यहाँ धोनी के टेस्ट कैरियर के टॉप-5 उतार-चढ़ाव पर एक नजर डाली गयी है:

धोनी के कैरियर के 5 उतार-चढ़ाव 1

1.जनवरी 2006 में धोनी पाकिस्तान के खिलाफ अपना 5 वा टेस्ट मैच खेल रहे थे, और उन्होंने शोयब अख्तर जैसे तेज गेंदबाज के सामने अपने टेस्ट कैरियर का पहला शतक लगाते हुए 148 रन बना कर विश्व टेस्ट क्रिकेट में अपनी उपस्थिति दर्ज करायी.
2. फरवरी 2014 में जब इण्डिया न्यूज़ीलैंड से 2-0 से सीरीज हारी तो धोनी के नाम सबसे अधिक टेस्ट हारने का धब्बा लगा. जो धोनी के लिए निश्चित रूप से अच्छी बात नहीं थी.
3.2011-12 में ऑस्ट्रेलिया में 4-0 की जीत के साथ धोनी ने २४८ रनों का व्यक्तिगत स्कोर अपने नाम किया.
4.84-85 टूर के बाद धोनी ने 27 सालो बाद भारत को टेस्ट क्रिकेट में पहली बार भारत को जीत दिलाया, भारत ने यह सीरीज 2-0 से अपने नाम किया, इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पूर्व इंग्लिश कप्तान माइकल वा ने कहा था यह सीरीज एशेस से भी बड़ी जीत है.
5. दिसम्बर 2009 में श्रीलंका पर अपने 100 वें जीत के साथ भारत ने आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में पहला स्थान हासिल किया, और धोनी की कप्तानी में 2011 तक भारत इस ताज को अपने सर ब्व्नाये रखा.
हम धोनी की टेस्ट क्रिकेट में प्रदर्शन को नजर अंदाज नहीं कर सकते धोनी की कप्तानी में टीम इण्डिया ने विश्व क्रिकेट इतिहास में कई रिकॉर्ड बनाये है.

Sportzwiki संपादक

sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के...

Leave a comment