एरॉ़न

आईपीएल नीलामी 2021 में कुल 292 खिलाड़ियों को चुना गया था। लेकिन, नीलामी खत्म होने के बाद केवल 57 खिलाड़ी ही बिक पाए। जिनमें से क्रिस मॉरिस (16.25 करोड़ रुपये), काइल जैमीसन (15 करोड़ रुपये) और ग्लेन मैक्सवेल (14.25 करोड़ रुपये) वो बड़े सबसे बड़ी बोली लगाकर खरीदा गया है। बीसीसीआई ने कुल 125 विदेशी खिलाड़ियों को नीलामी के लिए चुना था। इनमें से केवल 22 खिलाड़ियों को किसी फ्रेंचाइजी ने खरीदा है। सभी प्रतिभाशाली क्रिकेटर हैं और समय-समय पर अपनी टीम के लिए बहुत ही उपयोगी साबित हुए हैं।

हम ऐसे ही पांच खिलाड़ियों पर एक नज़र डालते हैं, जिन्हें आईपीएल नीलामी 2021 में फ्रेंचाइजी द्वारा चुना जाना चाहिए था। ये खिलाड़ी अकेले ही मैच का नक्शा पलट सकते हैं और हो सकता है कि आईपीएल में अगर किसी फ्रेंचाइजी को रिप्लेसमेंट की जरुरत पड़ती है या फिर कोई खिलाड़ी चोटिल होता है तो इन खिलाड़ियों को टीम में जगह दी जा सकती है।

आरोन फिंच

आरोन फिंच

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान वर्षों से कई आईपीएल का हिस्सा रहे हैं। बावजूद इसके वो 2021 में किसी भी फ्रेंचाइजी में अपनी जगह नहीं बना सके हैं। सभी को पता है की आरोन फिंच कितने बेहतरीन खिलाड़ी हैं और जरुरत पड़ने पर अपनी बल्लेबाजी टेक्निक में बदलाव भी कर सकते हैं। पिछले साल उन्होंने सलामी बल्लेबाज के रूप में आरसीबी के लिए खेला। इसके साथ ही वो मध्य क्रम में भी बल्लेबाजी कर सकते हैं। और तो और जरुरत पड़ने पर टीम की कमान भी संभाल सकते हैं।

वह ऐसे खिलाड़ी हैं जो पावरप्ले का फायदा बेहतरीन तरीके से उठा सकता है। अगर टीमों को टूर्नामेंट में आगे जरूरत पड़ी तो फिंच एक अच्छ विकल्प हो सकते हैं। आईपीएल में लगाए 75 छक्के और 204 चौके उनके बेहतरीन बल्लेबाज होने की कहानी खुद कह रहे हैं।

एलेक्स हेल्स

आईपीएल नीलामी 2021

इंग्लिश क्रिकेटर एलेक्स हेल्स का आईपीएल नीलामी 2021 में बेस प्राइस 1.5 करोड़ था। जिसे किसी भी फ़्रेंचाईजी ने नहीं खरीदा लेकिन, उसे चुना जाना चाहिए था। दाएं हाथ का यह बल्लेबाज इस वक़्त बिग बैश लीग, कैरेबियन प्रीमियर लीग, बांग्लादेश प्रीमियर लीग और पाकिस्तान सुपर लीग जैसी टी20 लीगों में बहुत ही ज्यादा सक्रिय ही।

एलेक्स हेल्स ने 2018 में अपने एकमात्र आईपीएल टूर्नामेंट में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेला था और 6 मैचों में 125 की स्ट्राइक रेट से 148 रन बनाए। उन्हें डेविड वार्नर के रिप्लेसमेंट के रूप में लाया गया था। जरुरत पड़ने पर यह धाकड़ खिलाड़ी ओपन भी कर सकता है।

जेसन रॉय

जेसन रॉय

इंग्लैंड का हार्ड हिटिंग सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय आईपीएल की नीलामी में किसी फ्रेंचाइजी को प्रभावित नहीं कर सका। इस बल्लेबाज में लंबे-लंबे शॉट्स मारने की भरपूर क्षमता है। रॉय ने आईपीएल 2017 और 2018 में खेला था। दोनों संस्करणों में उन्होंने 8 मैच खेले और 133 की स्ट्राइक रेट से 179 रन बनाए। 30 वर्षीय दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने 38 टी20 मैचों में 144 की स्ट्राइक रेट और पांच अर्धशतक की मदद से 890 रन बनाए हैं।

कोरी एंडरसन

कोरी एंडरसन

बाएं हाथ के बल्लेबाज कोरी एंडरसन भी एक ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्हें आईपीएल नीलामी 2021 में चुना जाना चाहिए था। 30 वर्षीय यह आल राउंडर खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग ( आईपीएल) के चार सत्रों ( 2014, 2015, 2017 और 2018) में खेल भी चुका है। न्यूजीलैंड के बल्लेबाज की आईपीएल 2014 में मुंबई इंडियंस के लिए धमाकेदार 44 गेंद में मारे गए 95 रनों की पारी को कौन भूल सकता है। जब मुंबई को प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करने के लिए 14.3 ओवर में 190 रन चाहिए थे। उस समय कोरी एंडरसन को नंबर 3 पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजा गया था और वो टीम की उम्मीदों पर पूरी तरह खरे उतरे थे। एंडरसन फ्रेंचाइजी के लिए एक बेहतर विकल्प हो सकते हैं।

शांताकुमारन श्रीसंत

शांताकुमारन श्रीसंत

एस. श्रीसंत, ये वो नाम है जो पूरा भारत नहीं भूल सकता। यही वो खिलाड़ी है जिसने 2007 टी20 वर्ल्डकप फाइनल में मिस्बाह उल हक़ का कैच पकड़ कर भारत को पहले टी20 वर्ल्डकप का विजेता बनने में मदद किया था। वो भी चिरप्रतिद्वन्द्वी पाकिस्तान के खिलाफ, जब पाकितान को जीत के लिए सिर्फ 6 रन चाहिए थे। श्रीसंत ने 2008 से 2013 तक आईपीएल में खेला है। और 44 मैचों में 40 विकेट आने नाम किये हैं। वर्तमान में विजय हज़ारे ट्रॉफी में केरल की तरफ से खेलते हुए 5 विकेट अपने नाम किए और उत्तर प्रदेश को हराने में मुख्य भूमिका निभाई। साथ ही आलोचकों को करारा जवाब भी दे दिया कि शेर अभी थका नहीं है।