पाकिस्तान ने फिर किया नापाक साजिस, भारत की छवि धूमिल करने के लिए उठायेगा ये कदम | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

पाकिस्तान ने फिर किया नापाक साजिस, भारत की छवि धूमिल करने के लिए उठायेगा ये कदम 

पाकिस्तान ने फिर किया नापाक साजिस, भारत की छवि धूमिल करने के लिए उठायेगा ये कदम

पिछले कई सालों से भारतीय टीम से क्रिकेट मैच खेलने के लिए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड काफी बेताब नजर आ रही है। पीसीबी भारत के साथ मैच नहीं होने से आर्थिक नुकसान के कारण भी परेशान हैं। इसी के बीच पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने भारत के साथ इंटरनेशनल मैच नहीं होने के कारण आईसीसी का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया है। भारत के साथ द्विपक्षीय सीरीज को लेकर पीसीबी आईसीसी की विवाद निवारण समिति के पास जाकर इस मुद्दे को उठाने का मन बना रही है।

पाकिस्तान ने फिर किया नापाक साजिस, भारत की छवि धूमिल करने के लिए उठायेगा ये कदम 1

पीसीबी ने बीसीसीआई के साथ की थी तीन बैठकें

इसको लेकर पीसीबी के सूत्रों ने पीटीआई समाचार एजेंसी को कहा कि, “पीसीबी के अध्यक्ष शहरयार खान, कार्यकारी समिति के अध्यक्ष नजम सेठी और सीईओ सुभान अहमद ने पिछले महीनें बर्मिंघम और लंदन में बीसीसीआई के अधिकारियों के साथ तीन अलग-अलग बैठकें की। इनमें से दो बैठकों में तो आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेव रिचर्डसन भी मौजुद रहे वहीं तीसरी बैठक में आईसीसी के कार्यकारी बोर्ड के अधिकारियों के साथ बैठक हुई और इसमें तो आईसीसी चैयरमैन शशांक मनोहर भी थे। इन तीनों ही बैठक में बीसीसीआई के अधिकारियों ने कहा कि वो सरवार से मंजूरी के बिना पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेल सकते हैं।”आमिर सोहैल का विवादित बयान दिखाने वाले समा न्यूज चैनल के लिए पीसीबी ने खड़ी कर दी समस्या, मांगनी होगी माफी

पाकिस्तान ने फिर किया नापाक साजिस, भारत की छवि धूमिल करने के लिए उठायेगा ये कदम 2

बीसीसीआई ने 447 करोड़ का मुआवजा चाहता है पीसीबी

साथ ही सूत्रों ने कहा कि उन्होनें कहा कि “दोनों देशों के बीच राजनीतिक और कूटनीतिक स्थिति के कारम सरकार पाकिस्तान के खिलाफ द्विपक्षीय सीरीज को अनुमति नहीं दे रही है। और इसी कारण पीसीबी को मुआवजा देने का सवाल ही पैदा नहीं होता है। वहीं पीसीबी के चैयरमैन ने कहा कि बीसीसीआई को साल 2014 में करार करने से पहले सोचना था।बीसीसीआई ने करार में 6 द्विपक्षीय सीरीज खेलने का वादा किया था। लेकिन अब तक एक भी सीरीज आयोजित नहीं हो सकी है। पीसीबी के चैयरमैन ने ये भी साफ किया कि पीसीबी द्विपक्षीय सीरीज के नहीं खेलने के लिए बीसीसीआई से करीब 447 करोड़ रूपये का मुआवजा चाहता है।”

पाकिस्तान ने फिर किया नापाक साजिस, भारत की छवि धूमिल करने के लिए उठायेगा ये कदम 3

इस कारण नहीं हो पा रही है इंडो-पाक द्विपक्षीय सीरीज

साल 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले के बाद से और सीमा पर पाकिस्तानी सेना का बार-बार सीजफायर के उल्लंघन करने के कारण भारत-पाक के क्रिकेट के रिश्तों में कड़वाहट पैदा हुई है, इसके बाद भारत सरकार ने दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सीरीज पर रोक लगाकर रखी है। जिसको लेकर भारतीय टीम 2007 के बाद पाकिस्तान से केवल एक बार 2012 में द्विपक्षीय सीरीज खेली है। वहीं बीसीसीआई ने पीसीबी के साथ फ्यूचर ट्यूर प्रोग्राम के तहत 2014 में समझौते पर हस्ताक्षर किए है। इसके तहत भारतीय टीम और पाकिस्तानी टीम के बीच 2015 से लेकर 2023 के बीच 6 द्विपक्षीय सीरीज खेली जानी हैं।बीसीसीआई और पीसीबी के बीच चल रहे द्विपक्षीय सीरीज विवाद पर आईसीसी ने सुनाया अंतिम फैसला

पाकिस्तान ने फिर किया नापाक साजिस, भारत की छवि धूमिल करने के लिए उठायेगा ये कदम 4

Related posts