प्रवीण तांबे बीसीसीआई के इस नियम के कारण नहीं खेल पाएंगे

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

प्रवीण तांबे बीसीसीआई के इस नियम के कारण नहीं खेल पाएंगे आईपीएल 2020 

प्रवीण तांबे बीसीसीआई के इस नियम के कारण नहीं खेल पाएंगे आईपीएल 2020

आईपीएल की नीलामी 19 दिसंबर 2019 को हुई थी. जहाँ पर कोलकाता नाईट राइडर्स की टीम ने सबसे उम्रदराज खिलाड़ी प्रवीण तांबे को खरीदा था. प्रवीण तांबे की उम्र मात्र 48 वर्ष की है. लेकिन अब बीसीसीआई के एक नियम के कारण वो आईपीएल 2020 का हिस्सा नहीं बन पाएंगे. जिससे कोलकाता नाईट राइडर्स को बड़ा झटका लग सकता है.

प्रवीण तांबे नहीं खेल पाएंगे आईपीएल 2020

प्रवीण तांबे

स्पिन गेंदबाज प्रवीण तांबे को आईपीएल 2020 की नीलामी में कोलकाता नाईट राइडर्स की टीम ने 20 लाख में ख़रीदा था. लेकिन अब उनके आईपीएल खेलने पर संशय बना हुआ है. जिसका सबसे बड़ा कारण है की बीसीसीआई के नियम को तोड़ते हुए नजर आ रहे हैं. तांबे ने अबुदाबी टी10 लीग खेली थी.

जिसके कारण अब वो बीसीसीआई के किसी भी लीग में हिस्सा नही ले सकते हैं. क्योंकि बीसीसीआई का नियम है की संन्यास लेने के बाद ही कोई भारतीय खिलाड़ी विदेशी लीग में खेलता हुआ नजर आ सकता है. जबकि संन्यास के पहले ही तांबे विदेशी लीग खेलते हुए नजर आ रहे थे. जिसके कारण उनका आईपीएल खेलना संदिग्ध है.

कोलकाता नाईट राइडर्स की टीम मुश्किल में

प्रवीण तांबे बीसीसीआई के इस नियम के कारण नहीं खेल पाएंगे आईपीएल 2020 1

शाहरुख़ खान के मालिकाना हक वाली टीम कोलकाता नाईट राइडर्स की टीम सीजन से पहले ही बड़ी मुश्किल में नजर आ रही है. पहले शिवम मावी पर 3 महीने का बैन लग गया है. उसके बाद नितीश राणा पर भी उम्र छुपाने के आरोप पर एक्शन लिया जा सकता है.

उनके साथ कमलेश नागरकोटी के फिटनेस पर भी लगातार सवाल उठ रहे हैं. अब इसी बीच प्रवीण तांबे का भी इस सीजन में ना खेलना टीम के लिए मुश्किले बढ़ाने वाला हो गया है. हालाँकि अब इस फ्रेंचाइजी को उनके विकल्प भी खोजने होंगे. जोकि बहुत ज्यादा मुश्किल होने वाला है.

ऐसा रहा है प्रवीण तांबे का आईपीएल करियर

प्रवीण तांबे

अब तक प्रवीण तांबे ने आईपीएल में 33 मैच खेले हैं. जिसमें उन्होंने 30.46 के औसत से 28 विकेट अपने नाम किया है. इस बीच उनकी इकॉनमी रेट 7.75 का रहा है. जबकि उनका स्ट्राइक रेट गेंद के साथ 23.57 का रहा है. इस सीजन में वो टीम के लिए प्रभावी भी साबित हो सकते थे. अब एक घरेलू स्टार स्पिन गेंदबाज मिलना बहुत मुश्किल नजर आता है.

Related posts