झारखंड के इस दिग्गज की लम्बे समय से आर्थिक मदद कर रहे हैं सुनील गावस्कर, आज मिलते ही लगाया गला | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

झारखंड के इस दिग्गज की लम्बे समय से आर्थिक मदद कर रहे हैं सुनील गावस्कर, आज मिलते ही लगाया गला 

झारखंड के इस दिग्गज की लम्बे समय से आर्थिक मदद कर रहे हैं सुनील गावस्कर, आज मिलते ही लगाया गला

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच इन दिनों देश में बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी खेली जा रही हैं. जहाँ भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और टेस्ट क्रिकेट में सबसे पहले 10,000 रन बनाने वाले बल्लेबाज़ सुनील गावस्कर मौजूदा टेस्ट श्रृंखला में अपनी शानदार कमेंटरी से सभी का दिल जीत रहे हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दे, कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला का तीसरा मुकाबला रांची के जेएससीए, स्टेडियम में खेला जा रहा हैं. चैंपियंस ट्राफी के लिए भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावसकर ने बताये यह दो नाम

शनिवार (18 मार्च) को रांची टेस्ट मैच के तीसरे दिन का खेल खेला गया. इस दौरान मैच में कमेंटरी कर रहे सुनील गावस्कर की मुलाकात एक ऐसे शख्स से हुई, जिससे मिलने के लिए सुनील गावस्कर लम्बे समय से तरस रहे थे.

दरअसल रांची के मैदान में सुनील गावस्कर से मिलने झारखंड के गोपाल भेंगरा पहुंचे. अब आप यह जरुर सोच रहे होगे, कि यह गोपाल भेंगरा कौन हैं और उनका सुनील गावस्कर के साथ क्या रिश्ता हैं. चलिए आपकों बताते हैं…

दरअसल यह वही गोपाल भेंगरा हैं, जिनकी सुनील गावस्कर पिछले लम्बे समय से आर्थिक सहायता कर रहे हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दे, कि गोपाल भेंगरा हमारे देश के पूर्व अंतराष्टीय हॉकी खिलाड़ी हैं. गोपाल भेंगरा झारखण्ड में रहते हैं. ओएन मॉर्गन को हमेशा से ही कम आँका जाता हैं : सुनील गावस्कर

साल 1978 के ब्यनूस आयर्स में खेले गये तीसरे हॉकी विश्वकप में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करने वाले गोपाल भेंगरा ने सुनील गावस्कर से मिलकर उन्हें गले लगाया और गावस्कर द्वारा की जा रही आर्थिक मदद के लिए शुक्रिया भी अदा किया.

गोपाल भेंगरा ने कहा, कि ‘‘सुनील गावस्कर मिलकर अपनी ख़ुशी को बयान नहीं कर सकता.”

गौरतलब हैं, कि सुनील गावस्कर पिछले काफी सालों से गोपाल भेंगरा के परिवार की आर्थिक मदद कर रहे हैं. सुनील गावस्कर की और से गोपाल भेंगरा के परिवार हर महीने साढ़े सात हजार रूपये की मासिक सहायता दी जा रही हैं. सुनील गावस्कर ने वनडे सीरीज के बाद इस खिलाड़ी को बताया भारतीय टीम का अनमोल रत्न

झारखंड के खूंटी जिला में जन्मे गोपाल भेंगरा ने साल 1975 से 1985 के बीच देश के लिए हॉकी खेली थी. यही नहीं गोपाल पश्चिम बंगाल की टीम के कप्तान भी रहे हैं. साल 1986 शारीरिक कारणों की वजह से गोपाल ने हॉकी खेलना छोड़ दिया था और अपने गाँव लौट गये थे.

मगर सेना में नौकरी करने के बाद भी किसी कारणवश भेंगरा को पेंशन नहीं मिली. यही कारण रहा, कि सुनील गावस्कर एक लम्बे समय से गोपाल के परिवार को आर्थिक सहायता कर रहे हैं. कोहली ने गावस्कर को छोड़ा पीछे

Related posts