सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को लगाई जमकर फटकार, साथ ही तीन अधिकारियों को भेजा ‘कारण बताओ नोटिस’ | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को लगाई जमकर फटकार, साथ ही तीन अधिकारियों को भेजा ‘कारण बताओ नोटिस’ 

सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को लगाई जमकर फटकार, साथ ही तीन अधिकारियों को भेजा ‘कारण बताओ नोटिस’

सुप्रीम कोर्ट ने लोढ़ा समिति द्वारा क्रिकेट सुधारों को लेकर दिये गये सिफारिशों को लागू नहीं करने की वजह से एक बार फिर बीसीसीआई की जमकर आलोचना की। इसके साथ ही भारतीय क्रिकेट बोर्ड के तीन अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस भी जारी करते हुए 19 सिंतबर तक अदालत में पेश होने को कहा है।

सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई के उच्च पदाधिकारियों को भेजा नोटिस-

सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को लगाई जमकर फटकार, साथ ही तीन अधिकारियों को भेजा ‘कारण बताओ नोटिस’ 1

 

भारतीय क्रिकेट बोर्ड के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना, सचिव अमिताभ चौधरी और कोषा अध्यक्ष अनिरूद्द चौधरी को ‘कारण बताओ नोटिस’ जारी करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इन तीनों वरिष्ठ अधिकारियों को अगली सुनवाई 19 सिंतबर तक अदालत में पेश होना पडेगा।

सीओए ने भी सौपी रिपोर्ट-

सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को लगाई जमकर फटकार, साथ ही तीन अधिकारियों को भेजा ‘कारण बताओ नोटिस’ 2

इसके पहले क्रिकेट प्रशासक समिति ने भी एक रिपोर्ट अदालत को सौपी थी, जिसने बीसीसीआई पर लोढ़ा समिति द्वारा की गयी सिफारिशों को लागू नहीं करने का आरोप लगाया था। इसके अलावा सीओए ने क्रिकेट बोर्ड के उच्च पदाधिकारियों को उनके पद से हटाने की मांग भी कर डाली थी।

लोढ़ा समित ने भी जताई थी कड़ी नाराजगी-

सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को लगाई जमकर फटकार, साथ ही तीन अधिकारियों को भेजा ‘कारण बताओ नोटिस’ 3

आपको बता दे, इसके पहले लोढ़ा कमेटी ने भी बीसीसीआई की आलोचना करते हुए कहा था कि, “बीसीसीआई कोर्ट की अवमानना कर रही है। उन्हें भारत के सर्वोच्च अदालत का सम्मान करना चाहिए।सुप्रीम कोर्ट ने भारत के क्रिकेट को सुधार लाने के लिए न्यायमूर्ति आर एम लोढ़ा के तहत एक समिति बनायी थी, जिसका काम खेल को और सुधार के लिए सुझाव देना था।”

बीसीसीआई और लोढ़ा समिति में चल रही खींचतान-

सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को लगाई जमकर फटकार, साथ ही तीन अधिकारियों को भेजा ‘कारण बताओ नोटिस’ 4

बीसीसीआई और लोढ़ा पैनल के बीच पहले से ही कई मुद्दों पर खींचतान चल रही थी। जिसमें कुछ विवादित फैसलों पर बीसीसीआई पूरी तरह से लोढ़ा समिति को मानने से इनकार करना चाह रही है।

इन फैसलों में एक विवादित फैसला था जिसमें लोढा समिति ने ‘एक राज्य, एक वोट’,‘ एक व्यक्ति, एक पद’,  और ब्रेक की अवधि जैसे विवादित फैसले  को लेकर सुझाव दिए हुए थे। इस तरह के फैसलों पर बीसीसीआई ने यह कहते हुए मानने से इनकार कर रही है। इससे खेल में सुधार होने के बजाय क्रिकेट के राजस्व के अलावा कई चाजों पर क्षति पहुंचेगी।

Related posts