अदा करने की शर्त पर क्रिकेट खेलने की अनुमति दी जाए।”

इसलिए लगा था बैन

दरअसल, यह मामला सामने जब आया तब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहे एक वीडियो में श्रीलंकाई टीम के ये तीनों खिलाड़ी रात के वक्त अपने होटल से बाहर घूमते दिख रहे थे। जिसके बाद बायो-बबल के उल्लंघन का आरोप लगाया गया। इस मामले में श्रीलंकाई बोर्ड ने जांच शुरू कर दी थी और बड़ा फैसला लेते हुए इन तीनों खिलाड़ियों को सस्पेंड किया और बाद में इन पर बैन लगाया।