बुरे दौर से गुजर रही श्रीलंका के इस अनुभवी खिलाड़ी पर लगे दो साल के प्रतिबंध के हटने के बाद हो सकती है टीम में वापसी | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

बुरे दौर से गुजर रही श्रीलंका के इस अनुभवी खिलाड़ी पर लगे दो साल के प्रतिबंध के हटने के बाद हो सकती है टीम में वापसी 

बुरे दौर से गुजर रही श्रीलंका के इस अनुभवी खिलाड़ी पर लगे दो साल के प्रतिबंध के हटने के बाद हो सकती है टीम में वापसी

श्रीलंकाई क्रिकेट टीम पिछले कुछ महीनों से अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रही है। श्रीलंका की टीम को अभ अपने अनुभवी खिलाड़ियों की तलाश है जो इस युवा टीम को अपने अनुभव से एक बार फिर से आगे ले जा सके।

इसी बीच श्रीलंका के एक अनुभवी खिलाड़ी की वापसी जल्द ही देखी जा सकती है। श्रीलंका के अनुभवी बल्लेबाज चमारा सिल्वा की लंबे समय के बाद एक बार फिर से वापसी हो सकती है।

बुरे दौर से गुजर रही श्रीलंका के इस अनुभवी खिलाड़ी पर लगे दो साल के प्रतिबंध के हटने के बाद हो सकती है टीम में वापसी 1

चमारा सिल्वा को खराब व्यवहार के लिए किया था दो साल के लिए प्रतिबंधित

श्रीलंका क्रिकेट टीम के बल्लेबज रहे चमारा सिल्वा पर श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने एक मैच के दौरान खराब व्यवहार के लिए दो साल का प्रतिबंध लगा दिया था। चमारा सिल्वा ने पिछले ही दिनों अपने पर लगे दो साल के प्रतिबंध को हटाने के लिए श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड से अपील की।

बुरे दौर से गुजर रही श्रीलंका के इस अनुभवी खिलाड़ी पर लगे दो साल के प्रतिबंध के हटने के बाद हो सकती है टीम में वापसी 2

अपील के बाद घरेलु क्रिकेट के लिए अस्थायी रूप से खेलने की दी राहत

ऐसे में श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने चमारा सिल्वा की प्रतिबंध को हटाने की अपील पर फैसला लेते हुए रविवार को श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने कहा कि पूर्व खिलाड़ी चमारा सिल्वा को घरेलु मैचों में भाग लेने के लिये अस्थायी रूप से राहत दे दी गई है।

इस क्रिकेटर पर खराब व्यवहार के लिए खुद पर लगे दो साल के प्रतिबंध के खिलाफ अपील की थी। अपील समिति की सिफारिश पर मामलें के लंबित रहने तक आरोपी खिलाड़ियों को घरेलु गतिविधियों में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी।

बुरे दौर से गुजर रही श्रीलंका के इस अनुभवी खिलाड़ी पर लगे दो साल के प्रतिबंध के हटने के बाद हो सकती है टीम में वापसी 3

जनवरी में प्रथम श्रेणी मैच में दोनों टीमों के खिलाड़ियों पर लगा था प्रतिबंध

इसी मामलें को लेकर श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने पिछले महीने अपने बयान में कहा था कि

“जनवरी में पनाडुरा क्रिकेट क्लब और कालुतरा फिजिकल कल्चर क्लब के बीच प्रथम श्रेणी मैच खेल भावना के अंतर्गत नहीं खेला गया था। दोनों टीमों के कप्तान चमारा सिल्वा और मनोज देशाप्रिया को सभी क्रिकेट संबंधित गतिविधियों से 2 साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया था जबकि दूसरे खिलाड़ियों और मैनेजरों को एक साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया था। साथ ही दोनों क्लबों पर 5-5 लाख रूपये का जुर्माना लगाया था और उस मैच को अमान्य करार दे दिया था।”

बुरे दौर से गुजर रही श्रीलंका के इस अनुभवी खिलाड़ी पर लगे दो साल के प्रतिबंध के हटने के बाद हो सकती है टीम में वापसी 4

Related posts

Leave a Reply