भारत और श्रीलंका के बीच बाराबती स्टेडियम में खेले जाने वाले पहले टी-20 मैच से पहले बीसीसीआई ने दिया प्रसंशको को धोखा किया ये सलूक

kalpesh kalal / 18 December 2017

भारत और श्रीलंका के बीच टेस्ट सीरीज के बाद भारतीय टीम ने वनडे सीरीज कोे भी अपने नाम कर लिया है। भारतीय टीम ने दोनों ही सीरीज जीत ली है और अब भारतीय टीम का अगला टारगेट 20 दिसंबर से शुरू होने वाली टी-20 सीरीज है।

20 दिसंबर को कटक के बाराबाती स्टेडिमस में तीन मैचों की टी-20 सीरीज का पहला टी-20 मैच खेला जाएगा। इस मैच के साथ ही इस सीरीज को जीतकर भारतीय टीम हर हाल में अगले साल की शुरूआत में दक्षिण अफ्रीका के कठिन दौरे से पहले अपनी तैयारियों को पुख्ता करना चाहेगी।

कटक में होने वाले पहले टी-20 की टिकटों में हुई कालाबाजारी

भारत और श्रीलंका के बीच 20 दिसंबर को कटक के बाराबती स्टेडियम में होने वाले पहले टी-20 मैच के लिए ओढिसा क्रिकेट एसोसिएशन ने टिकट की ब्रिकी शुरू कर दी थी जहां पर टिकटों को पूरा खत्म हो जाने के बाद इस मैच को लेकर कथिन तौर पर टिकट की ब्रिकी देखी गई।

ओड़िसा क्रिकेट एसोसिएशन ने तो पहले से ही बता दिया था कि टिकट के काउंटर शनिवार और रविवार को दर्शकों के लिए खुले रहेंगे। लेकिन इसके बाद अधिकारियों के द्वारा ही खबर आयी कि टिकटो की ब्रिकी हो गई है।

भड़के क्रिकेट प्रशंसकों ने टिकट काउंटर पर किया पथराव

जैसे ही टिकटो की इस तरह से खत्म होने की खबर मिली इसके बाद तो क्रिकेट प्रशंसकों को खासी मशक्कत का सामना करना पड़ा। क्रिकेट प्रशंसकों का धेर्य यहां पर जवाब दे गया और उन्होंने टिकट काउंटर पर पत्थरबाजी की और टिकट काउंटरों को ही तोड़ दिया। इसके बाद पुलिस ने जैसे-तैसे बोखलाए क्रिकेट प्रशंसकों को रोका और मामला अपने नियंत्रण में लिया।

600 रूपये की टिकट मिल रही है 2000 रूपये में

दीपक सामल नाम का एक क्रिकेट दो दिनों से कटक में होने वाले टी-20 मैच की टिकट खरीदने के लिए इंतजार कर रहा था, लेकिन वो सफल नहीं हो सका इस क्रिकेट प्रशंसक ने कहा, कि

ओड़िसा क्रिकेट एसोसिएशन ने पहले से ही निर्णय लिा था कि 16 और 17 दिसंबर को इस मैच के लिए टिकटों की ब्रिकी की जाएगी। इसके बाद उन्होंने कैसे और क्यों इस फैसले को बदल दिया ये तो पता नहीं और पहले ही दिन अपने आप ही सभी टिकटों की ब्रिकी हो गई। जब मैं काउंटर से टिकट पाने में असफल रहा तो फिर मैंने 2000 रूपये का एक टिकट काला बाजारी से खरीदा जिसकी वास्तविक रेट 600 रूपये थी।”