गुस्साए तमीम इकबाल ने ट्विटर पर निकाली अपनी भड़ास

बांग्लादेश क्रिकेट टीम के बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक तमीम इकबाल ने बांग्लादेश प्रीमियर लीग के फ्रेंचाइजी के ऊपर अपने पैरेन्ट्स को अपमानित करने का आरोप लगाया है| यह घटना चिटगांव वाइकिंग्स और सिलहट सुपर स्टार के बीच खेले गए मैच के दौरान हुई|

बांग्लादेश के सलामी बल्लेबाज ने कहा, कि लोगों को अपने देश के लिए खेलने वाले क्रिकेटरों का सम्मान करना चाहिए| लोगों के पास पैसा है इसका मतलब यह नहीं कि वो हमें (क्रिकेटरों को) भिखारी समझे| उन्हें हमें सम्मान देना चाहिए हम यहां क्रिकेट खेलने आए हैं| मैं यहां इसलिए नहीं आया कि वो मेरे मां बाप और मेरे परिवार को अपमानित करे|

उन्होंने आगे कहा कि मैंने उन्हें सम्मान देते हुए सर कहा, उनके सामने खड़ा हो कर अपनी बात कही लेकिन उन्होंने मेरे परिवार और मेरे मां-बाप को अपमानित किया है|

 

इस मामले की शुरुआत मैच से पहले ही हो गई थी| दोनों टीमों के बीच का यह मुकाबला निर्धारित समय से एक घंटा बाद शुरु हुआ| टूर्नामेंट के नियमों के अनुसार हर टीम में 4 विदेशी खिलाड़ी होने चाहिए लेकिन सिलहट की टीम में दो ही खिलाड़ी थे| हालांकि उनके टीम में नियमों के अनुसार खिलाड़ी तो चार थे लेकिन दोनों विदेशी खिलाड़ियों को अपने बोर्ड से एनओसी नहीं मिल पाया था| जिसके कारण टीम को लेकर अजीब स्थिति बनी रही| टीम और फ्रेंचाइजी के बीच बातचीत चलती रही और तमीम वहां से चले गए. इसके बाद ये पूरा मामला हुआ|

देखिये तमीम ने अपना गुस्सा कैसे ट्विटर पर उतारा………..

Related Topics