दिल्ली डेयरडेविल्स के प्रसंशको के लिए बुरी खबर, मैच फिक्सिंग की वजह से 6 हुए गिरफ्तार - SportzWiki Hindi
Connect with us

क्रिकेट

दिल्ली डेयरडेविल्स के प्रसंशको के लिए बुरी खबर, मैच फिक्सिंग की वजह से 6 हुए गिरफ्तार

आईपीएल 10 में पहली बार कानपुर के ग्रीनपार्क स्टेडियम में मुकाबला खेला गया। यह मैच बुधवार को गुजरात लायंस और दिल्ली डेयरडेविल्स के बीच खेला गया था। इसमें दिल्ली ने 2 विकेट से जीत हासिल की थी। इस मैच के लिए दोनों टीमों के खिलाड़ी कानपुर के होटल लैंडमार्क में रुके थे। वहीं इसी होटल में मैच में सट्टा लगा रहे कुछ सटोरी भी मौजूद थे, जिन्हें कानपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। ऑस्ट्रेलिया के विस्फोटक बल्लेबाज़ ग्लेन मैक्सवेल को अपने राज्य की टीम से नहीं खेलने पर इस दिग्गज ने लगायी उन्हें जमकर फटकार

तीन सटोरियों को किया गया गिरफ्तार –

पुलिस की सूचना के मुताबिक इस होटल से तीन सटोरियों को गिरफ्तार किया गया है। इस ग्रुप का मास्टर माइंड रमेश शाह मुंबई का रहने वाला है। शाह का नेटवर्क स्टेडियम के अंदर तक फैला था, जिससे वह पिच और मौसम से जुड़ी जानकारियां जुटाता था। इसके साथ दो लोगों को पकड़ा गया है। इनमें से एक का नाम विकास चौहान है, जोकि पुखरायां (कानपुर देहात) का रहने वाला है। दूसरे का नाम रमेश है जो कि चुन्नीगंज में रहता है। रमेश स्टेडियम में मजदूरी करता है। रमेश ही शाह को पिच से जुड़ी जानकारियां देता था।

भ्रष्टाचार निरोधक दस्ते की थी नजर –

बीसीसीआई के भ्रष्टाचार निरोधक दस्ते को कानपुर में होने वाले मैच में सट्टा लगने की भनक पहले से ही लग गई थी। लेकिन वो सट्टेबाजों को रंगे हाथों पकड़ना चाहते थे। लिहाजा उन्होंने पिछले तीन दिन से इन पर नजर बनाए रखी थी। लैंडमार्क होटल के 17 मंजिल पर कमरा नंबर 1733 से 40 लाख रुपये 3 मोबइल फोन और एक डायरी मिली है, जिसमें सट्टेबाजी का पूरा हिसाब लिखा था।

यह रही थी मैच की स्थिति –

कानपुर में गुजरात लायंस और दिल्ली डेयरडेविल्स के बीच खेले गए इस मुकाबले में दिल्ली ने 2 विकेट से जीत हासिल की है। गुजरात ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 195 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। इसके जवाब में उतरी दिल्ली ने 19.4 ओवरों में 8 विकेट खोकर मैच जीत लिया। दिल्ली की ओर से श्रेयस अय्यर ने शानदार पारी खेली थी। अय्यर ने 57 गेंदों में 96 रनों की पारी खेली। इसके साथ ही अय्यर ने 15 चौके और 2 छक्के भी जड़े थे। अय्यर के अलावा करुण नायर ने 15 गेंदों में 30 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली, जो कि टीम जीत में सहायक बनी है।

कानपुर में इससे पहले भी हो चुकी है सट्टेबाजी –

यह पहली बार नहीं है जब कानपुर से किसी सट्टेबाज को गिरफ्तार किया गया है। इससे पहले भी कई बार इस तरह की घटनाएं होती रही हैं। इससे पहले 2013 में आईपीएल का फाइनल मुकाबला चेन्नई सुपरकिंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला जा रहा था। उस दौरान कानपुर से ही 8 लोगों को पुलिस ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया था। इस घटना में पुलिस ने 8 लाख रुपये, दो लैपटॉप, 18 मोबाइल फोन और एक कार बरामद की थी।  सचिन तेंदुलकर ने अपनी बायोपिक के रिलीज़ से पहले किया, अपने बारे में अब तक का सबसे बड़ा खुलासा, जिसे आप बिलकुल भी मिस नहीं करना चाहेंगे

भारत- इंग्लैंड टी-20 के दौरान भी हुई थी सट्टेबाजी –

इसी साल जनवरी में भारत और इंग्लैंड के बीच एक टी-20 मैच कानपुर में खेला जा रहा था। इस दौरान पुलिस ने इंदौर से चार सट्टेबाजों को गिरफ्तार किया था। सट्टेबाजों ने इस बात को कबूल भी किया था, कानपुर में चल रहे टी-20 मुकाबले पर सट्टेबाजी कर रहे थे। पुलिस ने इन सट्टेबाजों से 2 लाख रुपये, 22 मोबाइल फोन और कुछ लिखित हिसाब बरामद किया था।

[quads id=3]

Must See

IPL Auction 2019