सुरेश रैना

पूर्व भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना को इंटरनेशनल क्रिकेट छोड़े हुए कई समय हो गया है. तो वहीं अब वो सोशल काम करते हुए नजर आते रहते हैं. उन्होंने ना जाने अभी तक कितने स्कूलों में शौचालय और पानी की सुविधाएं पहुंचाई हैं. इसी बीच को एक और बड़ा काम करने जा रहे हैं. जिसको जान कर आप भी उनकी तारीफ किए बिना नहीं रह पाएगे.

सुरेश रैना ने किया ये खूबसूरत काम

Suresh Raina: What happened to family in Punjab beyond horrible; deserve answers | Sports News,The Indian Express

टीम इंडिया के पूर्व धाकड़ बल्लेबाज सुरेश रैना ने उत्तर प्रदेश, जम्मू और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र ( एनसीआर ) के 34 स्कूलों में शौचालय और पीने के पानी की सुविधाएं मुहैया कराने का संकल्प लिया है. इस साल 15 अगस्त को ही उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया था.

रैना ने अपनी बेटी के नाम पर बने गैर सरकारी संगठन ( एनजीओ ) ग्रेसिया रैना फाउंडेशन ( जीआरएफ ) के सहयोग से 27 नवंबर को अपने 34वें जन्मदिन के मौके पर कई अच्छी गतिविधियां कराने का फैसला किया है. जो एक अच्छा फैसला माना जा रहा हैं.

उनकी मानी जाए तो इस पहल से स्कूलों में पढ़ने वाले 10 हजार से भी अधिक बच्चों को स्वास्थ और साफ़-सफाई की सुविधा मिलेगी. उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले रैना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान के भी दूत हैं.

रैना की वाइफ भी है इस फाउंडेशन की सह संस्थापक

On 34th birthday Suresh Raina to help 34 schools - Indus Scrolls

ग्रेसिया रैना फाउंडेशन की सह संस्थापक के रूप में सुरेश रैना की वाइफ प्रियंका रैना काम देख रही हैं. वहीं रैना के जन्मदिन के हफ्ते की शुरुआत गाजियाबाद के नूर सिहानी के गवर्नमेंट कंपोजिट मिडल स्कूल में काफी तरह की सुविधा देने पर काम हो चुका है.

जिसमें पीने के पानी की सविधा में सुधार, लड़के और लड़कियों के लिए अलग शौचालय, हाथ धोने की व्यवस्था, बर्तन धोने की जगह और सपोर्ट कक्षा का उद्घाटन करके की. उनके इस कदम से स्कूल के सभी बच्चों को काफी मदद मिलेगी.

यह ग्रेसिया रैना फाउंडेशन और युवा अनस्टॉपेबल की संयुक्त परियोजना का हिस्सा है. सुरेश रैना और प्रियंका ने इस दौरान कमजोर तबके की 500 महिलाओं को राशन किट भी दी. जिससे उन्हें काफी मदद मिली हैं और रैना का फाउंडेशन का काम करेगी.

सुरेश रैना ने कही ये बात

The Slow Interview with Suresh Raina: All about the moments that make a cricketer - Gaonconnection | Your Connection with Rural India

टीम इंडिया के पूर्व धाकड़ खिलाड़ी सुरेश रैना ने कहा कि

“इस पहल के साथ अपने 34वें जन्मदिन का जश्न मनाने से मुझे काफी ख़ुशी मिली है. प्रत्येक बच्चे को अच्छी शिक्षा का अधिकार है जिसमें स्कूलों में साफ़ और सुरक्षित पीने का पानी और शौचालय की व्यवस्था भी शामिल है.”