क्रिकेट जगत के लिए पहेली बने सुरेश रैना

भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी सुरेश रैना ने अब तक 18 टेस्ट मैच और 222 वनडे मैच खेल चुके हैं, लेकिन आज भी वो क्रिकेट जगत के पहेली बने हुए हैं| रैना जब आईपीएल के उपरी क्रम में चेन्नई सुपर किंग के लिए खेलने उतरते हैं तो उनके फॉर्म का कोई सानी नहीं होता है| लेकिन भारतीय टीम में उन्हें उपरी क्रम में जगह नहीं मिल रही है, और उन्हें छठे क्रम में उनके लिए ज्यादा रन बनाना आसान नहीं होता| इसलिए अगर हम उनके बल्लेबाजी आंकड़ो को देखें तो वो एक पहेली नजर आते हैं| 

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच चल रहे वनडे सीरीज में सुरेश रैना ने तीन मैचों में 3, 0, 0, पर आउट हो गए| लेकिन उन्होंने चौथे मैच में अच्छी बल्लेबाजी करते हुए 53 रन बनाए और विराट कोहली के साथ मिलकर अच्छी साझेदारी भी निभाई|

 

क्रिकेट आंकड़ों के जानकार विकास लूथरा ने कहा है कि सुरेश रैना को भारत का डुमिनी या डुमिनी को दक्षिण अफ्रीका का रैना कहा जा सकता है| उन्होंने कहा कि इन दोनों का खेलने का अंदाज एक जैसा ही है| दोनों बाएं हाथ के आक्रमक बल्लेबाज हैं और दायें हाथ के ऑफ़ स्पिन गेंदबाज भी हैं| और दोनों ने तीसरे नंबर से लेकर आठवें नंबर तक बल्लेबाजी कर चुके हैं|

डुमिनी पिछले 11 सालों से अंतराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट खेल रहे हैं जबकि रैना पिछले 10 सालों से वनडे क्रिकेट खेल रहे हैं| डुमिनी ने 146 वनडे में 3937 रन बनाये हैं| और उन्होंने 50 विकेट के साथ 60 कैच भी पकड़े हैं| जबकि रैना ने 221 वनडे में 5503 रन बनये हैं| और 35 विकेट के साथ 99 कैच भी पकड़े हैं|

 

Related Topics