adam gilchrist

भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच एडिलेड में पिंक बॉल से खेला गया पहला टेस्ट मैच काफी रोमांचक भरा रहा. क्रिकेट फैंस के सामने पहले मैच का ऐसा नतीजा पेश हुआ जिसकी किसी ने उम्मीद तक नहीं की थी. टीम इंडिया का पतन दूसरी पारी में महज 36 रन पर हो गया, और ऑस्ट्रेलियाई टीम ने इस मुकाबले पर आसानी से जीत हासिल कर ली.

पहले टेस्ट मैच में मिली करारी शिकस्त

एडम गिलक्रिस्ट ने इस खिलाड़ी को ठहराया पहले टेस्ट में मिली हार का जिम्मेदार 1

पहले टेस्ट मैच में टीम इंडिया को मिली करारी शिकस्त के बाद ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने टीम इंडिया के हार का कारण बताते हुए चेतेश्वर पुजारा और कोहली का बल्ला न चलने की बात कही है.

पहली इनिंग में जिस तरह से टीम इंडिया की पारी को संभालते हुए विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा ने स्कोर को सही जगह सेट किया था. दूसरी पारी में उसका 5 प्रतिशत भी दोनों बल्लेबाज मिलकर नहीं बना पाए.

एडम गिलक्रिस्ट ने चेतेश्वर पुजारा को लेकर दिया बयान

Cheteshwar Pujara

टीम इंडिया की पारी के बारे में मिड-डे से बात करते हुए एडम गिलक्रिस्ट ने कहा कि,

“दोनों ही पारियों में पृथ्वी शॉ के जल्दी आउट होने से टीम बैकफुट पर आ गई. पहली पारी को देखते हुए, मुझे लगता है कि चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली की धीमी बल्लेबाजी, टीम के लिए सही थी. लेकिन दूसरी पारी में भारत इस तरह की बल्लेबाजी के क्रम को दोहराने में नाकाम रही.”

उन्होंने आगे बात करते हुए कि,

“पहली पारी में ऐसा लगा था कि भारत स्कोर बनाने केअवसर की तलाश में नहीं था. लेकिन कोहली और चेतेश्वर पुजारा की पार्टनरशि ने टीम की पारी को सही दिशा दी. इसके बाद अजिंक्य रहाणे ने ये तयकर लिया कि टीम को कम से कम 244 रन तक पहुंचाया जाए.”

पृथ्वी शॉ के आउट होने की वजह

एडम गिलक्रिस्ट ने इस खिलाड़ी को ठहराया पहले टेस्ट में मिली हार का जिम्मेदार 2

इसके बाद गिलक्रिस्ट ने टीम इंडिया के ओपनर पृथ्वी शॉ के बारे में बात करते हुए कहा कि,

“पृथ्वी शॉ टेस्ट पहले टेस्ट मैच में दोनों पारियों में ही पूरी तरह से फ्लॉप साबित हुए. हालांकि बीते साल भी वो भारतीय टीम का हिस्‍सा थे और यहां पर युवा बल्‍लेबाज को लेकर कई तरह की बातें बनी हुई थी. इसका साफ स्पष्ट हो चुका है कि उनकी तकनीक को परखा गया और प्लान तैयार किया गया कि उन्हें बल्‍ले और पैड के बीच गेंद डालकर आउट करना है. जो युवा बल्‍लेबाज के लिए चिंता का विषय है.”