These players have become a burden on Team India, but Rohit Sharma cannot be dropped from the playing eleven even if he wants to.

रोहित शर्मा (Rohit Sharma): भारतीय टीम अभी इंग्लैंड के साथ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेल रही है। दोनों टीमों के बीच सीरीज का पहला मुकाबला हैदराबाद के मैदान पर 25 जनवरी से खेला जा रहा है। इंग्लैंड के खिलाफ खेले जा रहे हैं 5 टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले दो मुकाबले से टीम इंडिया के दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहली (Virat Kohli) ने अपना नाम वापस ले लिया है।

जिसके चलते टीम इंडिया को बड़ा झटका लगा है। वहीं, इंग्लैंड के खिलाफ खेले जा रहे है। पहले टेस्ट मुकाबले में टीम इंडिया का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। जबकि टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में खेल रहे एक युवा बल्लेबाज भारतीय टीम पर बोझ बनता जा रहा है। लेकिन इसके बावजूद भी कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) इस खिलाड़ी को प्लेइंग इलेवन से बाहर नहीं कर पा रहे हैं।

Advertisment
Advertisment

यह खिलाड़ी बना टीम पर बोझ

टीम इंडिया पर बोझ बन गया हैं ये खिलाड़ी, लेकिन चाहकर भी प्लेइंग इलेवन से बाहर नहीं कर सकते रोहित शर्मा 1

इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मुकाबले में भारतीय टीम की प्लेइंग इलेवन में युवा बल्लेबाज शुभमन गिल (Shubman Gill) को भी मौका दिया गया है। जो की लगातार टेस्ट फॉर्मेट में फ्लॉप साबित हो रहे हैं। पहले टेस्ट मैच की पहली बारी में शुभमन गिल मात्र 23 रन बना सके थे। जबकि दूसरी पारी में जब टीम को उनकी जरूरत थी।

तब वह बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए। इसके बाद अब शुभमन गिल को टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन से बाहर किया जा सकता है। जबकि फैंस का भी मानना है कि शुभमन गिल को टेस्ट फॉरमैट से बाहर किया जाए। लेकिन इसके बावजूद भी रोहित शर्मा (Rohit Sharma) मजबूरन इस खिलाड़ी को लगातार मौका देते जा रहे हैं।

इस वजह से मिल रहा है गिल को मौका

बता दें कि, स्टार बल्लेबाज शुभमन गिल को इंग्लैंड के खिलाफ खेले जा रहे टेस्ट सीरीज में इसलिए मौका दिया जा रहा है। क्योंकि, गिल ने पिछले कुछ सालों से बेहतरीन प्रदर्शन किया है और उन्हें भारतीय टीम का भविष्य भी माना जाता है।

Advertisment
Advertisment

जिसके चलते बीसीसीआई और रोहित शर्मा इस खिलाड़ी को लगातार टीम इंडिया की प्लेइंग 11 में मौका देते जा रहे हैं। गिल का वनडे और T20 में बेहतरीन प्रदर्शन अब तक रहा है। जबकि टेस्ट मुकाबलों में भी उन्होंने कुछ बेहतरीन पारियां खेली है। लेकिन पिछले 11 पारियों में उनके बल्ले से टेस्ट मैचों में रन नहीं बने हैं।

Also Read: वेस्टइंडीज के खिलाफ हार से टूटा ऑस्ट्रेलिया का WTC फाइनल पहुंचने का सपना, अब भारत के साथ इस टीम की होगी खिताबी जंग