पाकिस्तान ने ज़िम्बाब्वे क्रिकेटरों को रिश्वत देने की बात से नकारा

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पर यह आरोप लगाया जा रहा है, कि पाकिस्तान ने ज़िम्बाब्वे क्रिकेटरों को पाकिस्तान दौरे पर आने के लिए रिश्वत दी थी.

हालाँकि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष शहरयार खान ने इन आरोपों का खंडन किया है, कि उन्होंने इन ज़िम्बाब्वे खिलाड़ियों को पाकिस्तान आने के लिए रिश्वत दी थी, हालाँकि शहरयार ने इस बात को स्वीकारा, कि उन्होंने ज़िम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड को दौरे का खर्चा वहन करने के लिए 5 लाख डालर दिए थे. लेकिन यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है, कि इस बात को खिलाड़ियों को रिश्वत देने की अफवाह से जोड़ा जा रहा है.

साथ ही उन्होंने यह भी कहा, कि यह काफी गलत है, कि इस तरह की अफवाह फैलाई जा रही है, क्यूंकि यह दौरा दोनों बोर्ड की सहमती के बाद ही सम्पन्न हो सका था, और कल ही प्रधानमन्त्री ने ज़िम्बाब्वे के राष्ट्रपति राबर्ट मुगाबे को टीम को पाकिस्तान दौरे के लिये आने की अनुमति देने के लिये धन्यवाद दिया था.

उन्होंने इस बात का हवाला देते हुए कहा, कि इस साक्ष्य के बात इस तरह की अफवाह का कोई मतलब ही नहीं बनता है.

ज़िम्बाब्वे ऐसी पहली टीम है, जिसने 2009 के बाद पाकिस्तान का दौरा किया हो, क्यूंकि पिछली बार 2009 में आतंकवादियो दवारा श्रीलंका टीम की बस पर हमले के बाद बाकी सभी देशो की क्रिकेट बोर्डो ने पाकिस्तान में अपनी टीम भेजने से साफ़ मना कर दिया था.

इसलिए ऐसी अफवाहे चल रही है, कि पाकिस्तान ने एक बार फिर अपने देश में क्रिकेट को स्थापित करने के लिए ज़िम्बाब्वे क्रिकेट टीम को पैसे देकर खेलने को बुलाया है, जिससे एक बार फिर पाकिस्तान में क्रिकेट की स्थापना हो सके

Related Topics