तातेंदा तैबू की है आईपीएल में कोच बनने पर नजरें

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

जिम्बाब्वे का ये खिलाड़ी बनना चाहता है आईपीएल कोच 

जिम्बाब्वे का ये खिलाड़ी बनना चाहता है आईपीएल कोच

विश्व क्रिकेट की सबसे बड़ी टी20 क्रिकेट लीग इंडियन प्रीमियर लीग एक ऐसा टी20 लीग बन चुका है जहां पूरे क्रिकेट जगत की नजरें इसमें किसी तरह से जुड़ने पर रहती हैं। आईपीएल का आगाज साल 2008 से शुरू हुआ और वहीं से इस हाई प्रोफाइल लीग में पूरे क्रिकेट जगत के बड़े से बड़े खिलाड़ियों ने खेलने में सफलता हासिल की है।

आईपीएल के इतिहास में जिम्बाब्वे से खेलने वाले तैबू हैं एकमात्र खिलाड़ी

तो इसी तरह से कई दिग्गजों ने कोचिंग या सपोर्टिंग स्टाफ के रूप में फ्रैंचाइजी के साथ जुड़कर इस लीग में अपनी उपस्थिति दर्ज करायी है। आज आईपीएल की हर टीम के पास सपोर्टिंग स्टाफ की बात करें तो कई विदेशी दिग्गज मिल जाते हैं।

जिम्बाब्वे का ये खिलाड़ी बनना चाहता है आईपीएल कोच 1

विश्व क्रिकेट के लगभग सभी नामी देशों के खिलाड़ियों ने आईपीएल में हिस्सा लिया है। इनमें से आईपीएल के 12 साल के इतिहास में जिम्बाब्वे से केवल एक खिलाड़ी ही खेल सके हैं और वो हैं जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान तातेंदा तैबू….

आईपीएल में कोच के रूप में अपना योगदान देना करूंगा पसंद- तैबू

जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज रहे तातेंदा तैबू आईपीएल में कोलकाता नाइट राईडर्स के लिए पहले सीजन में खेले हैं जिसके बाद से कोई जिम्बाब्वेनियन खिलाड़ी इस लीग का हिस्सा नहीं हो सका है। अब तैबू आईपीएल में खिलाड़ी के रूप में हिस्सा लेने के बाद कोच के रूप में शामिल होना चाहते हैं।

जिम्बाब्वे का ये खिलाड़ी बनना चाहता है आईपीएल कोच 2

तातेंदा तैबू की नजरें आईपीएल में किसी भी टीम के कोच बनने पर है। तैबू ने कहा कि, “हाल ही में मैंने श्रीलंका की राष्ट्रीय टीम के लिए फील्डिंग कोच के पद के लिए आवेदन किया था। मुझे अंतिम तीन में शॉर्टलिस्टेड किया गया था। लेकिन इसमें कोई कमी नहीं आयी।मुझे आईपीएल की किसी एक टीम का रणजी ट्रॉफी में कोच बनना पसंद होगा। मुझे विश्वास है कि मैं एक मूल्यवान योगदान दे सकता हूं।”

आईपीएल है विश्व क्रिकेट की सबसे बड़ी टी20 लीग

तैबू ने आगे कहा कि “आईपीएल अब क्रिकेट की दुनिया का सबसे बड़ा इवेंट में से एक है। बाकी सब कुछ आईपीएल के लिए रूक जाता है। अन्य देशों में समान टी20 लीग हो सकती है, लेकिन किसी भी सूरत में कुछ भी करीब नहीं आता है, चाहे वो खिलाड़ियों की संख्या हो या गुणवत्ता या आईपीएल की मार्केटिंग की गई है।”

जिम्बाब्वे का ये खिलाड़ी बनना चाहता है आईपीएल कोच 3

आप क्रिकेट के किसी भी पहलू का नाम आईपीएल में सिर और कंधे से ऊपर सबकुछ रखते हैं।

तैबू ने आखिर में कहा कि “भारत में हमेशा प्रतिभा थी, लेकिन खेल के विभिन्न क्षेत्रों में उनके विकास में आईपीएल द्वारा क्रांतिकारी बदलाव किया गया है। इस आयोजन ने भारतीय खिलाड़ियों को दुनिया के दूसरे हिस्सों में क्रिकेट के करीब लाया। न सिर्फ खिलाड़ी बल्कि कोच, ट्रेनर, मेडिकल टीम आदी ने भारतीय क्रिकेट के समग्र विकास में मदद की। अब आप देख सकते हैं कि वे हर सूरत में अपने खेल में सबसे ऊपर हैं।”

Related posts