जब T-20 Match के दौरान दो टीमों के खिलाड़ी और फैंस मैदान पर आपस में भिड़ गए, इंडियन क्रिकेट की हुई किरकिरी 1

आज t-20 match में हुए एक ऐसी कहानी के बारे में चर्चा होने वाली हैं जिसने क्रिकेट को शर्मसार कर दिया हैं। क्रिकेट को वैसे तो एक gentleman game माना गया गया हैं लेकिन यह कहानी 2012 की हैं जिसमें एक t-20 match के दौरान दो टीमों के खिलाड़ी मैदान में ही आपस में भिड़ गये और फिर जो हुआ उसके बारे में सुनकर आप हैरान रह जायेगें। चलिए जानते हैं पूरी कहानी।

t-20 Match में हुआ विवाद

जब T-20 Match के दौरान दो टीमों के खिलाड़ी और फैंस मैदान पर आपस में भिड़ गए, इंडियन क्रिकेट की हुई किरकिरी 2

यह कहानी 2012 की हैं जहां राजस्थान में उदयपूर के मिराज ग्राउंड में एक t-20 match खेला जा रहा था। यह मैच कोई ऐसा वैसा मैच नहीं था, इस मैच में रणजी खेलने वाले खिलाड़ी भी खेल रहें थे। राजस्थान के तरफ से रणजी में खेलने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज निखिल डोरू बल्लेबाजी कर रहें थे। निखिल डोरू ने राजस्थान के लिए 66 फर्स्ट क्लास मैच में 3159 रन बनाये जिसमें 7 शतक भी शामिल हैं।

निखिल डोरू का विकेट गिरने पर विरोधी दल के खिलाड़ी शमशेर सिंह ने निखिल को कुछ ऐसा कह दिया जिसे सुनकर दोनों ही खिलाड़ियों के बीच मैदान में ही बहस शुरू हो गई। इसी बीच शमशेर सिंह ने निखिल को धक्का मार दिया। यह नजारा देखकर अम्पायर और नॉन स्ट्राइक पर खड़े खिलाड़ी भी उनका बचाव करने आ गये। इसी बीच रणजी के एक और खिलाड़ी किशन चौधरी पीछे से आकर निखिर के सिर पर मुक्का मार दिया। यह नजारा देखकर दोनों ही टीम के खिलाड़ीं और फैंस मैदान पर ही आपस में भिड़ गयें।

t-20 match के दौरान मैदान पर आई पुलिस

जब T-20 Match के दौरान दो टीमों के खिलाड़ी और फैंस मैदान पर आपस में भिड़ गए, इंडियन क्रिकेट की हुई किरकिरी 3

निखिल डोरू, शमशेर सिंह और किशन चौधरी के बीच झगड़ा इस हद तक बढ़ गया था कि उनका बचाव करने के लिए पुलिस को भी मैदान पर आना पड़ गया। पुलिस मैदान पर आकर पहले तो झगड़े को रोका और फिर निखिल डोरू ने शमशेर सिंह और किशन चौधरी के खिलाफ केस दर्ज किया। इतना सब कुछ होने के बाद t-20 match को भी रद्द कर दिया गया।

राजस्थान में खेले गये इस t-20 match के दौरान हुए विवाद से gentleman game से जाना जाने वाला क्रिकेट शर्मसार हो गया और इस विवाद पर क्रिकेट पर दाग भी लगा।