ऐसे शुरू हुई थी दुनिया की सबसे विवादित 'बॉडीलाइन' टेस्ट सीरीज

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

आज ही के दिन शुरू हुई थी विवादित ‘बॉडीलाइन’ टेस्ट सीरीज, इस कारण स्टेडियम को बना दिया गया था छावनी 

आज ही के दिन शुरू हुई थी विवादित ‘बॉडीलाइन’ टेस्ट सीरीज, इस कारण स्टेडियम को बना दिया गया था छावनी

खेल में हर कोई जीतना चाहता है। कोई भी जीतने के इरादे से ही उतरता है और जीतने के लिए तो सबकुछ कर गुजरने को तैयार है। ऐसा ही क्रिकेट में भी देखने को मिलता है। जहां से क्रिकेट के इतिहास में हमें सबेस विवादित सीरीज बॉडीलाइन सीरीज देखने को मिली।

ऐसे हुआ था बॉडीलाइन सीरीज का जन्म

2 दिसंबर 1932 को बॉडीलाइन सीरीज ने लिया जन्म

एक ऐसी सीरीज जिसमें इंग्लिश टीम की किसी भी हालात में सीरीज जीतने की इच्छाशक्ति ने बॉडीलाइन सीरीज को जन्म दिया और ये सीरीज इतिहास में सबसे विवादित सीरीज में शामिल हो गई।

आज ही के दिन शुरू हुई थी विवादित 'बॉडीलाइन' टेस्ट सीरीज, इस कारण स्टेडियम को बना दिया गया था छावनी 1

आपको इसमें सबसे खास बात बता दें कि ये बॉडीलाइन सीरीज आज ही के दिन 2 दिसंबर को ही शुरू हुई थी। साल 1932 में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक जबरदस्त टेस्ट सीरीज शुरू हुई जिसमें बॉडीलाइन टेस्ट सीरीज का जन्म हुआ।

इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज जीतने में अपनाया बॉडीलाइन गेंदबाजी को सबसे बड़ा हथियार

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच आज जिस एशेज सीरीज में दोनों ही टीमों के बीच प्रतिद्वद्वंता नजर आती है वो इसी बॉडीलाइन टेस्ट सीरीज के कारण ही हुई है।

आज ही के दिन शुरू हुई थी विवादित 'बॉडीलाइन' टेस्ट सीरीज, इस कारण स्टेडियम को बना दिया गया था छावनी 2

2 दिसंबर 1932 को इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक टेस्ट सीरीज खेली गई। इसमें इंग्लिश टीम की हर हालात में टेस्ट सीरीज जीतने के इरादें से उतरी जिसमें उनके तेज गेंदबाज हेरॉल्ड लॉरवुड ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के सामने जानलेवा गेंदबाजी की जो सीधे बॉडीलाइन पर आ रही थी।

इंग्लैंड के कप्तान डगलर ने लॉरवुड को बॉडीलाइन गेंदबाजी के लिए किया तैयार

उस सीरीज में इंग्लैंड के गेंदबाजों ने दिखाया कि एक बॉडीलाइन गेंदबाजी क्या होती है।  इस सीरीज में इंग्लैंड के कप्तान डगलस जार्डिन थे। जो उस टेस्ट सीरीज को किसी भी हालात में जीतने की महत्वाकांक्षा के साथ उतरे।

आज ही के दिन शुरू हुई थी विवादित 'बॉडीलाइन' टेस्ट सीरीज, इस कारण स्टेडियम को बना दिया गया था छावनी 3

ऐसे में इंग्लैंड के कप्तान डगलस ऑस्ट्रेलिया को हराने के लिए अपने एक नए और खास हथियार बॉडीलाइन गेंदबाजों के साथ उतरे। इंग्लैंड को इस टेस्ट सीरीज से पहले वाली टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के हाथों करारी हार का सामना करना पड़ा था। जिसमें पूरी सीरीज के दौरान डॉन ब्रैडमैन ने 974 रन बनाए थे।

