सुरेश रैना ने की महेंद्र सिंह धोनी के कप्तानी की तारीफ, कही ये बातें

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

सुरेश रैना ने 5 साल बाद किया खुलासा क्यों पाकिस्तान के खिलाफ विश्व कप 2015 में धोनी ने उनसे नंबर 4 पर कराई बल्लेबाजी 

सुरेश रैना ने 5 साल बाद किया खुलासा क्यों पाकिस्तान के खिलाफ विश्व कप 2015 में धोनी ने उनसे नंबर 4 पर कराई बल्लेबाजी

भारत और पाकिस्तान के बीच विश्व कप 2015 का एक ग्रुप मैच खेला गया था. इस मुकाबले को भारत की टीम ने अपने शानदार प्रदर्शन के चलते 76 रन के अंतर से जीत लिया था. विश्व कप 2015 में भारतीय टीम के लिए नंबर-4 पर अजिंक्य रहाणे बल्लेबाजी कर रहे थे. हालांकि पाकिस्तान के खिलाफ मैच के दौरान कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने रहाणे को नहीं बल्कि सुरेश रैना को नंबर-4 पर बल्लेबाजी के लिए भेज दिया था.

धोनी ने मुझे अचानक नंबर-4 पर जाने के लिए कहा

सुरेश रैना ने 5 साल बाद किया खुलासा क्यों पाकिस्तान के खिलाफ विश्व कप 2015 में धोनी ने उनसे नंबर 4 पर कराई बल्लेबाजी 1

सुरेश रैना ने एक यूट्यूब के दौरान अपने एक बयान में कहा, “मैंने महेंद्र सिंह धोनी के फैसलों पर कभी सवाल नहीं उठाया. मुझे याद है कि विश्व कप 2015 में पाकिस्तान के खिलाफ मैच के दौरान मै सैंडविच खा रहा था. 20 ओवर के बाद अचानक उन्होंने मुझे पैड-अप के लिए कहा था. विराट कोहली वास्तव में अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे, लेकिन शिखर धवन रन आउट हो गए थे. इसलिए उन्होंने मुझसे क्रीज पर जाने के लिए कहा, मैं क्रीज में गया, कुछ शॉट खेले और 70-80 रन बनाए.”

लेग स्पिनर की वजह से मुझे धोनी ने भेजा 

सुरेश रैना ने 5 साल बाद किया खुलासा क्यों पाकिस्तान के खिलाफ विश्व कप 2015 में धोनी ने उनसे नंबर 4 पर कराई बल्लेबाजी 2

धोनी के अचानक विचार बदलने के पीछे सुरेश रैना ने योजना का भी खुलासा किया, “मैच के बाद मैंने उनसे पूछा कि आपने मुझे आदेश क्यों भेजा? मुझे लगा कि आप उस समय लेग स्पिनर के खिलाफ बेहतर खेलेंगे, जो गेंदबाजी कर रहा था. उन्होंने मेरी बल्लेबाजी के लिए मेरी तारीफ भी की, इसलिए मैं यह भी जानना चाहता था कि उनका दिमाग में क्या चल रहा था.”

धोनी हमेशा एक कदम आगे रहते हैं

सुरेश रैना ने 5 साल बाद किया खुलासा क्यों पाकिस्तान के खिलाफ विश्व कप 2015 में धोनी ने उनसे नंबर 4 पर कराई बल्लेबाजी 3

धोनी की प्रशंसा करते हुए सुरेश रैना ने कहा, “धोनी हमेशा एक कदम आगे रहते हैं. वह पूरे मैच के लिए स्टंप्स के पीछे खड़े रहते थे, पिच का आकलन करते थे, कि पिच पर कितना स्विंग है. वह शायद ही कभी गलत होते हैं, मैं कह सकता हूं कि उन्हें यह गॉड गिफ्टेड है.  बाद में जब मैं आईपीएल में गुजरात लायंस का कप्तान बना, तो उन्होंने मुझसे कहा आप कभी भी किसी भी सुझाव के लिए मेरे पास आ सकते हैं.”

Related posts