Team India

वैसे तो क्रिकेट के मैदान पर दो टीमों के खिलाड़ियों के बीच कई बार कहा सुनी हो जाती है, जहां वो एक दूसरे की आलोचना करने पर उतर आते हैं, लेकिन क्या कभी आपने सुना है कि कोई खिलाड़ी अपनी टीम के साथी की ही आलोचना कर रहा हो. दरअसल, टीम इंडिया (Team India) में ऐसे एक नहीं बल्कि पांच मामले हैं जब टीम के किसी खिलाड़ी ने अपने ही साथी की मीडिया के सामने आलोचना की है. तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको भारतीय टीम के ऐसे 5 खिलाड़ियों के नाम बताएंगे जिन्होनें जिन्होंने मैदान पर अपने ही साथी खिलाड़ियों पर विवादित बयान दिए हैं.

महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni)

Gautam Gambhir Slams Ms Dhoni's Captaincy During 2012 Cb Series - गंभीर ने किया सचिन-सहवाग से जुड़ा यह सबसे बड़ा खुलासा, धोनी पर लगाए सनसनीखेज आरोप - Amar Ujala Hindi News Live

टीम इंडिया (Team India) के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को वैसे तो उनके शांत स्वभाव के लिए जाना जाता है, मगर कई बार मैदान पर उन्हें गुस्सा करते हुए भी देखा गया है. वहीं एक बार धोनी ने टीम के सीनियर क्रिकेटर्स को लेकर ऐसा कमेंट कर दिया था कि उसे लेकर खूब हल्ला हुआ था.

दरअसल, ये बात साल 2012 की है जब भारत की टीम ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर थी. उस वक्त धोनी ने बगैर किसी का नाम लिए गौतम गंभीर, वीरेंद्र सहवाग और सचिन तेंदुलकर को स्लो फील्डर बता दिया था. जहां धोनी ने कहा था कि इन तीनों खिलाड़ियों में से 2 को टीम में खिलाया जाएगा और उनके साथ एक यंग प्लेयर होगा.

वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag)

महेंद्र सिंह धोनी को 2019 विश्व कप खेलते देखना चाहते हैं वीरेंद्र सहवाग | CricketCountry.com हिन्दी

जब धोनी ने साल 2012 में सीबी सीरीज (CB Series) के दौरान वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag) को स्लो फील्डर बता दिया था तो इस बात को लेकर खूब विवाद हुआ था. इसके बाद इस सीरीज के एक मैच में टीम इंडिया (Team India) की कमान सहवाग ने संभाली थी क्योंकि उस वक्त धोनी नहीं खेले थे.

वहीं इस मैच में वीरू ने एक शानदार कैच पकड़ा था. जहां मैच खत्म होने के बाद फिर प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सहवाग ने भी धोनी से मजे लेते हुए बोला था कि, ‘मेरा कैच देखा क्या?’. गौरतलब है कि धोनी के इस फैसले को कुछ पूर्व खिलाड़ियों ने सही बताया था तो कुछ ने गलत करार दिया था.

गौतम गंभीर (Gautam gambhir)

अगर कप्तानी छोड़ नंबर-3 पर खेलते तो दुनिया के सबसे रोमांचक क्रिकेटर होते धोनी' | CricketCountry.com हिन्दी

गौतम गंभीर (Gautam gambhir) और महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) के बीच की तकरार से हर कोई वाकिफ है. इसी वजह से जब भी गंभीर को मौका मिलता था, तो वो धोनी पर कमेंट करने से नहीं कतराते थे. जिसका सबसे अच्छा उदाहरण साल 2012 में हुई सीबी सीरीज (CB Series) के दौरान का है.

दरअसल, इस सीरीज के एक मैच में धोनी ने लास्ट ओवर में टीम इंडिया (Team India) को जीत दिलाई थी पर गंभीर इस बात से कुछ खास खुश नहीं थे, जिसके लिए गंभीर ने कहा था कि “मैच को पहले ही खत्म किया जा सकता था. मैच को इस तरह से लास्ट ओवर तक लेकर ही नहीं जाना चाहिए.”

अनिल कुंबले (Anil Kumble)

Twitter Reaction: Fans angered at Kumble-Kohli tussle

भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज गेंदबाज अनिल कुंबले(Anil Kumble) ने जिस तरह भारत के खेलते हुए अपना योगदान दिया था ठीक उसी तरह वो भारतीय सीनियर टीम का कोच बनकर भी देना चाहते थे. मगर उनकी कोचिंग को लेकर ऐसा विवाद हुआ कि उन्हें कोच पद से हटना तक पड़ गया था.

दरअसल,  साल 2016 से 2017 तक कुंबले टीम इंडिया (Team India) के हेड कोच के रहे थे. मगर उन्होंने साल 2017 में अचानक ही कोच के पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद कुंबले ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में लिखा था कि ‘कैप्टन विराट कोहली को उनकी शैली पसंद नहीं है’. जिसके बाद कोहली को ट्रोल भी किया गया था.

संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar)

Jadeja doesn't even know English': Sanjay Manjrekar in alleged conversation leaked by Twitter user

यूं तो संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) को क्रिकेट की दुनिया के सबसे बेहतरीन कमेंटेटर्स में से एक माना जाता है. मांजरेकर अक्सर खिलाड़ियों की आलोचना करते नजर आते हैं, एक बार उन्होंने जडेजा की आलोचना करते हुए कमेंट्री बॉक्स से कहा था, हमे ऐसे क्रिकेटर की जरूरत नहीं है, जो टुकड़ो में प्रदर्शन करे, जिसके बाद रवींद्र जडेजा (Ravindra Jajeja) ने मांजरेकर को लताड़ा लगाते हुए अपने ट्वीट में कहा था कि, ‘मैं आपसे दोगुना मैच खेल चुका हूं. ऐसे लोगों का सम्मान करना सीखें जिन्होंने कुछ हासिल किया है. मैंने आपकी बकवास बहुत सुन ली.’