भारतीय अंडर-19 टीम के खिलाड़ी आर्यन जुआल का इस तरह का रहा है बचपन

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

जाने विश्वविजेता टीम के खिलाड़ी आर्यन जुआल की कहानी, उनके डॉक्टर पिता की जुबानी 

जाने विश्वविजेता टीम के खिलाड़ी आर्यन जुआल की कहानी, उनके डॉक्टर पिता की जुबानी

भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम ने न्यूजीलैंड की मेजबानी में खेले गए आईसीसी अंडर-19 क्रिकेट विश्वकप में जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए खिताब पर कब्जा किया। भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम ने खिताबी मुकाबलें में ऑस्ट्रेलिया की अंडर-19 टीम को 8 विकेट से पटखनी दी। भारतीय टीम के इन युवा सितारों ने पूरे टूर्नामेंट में एक शानदार खेल का प्रदर्शन किया।

जाने विश्वविजेता टीम के खिलाड़ी आर्यन जुआल की कहानी, उनके डॉक्टर पिता की जुबानी 1

विश्वविजेता आर्यन जुयाल के बारे में जाने

जब भारतीय युवा सितारों ने देश को गौरव के पल का अहसास कराया है तो फैंस के मन में इन युवा खिलाड़ियों के बारे में जानने की उत्सुकता तो जरूर होगी कि आखिर कैसे इन खिलाड़ियों ने अपने करियर में संघर्ष कर यहां तक का सफर किया। तो इन्हीं में से आज हम आपको भारतीय टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज आर्यन जुआल के बारे में बताते हैं।

जाने विश्वविजेता टीम के खिलाड़ी आर्यन जुआल की कहानी, उनके डॉक्टर पिता की जुबानी 2

आर्यन को 6 साल की उम्र से ही क्रिकेट में थी दिलचस्पी

भारतीय अंडर-19 टीम के खिलाड़ी आर्यन जुयाल उत्तराखंड के हल्द्वानी के रहने वाले हैं। आर्यन के माता-पिता दोनों ही डॉक्टर्स हैं। आर्यन जुयाल के क्रिकेट को लेकर उनके पिता डॉ. संजय जुयाल ने बताया कि “6 साल की उम्र से ही आर्यन की क्रिकेट के प्रति दीवानगी देखने को मिलती थी। वो घर में रखी चीजों को बैट के अंदाज में चलाता था। क्रिकेट के अलावा उसे कोई खेल पसंद ही नहीं था। थोड़ा बड़ा हुआ और देखा कि वो स्टेट फ़ॉरवर्ड बल्ले से अच्छा खेलता है तो लगा कि अच्छा क्रिकेट खेल सकता है।”

जाने विश्वविजेता टीम के खिलाड़ी आर्यन जुआल की कहानी, उनके डॉक्टर पिता की जुबानी 3

हमेशा ही गेंदबाजी करने के लिए नर्सिंग होम के स्टाफ को करने लगा परेशान

इसके साथ ही डॉ संजय ने आगे बताया कि “आर्यन मेरे नर्सिंग होम के स्टाफ से गेंदबाजी करने के लिए बोलता था। उसे देख सभी लोग छिपने की कोशिश करते थे कि वो गेंदबाजी के लिए बोलेगा। हमने जब उसका रूझान इस ओर देखा तो उसे क्रिकेट के लिए 7 साल में ही अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी में एडमीशन करवा दिया। उसकी लगन को देखकर ही उसे क्रिकेट के लिए प्रोत्साहित किया।”

जाने विश्वविजेता टीम के खिलाड़ी आर्यन जुआल की कहानी, उनके डॉक्टर पिता की जुबानी 4

धूप में खेलने से सांवला रंग होने से हुए चिंतित

डॉ संजय ने आगे कहा कि “शुरूआत में जब आर्यन सीख रहा था तो वो बहुत मेहनत करता था। गर्मी के दिन थे और वो क्रिकेट खेल घर आया। तो मैंने उसे देखा तो देखने में बहुत सांवला होता जा रहा था। मुझे बड़ा दुख हुआ कि हम लोग घर में एसी में बैठे रहते हैं और हमारा इकलौता बेटा कड़ी धूप में प्रैक्टिस कर सांवला होता जा रहा है। लेकिन एक उम्मीद थी कि ये मेहनत एक दिन रंग लाएगी और उसके सपने साकार होंगे”

जाने विश्वविजेता टीम के खिलाड़ी आर्यन जुआल की कहानी, उनके डॉक्टर पिता की जुबानी 5 जाने विश्वविजेता टीम के खिलाड़ी आर्यन जुआल की कहानी, उनके डॉक्टर पिता की जुबानी 6

Related posts

Leave a Reply