आंकड़े: ये है वो कारण जिसकी वजह से बुमराह की गैरमौजूदगी में टी-20 में टीम इंडिया हो जाती है कमजोर, नहीं है यकीन तो देख लीजिये ये आंकड़े

Jr. Staff / 22 February 2018

भारतीय टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने अपने असाधारण गेंदबाजी के प्रदर्शन के दम पर क्रिकेट जगत में एक खास स्थान हासिल कर लिया है। जब भी वह गेंदंबाजी करने मैदान पर आते हैं तो अच्छे-अच्छे बल्लेबाजों के पसीने छूट जाते हैं। आईसीसी की वनडे रैंकिग में नंबर-1 पोजीशन पर काबिज होने वाले जसप्रीत बुमराह मौजूदा समय में टीम इण्डिया के लिए सबसे अहम गेंदबाज के रूप में स्थापति कर चुके हैं। ऐसे में अगर वे टीम में अनुपस्थित रहे, तो इससे टीम के प्रदर्शन पर काफी ज्यादा प्रभाव हो सकता है।

ऐसे में आज हम आपको उन कारणों को बताना चाहते हैं,जब जसप्रीत बुमराह की गैरमौजूदी में टीम इण्डिया कमजोर पड़ जाती है।

1.जसप्रीत बुमराह को डेथ ओवर का स्पेशलिस्ट माना जाता है। ऐसे में जब टीम इण्डिया में जसप्रीत बुमराह अनुपस्थित रहते हैं, तो भारतीय टीम के पास डेथ ओवर के गेंदबाज की कमी पड़ जाती है।

2.जसप्रीत बुमराह नई गेंद से भी शानदार गेंदबाजी करने में माहिर माने जाते हैं और टीम इण्डिया को शुरूआती ओवर में भी विकेट दिलाने में अहम भूमिका निभाते हैं। इससे विपक्षी टीम को दबाव में ले आते है। पर जब वह टीम में नहीं होते हैं, तो भारत का कोई अन्य गेंदबाज इस तरह की भूमिका नहीं निभा पाता है।

3.विपक्षी टीम का बल्लेबाज जब क्रीज पर बल्लेबाजी करने आता है, तो बुमराह के पास सामने खड़े बल्लेबाज को बेहद ही जल्दी परखने की क्षमता होती है। ऐसे में वह उसी के हिसाब से गेंदबाजी करते हैं,जो कि अन्य गेंदबाजों के पास नहीं है।

4.मौजूदा समय में जसप्रीत बुमराह आईसीसी की टी-20 रैंकिग में टाॅप 4 गेंदबाजों में है। ऐसे में विपक्षी टीम का ज्यादातर बल्लेबाज उनसे खौफ खाता है। लेकिन जब वह टीम में गैरमौजूद रहते हैं, तो उस समय विपक्षी टीम के बल्लेबाज का आत्मविश्वास बढ़ जाता है,जो कि टीम इण्डिया के लिहाज से काफी बड़ा नुकसान है।

5.जब टीम इण्डिया के अन्य गेंदबाज रन रोकने में सफल नहीं रहते हैं, तब उस वक्त जसप्रीत बुमराह एकलौते ऐसे गेंदबाज है,जो अपनी घातक गेंदबाजी की बदौलत रन रोकने के साथ विकेट निकालकर टीम को मजबूत स्थिती में ले आते है। ऐसे में उनकी गैरमौजूदी टीम इण्डिया के लिए घातक साबित हो जाती है।

6.जब भी कप्तान को विपक्षी टीम के बल्लेबाजों के विकेट की जरूरत रहती है, तो यह काम जसप्रीत बुमराह बड़ी आसानी से करने का माद्दा रखते हैं,जो कि अन्य गेंदबाजों के पास इस तरह की क्षमता नहीं मौजूद है।

इसके अलावा हम उन आंकड़ों को भी आपके सामने रखना चाहते हैं,जब जसप्रीत बुमराह की अनुपस्थिती में टीम इण्डिया कमजोर पर जाती है। 

 

जब साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टी20 मैच के दौरान गैरमौजूद रहे बुमराह

आपको बता दे, साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेले गए दूसरे टी20 मैच के दौरान टीम इण्डिया के दिग्गज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह अनुपस्थित रहे। ऐसे में टीम इण्डिया को उनकी अनुपस्थिती काफी खली। इसका कारण इस बात से ही लगाया जा सकता है, कि भारतीय टीम के गेंदबाजों ने महज 18.4 ओवर में ही 189 रन पिटा डाले और इस दौरान टीम इण्डिया के गेंदबाज महज 4 विकेट ही ले पाए।अगर इस मैच में जसप्रीत बुमराह होते तो इस मैच का रिजल्ट कुछ और हो सकता था।

 

जब साल 2017 में श्रीलंकाई टीम खेली थी भारत के खिलाफ टी20 मैच

Jasprit Bumrah

 

यह वाक्या उस वक्त का है,जब श्रीलंका टीम भारत के दौरे पर आयी थी। उस दौरान खेले गए टी20 मैच में टीम इण्डिया का यह दिग्गज गेंदबाज अनुपस्थित रहा। ऐसे में भारतीय टीम के गेंदबाज श्रीलंका जैसी कमजोर टीम के बल्लेबाजों के खिलाफ भी 20 ओवर की गेंदबाजी में 135 रन दे बैठे। इसके अलावा टीम इण्डिया के गेदबाज महज 7 विकेट ही निकाल पाए। ऐसे में अगर जसप्रीत बुमराह टीम इण्डिया में उपस्थित होते तो टीम इण्डिया इस मैच में और अच्छा प्रदर्शन कर सकती थी।

बुमराह के रहे कुछ ऐसे अर्न्तराष्ट्रीय टी20 रिकाॅर्ड

बात अगर भारतीय टीम के तेज गेदंबाज जसप्रीत बुमराह के अर्न्तराष्ट्रीय टी-20 आंकड़े की करे, तो इस दिग्गज गेंदबाज ने अब तक कुल 33 मैच खेलकर 19.97 के औसत से 40 विकेट झटक चुके हैं.

इस दौरान उनका इकॉनमी रेट 6.76 का रहा, वहीं उनका गेंदबाजी स्ट्राइक रेट 17.7 का रहा। वह अब तक टी-20 क्रिकेट में अब तक 118.1 ओवर कर चुके हैं।