लॉरवुड की खतरनाक गेंदबाजी से ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज होते रहे घायल

इंग्लैंड की टीम इस बार चाहती थी कि वो डॉन ब्रैडमैन के खतरनाक रूप को रोकना चाहते थे। ऐसे में कप्तान डगलस और हेरॉल्ड ने मिलकर ब्रैडमैन को रोकने की प्लानिंग बनायी। जिसमें उन्होंने योजना बनायी कि अगर वो बॉडीलाइन गेंदबाजी करते हैं तो ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज टिक नहीं पाएंगे।

आज ही के दिन शुरू हुई थी विवादित 'बॉडीलाइन' टेस्ट सीरीज, इस कारण स्टेडियम को बना दिया गया था छावनी 4

2 दिसंबर से शुरू हुए पहले टेस्ट मैच में इंग्लैंड ने 10 विकेट से जीत हासिल की। जिसमें लॉरवुड ने अपनी खतरनाक गेंदबाजी से पिच पर टिकना मुश्किल कर दिया। इसके बाद दूसरे टेस्ट एडिलेड में तो लॉरवुड ने खतरनाक गेंदबाजी कर ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों की कमर ही तोड़ दी।

लॉरवुड की इस गेंदबाजी से ऑस्ट्रेलिया के दर्शक भड़के

इंग्लैंड अपनी पूरी प्लानिंग बॉडीलाइन गेंदबाजी के साथ उतरे थे। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज बिल वुडफुल को लॉरवुड ने खतरनाक गेंदबाजी से घायल कर दिया। बिल एक बार फिर उठे लेकिन इंग्लिश कप्तान डगलर ने बॉडीलाइन फील्डिंग लगा दी।  लगातार बॉडीलाइन गेंदबाजी से ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज को खूब परेशानी हो रही थी।

आज ही के दिन शुरू हुई थी विवादित 'बॉडीलाइन' टेस्ट सीरीज, इस कारण स्टेडियम को बना दिया गया था छावनी 5

ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों को परेशान देख ए़डिलेड में बैठे दर्शकों को गुस्सा आ गया और उन्होंने इंग्लैंड टीम के खिलाफ हुटिंग शुरू कर दी। लॉरवुड पर दर्शक काफी भड़क गए और सीमा रेखा पर सुरक्षा की दृष्टी से सुरक्षा कर्मी लगाए गए।

लॉरवुड ने बॉडीलाइन गेंदबाजी से सीरीज में हासिल किए 33 विकेट

लेकिन लॉरवुड को इसका कोई फर्क नहीं पड़ा और उन्होंने इस गेंदबाजी को जारी रखा। इसमें ऑस्ट्रेलिया के एक बल्लेबाज की तो लॉरवुड ने पसलियां ही तोड़ दी और ऑस्ट्रेलिया के दर्शक बहुत ही गुस्सैल हो गए। इसके बाद लॉरवुड को बहुत कड़ी सुरक्षा के बीच मैदान से बाहर निकाला।

क्रिकेट की बाइबिल कही जाने वाली मैग्जीन विस्डन में इस एडिलेड टेस्ट मैच को क्रिकेट इतिहास का सबसे डरावना टेस्ट करार दिया। लॉरवुड ने 5 मैचों में 33 विकेट हासिल किए जिसमें उन्होंने 20 बल्लेबाजों को शून्य के स्कोर पर चलता किया था। डॉन ब्रैडमैन जैसे महान बल्लेबाज को 8 पारियों में 4 बार लॉरवुड का शिकार बने।

आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज इसे लाइक करें। अपने दोस्तों तक इस खबर को सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें। साथ ही कोई सुझाव देना चाहे तो प्लीज कमेंट करें। अगर आपने हमारा पेज अब तक लाइक नहीं किया हो तो कृपया इसे लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट आपको हम जल्दी पहुंचा सके।

Related posts