स्टीव स्मिथ के बचाव में उतरे सचिन तेंदुलकर कहा कि स्मिथ के पास जटिल बल्लेबाजी

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

सचिन तेंदुलकर ने किया स्टीवन स्मिथ पर रिसर्च, बताया कैसे जड़ रहे हैं लगातार शतक 

सचिन तेंदुलकर ने किया स्टीवन स्मिथ पर रिसर्च, बताया कैसे जड़ रहे हैं लगातार शतक

एशेज सीरीज में भले ही स्टीव स्मिथ ने ऑस्ट्रेलिया के लिए कई शानदार पारी खेली है, इसके बाद भी उनकी आलोचना हो रही है, इसके बाद उनके बचाव में उतरे उनके पूर्व कोच  ट्रेंट वुडहिल ने बातों – बातों में भारतीय टीम पर भी तंज कस दिया है. स्टीव स्मिथ को अपनी बल्लेबाजी तकनीकी की वजह से काफी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में अब सचिन तेंदुलकर भी उनके पक्ष में उतर आए हैं.

सचिन तेंदुलकर ने किया स्टीवन स्मिथ पर रिसर्च, बताया कैसे जड़ रहे हैं लगातार शतक 1

टेस्ट क्रिकेट में स्टीव स्मिथ ने की शानदार वापसी

स्टीव स्मिथ

एक साल के बैन के बाद  भी स्मिथ ने इतनी शानदार तरीके से टेस्ट क्रिकेट में वापसी की है कि अब सब हैरान है, उनको देख कर ऐसा लगता ही नहीं है कि वह एक साल तक क्रिकेट से दूर रहे हैं. आते ही आते उन्होंने भारतीय कप्तान विराट कोहली के बहुत से रिकॉर्ड तोड़ दिए और उनसे आगे निकल गए हैं.

स्मिथ ने टेस्ट क्रिकेट में एक शानदार वापसी की है. जिसमें उन्होंने 110 की औसत से सात पारियों में 774 रन बनाए. उन्होंने तीन शतक और कई अर्धशतक जड़े, जिससे ऑस्ट्रेलिया की एशेज ट्रॉफी को बनाए रखने में मदद मिली.

सचिन तेंदुलकर ने स्मिथ का लिया पक्ष

स्टीव स्मिथ

स्टीव स्मिथ की बल्लेबाजी शैली पर टिप्पणी करते हुए, भारत के पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने कहा है कि ऑस्ट्रेलिया के पास एक शानदार खिलाड़ी है जिसके पास एक संगठित मानसिकता है.

सचिन ने यह भी कहा कि इंग्लैंड के खिलाड़ी स्मिथ को फंसाने के लिए और उनका विकेट लेने के लिए स्लिप और गली लगा रहे थे जिसके कारण स्मिथ ने ऐसे शॉट का चयन किया.

सचिन ने आईसीसी से कहा कि,

“ऑस्ट्रेलिया के 30 वर्षीय खिलाड़ी के पास भले ही एक जटिल तकनीक हो लेकिन बेहद संगठित मानसिकता है. पहले मैच में इंग्लैंड के गेंदबाजों ने उन्हें स्लिप के द्वारा उनके विकेट को पकड़ने की कोशिश की जिसकी वजह से स्मिथ बार बार बैकफुट पर जा कर खेल रहे थे. जोफ्रा आर्चर की गेंदबाजी और छोटी पिच के कारण उनको परेशानी हुई क्योंकि वह बैकफुट पर खेलने के साथ लाइन को कवर करने की कोशिश कर रहे थे.”

 

Related posts

1 Comment

Comments are closed.