These three players can replace MS Dhoni in the next season

इंडियन प्रीमियर लीग का इतिहास भरा पड़ा रहा है जहां सीजन के बीच कई बार टीमों के कप्तान को बदलते देखा गया है। इसी तरह का सिलसिला आईपीएल के 15वें सीजन में भी देखने को मिला, जहां 4 बार की चैंपियन टीम चेन्नई सुपर किंग्स का बीच सीजन में बदल गया है। जहां रवीन्द्र जडेजा ने फिर से कप्तानी महेन्द्र सिंह धोनी को सौंप दी है।

रवीन्द्र जडेजा ने महेन्द्र सिंह धोनी को सौंपी कप्तानी

चेन्नई सुपर किंग्स ने इस सीजन से ठीक पहले महेन्द्र सिंह धोनी के कप्तानी से हटने के बाद रवीन्द्र जडेजा को कप्तानी सौंपी थी। रवीन्द्र जडेजा की कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स का प्रदर्शन काफी साधारण रहा।

IPL 2022- महेन्द्र सिंह धोनी के दोबारा से चेन्नई के कप्तान बनने पर वीरेन्द्र सहवाग और अजय जडेजा की बड़ी प्रतिक्रिया 1

इस सीजन पहली बार कप्तानी कर रहे जडेजा कप्तान के रूप में पूरी तरह से फ्लॉप रहे, जहां उन्हें पहले 8 मैचों में केवल 2 मैच में जीत मिल सकी, तो वहीं 6 मैच गंवाने पड़े। इसके बाद निराश जडेजा ने शनिवार को कप्तानी छोड़ दी।

महेन्द्र सिंह धोनी के फिर से कप्तान बनने पर बड़ी प्रतिक्रियाएं

रवीन्द्र जडेजा के कप्तानी छोड़ने और महेन्द्र सिंह धोनी के फिर से चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान बनने के बाद अब फैंस को उनकी टीम से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है। महेन्द्र सिंह धोनी के फिर से सीएसके के कप्तान बनने को लेकर प्रतिक्रिया देखने को मिल रही हैं।

IPL 2022- महेन्द्र सिंह धोनी के दोबारा से चेन्नई के कप्तान बनने पर वीरेन्द्र सहवाग और अजय जडेजा की बड़ी प्रतिक्रिया 2

इसमें भारतीय क्रिकेट के दो पूर्व दिग्गज क्रिकेटर अजय जडेजा और वीरेन्द्र सहवाग ने अपनी बात रखी। क्रिकबज के साथ बात करते हुए जडेजा और सहवाग दोनों ने इसे लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी।

सहवाग ने कहा, चेन्नई के पास है वापसी की मौका

वीरेन्द्र सहवाग ने कहा कि, हम पहले दिन से ही ये कह रहे हैं कि अगर एम एस धोनी कप्तान नहीं हैं तो फिर चेन्नई सुपर किंग्स की टीम सफल नहीं होने वाली है। देर से ही सही उन्होंने अच्छा फैसला लिया है। उनके पास अब वापसी का मौका है क्योंकि अभी आधे मुकाबले उनके बचे हुए हैं।”

CSK

टीम में धोनी हैं, तो वहीं होने चाहिए कप्तान- अजय जडेजा

वहीं अजय जडेजा ने कहा कि, “अगर एम एस धोनी टीम में हैं तो उनको ही कप्तान होना चाहिए। सब लोग अब खुश हैं और मेरा ये मानना है कि रविंद्र जडेजा के ऊपर से भी एक बड़ा बोझ उतर गया होगा। जब आप किसी प्लेयर की कप्तानी में खेले होते हैं तो फिर उसके सामने कप्तानी करना काफी मुश्किल हो जाता है।”